नकल घोटाला: भारत सरकार CSIR द्वारा आयोजित SO व ASO पद की ऑनलाइन परीक्षा केन्द्रो में दून पुलिस की छापेमारी…परीक्षा केन्द्रों में नकल करा रहे गिरोह के 04 सदस्य गिरफ्तार,02 अभियुक्त फ़रार,तलाश जारी..गिरफ्तार अभियुक्त अंकित के खिलाफ दिल्ली क्राइम ब्रांच में भी मुकदमा दर्ज..परीक्षा केंद्रों से नकल में प्रयोग इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद..

मुजफ्फरनगर व हरियाणा बेस गिरफ्तार नकल गिरोह से कई महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई है,जिसके आधार पर आगे की तफ्तीश जारी हैं: SSP दून

दर्ज  अभियोग जिसमें दिल्ली पुलिस कर रही थी अभियुक्त को तलाश..  

दोनों परीक्षा केंद्रों से पुलिस द्वारा नकल में प्रयोग किये जा रहे उपकरणों को लिया कब्जे में..

  देहरादून: भारत सरकार के  विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अंतर्गत CSIR द्वारा आयोजित SO व ASO पद की ऑनलाइन परीक्षा में नकल गिरोह का पर्दाफाश होने के बाद, दून पुलिस ने देहरादून के राजपुर और डोईवाला स्थित परीक्षा केंद्रों में गोपनीय तरीके से छापेमारी की कार्रवाई की.इस दौरान नकल करने वाले दिल्ली,हरियाणा व मुजफ्फरनगर गिरोह के 04 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया हैं.हालांकि अभी गैंग के 02 अभियुक्त अभी फरार चल रहे हैं, जिनकी तलाश जारी है.. वही छापेमारी के दौरान पुलिस ने परीक्षा केंद्रों में नकल करने वाले इलैक्ट्रानिक उपकरणों वाले साक्ष्यों को भी अपने कब्जे में लिया है..देहरादून एसएसपी अजय सिंह के अनुसार गिरफ्तार नकल माफियाओं से पूछताछ में पुलिस को कई अन्य तरह के महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त हुई है,जिनके आधार पर पूरे नेटवर्क की कुंडली खंगाल इस सम्बंध में तफ्तीश और धरपकड़ जारी है.

बाईट-अजय सिंह,SSP, देहरादून..

बता दें कि SSP देहरादून अजय सिंह को गोपनीय माध्यमों से प्राप्त जानकारी के आधार पर दून पुलिस द्वारा दिनांक 08 फरवरी 2024 को विज्ञान एंव प्रोद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार के अन्तर्गत सी.एस.आई.आर. द्वारा ए.एस.ओ. तथा एस.ओ. के पद के लिए राजपुर व डोईवाला क्षेत्र के दो  अलग-अलग परीक्षा केन्द्रों में छापेमारी की कार्यवाही की गई.  पुलिस टीम को दोनों परीक्षा केंद्रों में मुख्य लैब के सर्वर रूम से अलग कमरे में चोरी से जोडी गई लीज लाइनें मिली,जिन्हें नकल माफियाओं द्वारा संस्थान के संचालको से मिलीभगत कर परीक्षा से पूर्व ही अभ्यर्थियों को ऑनलाइन नकल कराने के लिये जोडा गया था. उक्त लीज लाइनों के माध्यम से नकल माफियाओं द्वारा आन लाइन परीक्षा का एक्सेस प्राप्त कर परीक्षा के प्रश्नों को साल्व कर उनके उत्तर परीक्षार्थियों को उपलब्ध कराये जा रहे थे..ऐसे में दोनों परीक्षा केंद्रों से  अभ्यर्थियों को नकल करा रहे 04 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया.इसके अतिरिक्त गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ में 02 अन्य अभियुक्तों के नाम भी प्रकाश में आये है,जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे है…वही इस सम्बंध में थाना राजपुर पर उपनिरीक्षक शोएब अली द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर धारा 419, 420, 120 बी IPC व 66 डी आई0टी0 एक्ट व कोतवाली डोईवाला पर वरिष्ठ उपनिरीक्षक दीपक रावत द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर धारा 420, 120बी IPC का मुकदमा पंजीकृत किया गया है..

यह भी पढ़ें 👉  आपराधियों पर शिकंजा कसने का 2 माह का विशेष अभियान:791 गिरफ्तारी,60 की कुर्की,52 गैंगस्टर की संपत्ति रिपोर्ट,215 की संपत्ति पर अधिग्रहण कार्रवाई प्रचलित..

कम्प्यूटर सिस्टम को हैक कर परीक्षार्थियों को रिमोट एक्सेस से  नकल कराई जाती है..

पुलिस के अनुसार गिरफ्तार अभियुक्त अंकित धीमान ने पूछताछ में बताया कि मोहित और दीपक द्वारा उक्त सेंटर को चलाया जाता हैं.जिनके द्वारा ही परीक्षार्थियों से पैसा लेकर सिस्टम को हैक कर किसी अन्य व्यक्ति से पेपर को साल्व कराया जाता हैं. इस काम के लिए उनके द्वारा कम्प्यूटर को हैक करने के लिये एनी डेस्क एप्प व अन्य एप्प का प्रयोग किया जाता है. इन सबके लिये उनके द्वारा परीक्षा केन्द्र के सर्वर रूम से एक Lane केबल के माध्यम से लैपटाप अथवा सिस्टम को जोडा जाता है.और उक्त लैपटाप या सिस्टम के माध्यम से अलग-अलग व्यक्तियों (साल्वर) को बुलाकर पेपर रिमोट एक्सेस के माध्यम से साल्व कराये जाते हैं..वही  परीक्षा के लिये परीक्षार्थियों से सम्पर्क करने की जिम्मेदारी दीपक की होती है.दीपक ही परीक्षार्थियों से सम्पर्क कर उन्हें परीक्षा केन्द्रों के सम्बन्ध में अवगत कराता है.इसके बाद परीक्षा के दौरान कम्प्यूटरों को हैक करने और परिक्षार्थियों से पैसे लेने की पूर्ण जिम्मेदारी मोहित की होती है.वही काम होने के बाद दीपक और मोहित हमें हमारे हिस्से के पैसे दे देते हैं. एक दिन पूर्व ही उनके द्वारा एक महिला परीक्षार्थी का पेपर साल्व करवाया गया था. आज भी 02 अन्य परीक्षार्थियों के पेपर साल्व कराये जाने थे पर मोहित के ना आने के कारण वे उस काम को नहीं कर पाये..

यह भी पढ़ें 👉  STF का शिकंजा जारी:UKSSSC भर्ती परीक्षा धांधली में कानपुर से हुई 57वीं गिरप्तारी.लखनऊ में नकल माफ़िया से पेपर लीक की कॉपी लेकर 10 लाख में बेचा.

 गिरफ्तार नकल माफियाओं से कई अन्य तरह की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई है,जिसके आधार पर आगे की कार्यवाही जारी हैं: SSP 

देहरादून एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि दोनों परीक्षा केंद्रों से पुलिस टीम ने नकल के लिए प्रयोग किये जा रहे सीपीयू,लैपटाॅप, माॅनिटर व अन्य इलैक्ट्रानिक साक्ष्यों को अपने कब्जे में लिया हैं.. इसके साथ ही गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ में पुलिस को कई अन्य तरह की महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त हुई है,जिनके सम्बंध में आगे तफ्तीश जारी है..

यह भी पढ़ें 👉  नशा मुक्ति केंद्र में युवक की संदिग्ध परिस्थितियों हुई मौत.. परिजनों के गंभीर आरोप, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी..

नोट: अभियुक्त अंकित धीमान के विरूद्ध दिल्ली के क्राइम ब्रान्च थाने में इसी प्रकार परिक्षाओं में नकल कराने के सम्बन्ध में मु0अ0सं0: 103/22 धारा: 419, 420, 120 बी भादवि तथा 66 आईटी एक्ट का अभियोग पंजीकृत है, जिसमें दिल्ली पुलिस अभियुक्त की तलाश कर रही है…

 गिरफ्तार अभियुक्तः-

1-  सन्दीप पुत्र बृजवीर सिंह, निवासी ग्राम सोहजनी, थाना जानसठ, जिला मुजफ्फरनगर, उत्तरप्रदेश।(राजपुर पुलिस द्वारा)

2-  अंकित धीमान पुत्र ओमप्रकाश, निवासी जीवना, थाना मन्सूरपुर, जिला मुजफ्फरनगर, उत्तरप्रदेश, हाल पता-लेन न0-2, सिद्वपुरम कालोनी, हर्रावाला, डोईवाला,देहरादून।(राजपुर पुलिस द्वारा)

3-  आशीष बहुगुणा पुत्र नत्थीलाल बहुगुणा, निवासी पामसिटी, पटेलनगर, देहरादून(डोईवाला पुलिस द्वारा)

4-  अर्जुन उर्फ मोनू पुत्र जगराज  निवासी ग्राम भवार, सोनीपत, हरियाणा(डोईवाला पुलिस द्वारा)

फ़रार वांछित अभियुक्तः-

1- मोहित

2- दीपक

बरामदगी:

01: 02 सीपीयू – डेल कम्पनी

02: 01 लैपटाॅप – एचपी कम्पनी

03: केबल लाइन

04: डी0जे0 केबल

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें