उत्तराखंड में “बकरीद” पर्व पर  चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था को लेकर DGP के सख़्त निर्देश, असामाजिक तत्वों पर पैनी नजर, प्रेम-भाईचारे व सद्भावना के साथ मनाई जाए ईद:DGP

देहरादून: देशभर के साथ-साथ उत्तराखंड में भी “ईद-उल-जूहा”(बकरीद) पर्व को लेकर जहां एक तरफ मुस्लिम समुदाय में हर्षोल्लास हैं.वहीं दूसरी ओर ईद के त्यौहार को भाईचारे एवं शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराए जाने के लिए पुलिस विभाग ने प्रदेश भर में सुरक्षा व्यवस्था के चाक-चबंद प्रबंध किए हैं. इस महत्वपूर्ण विषय को लेकर बुद्ववार 28 जून 2023 को उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य के सभी 13 जनपद पुलिस प्रभारियों एवं संबंधित आलाधिकारियों के साथ बकरीद त्योहार के दृष्टिगत पुलिस व्यवस्था एवं सुरक्षा प्रबंधों के संबंध में बैठक की. उन्होंने कहा कि आपसी प्रेम-भाव एवं भाईचारे के बीच सौहार्द पूर्ण माहौल में ईद के त्यौहार को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराया जाए यही पुलिस की जिम्मेदारी है.उन्होंने साफ किया कि धार्मिक सौहार्द को बिगाड़ अराजकता फैलाने वाले तत्वों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. तत्काल ही ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी.

यह भी पढ़ें 👉  नकल घोटाला: भारत सरकार CSIR द्वारा आयोजित SO व ASO पद की ऑनलाइन परीक्षा केन्द्रो में दून पुलिस की छापेमारी…परीक्षा केन्द्रों में नकल करा रहे गिरोह के 04 सदस्य गिरफ्तार,02 अभियुक्त फ़रार,तलाश जारी..गिरफ्तार अभियुक्त अंकित के खिलाफ दिल्ली क्राइम ब्रांच में भी मुकदमा दर्ज..परीक्षा केंद्रों से नकल में प्रयोग इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद..

 ईद-उल-जूहा (बकरीद) पर्व पर पुलिस व्यवस्था एवं सुरक्षा प्रबन्धों के सम्बन्ध में DGP अशोक कुमार के आवश्यक दिशा-निर्देश दिए-

1. ईद-उल-जूहा पर्व को देखते हुए सभी जनपद प्रभारी सुपर एलर्ट मोड पर रहें और सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये जाएं। सर्तकता बरतें, पैट्रलिंग बढ़ाएं और फोर्स डिप्लॉयमेंट अच्छा हो.

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून जनपद में नए एसएसपी के आगमन उपरांत पहला प्रशासनिक फेरबदल शीघ्र...थाना चौकी से लेकर अन्य अधिकारियों में फेरबदल की तैयारी !.

2.  उच्च न्यायालय के निर्देशों का अनुपालन कराते हुए सुनिश्चित करा लें कि सामुहिक कुर्बानी स्लॉटर हाउस में एवं पूर्व निर्धारित स्थानों पर हों.

3. नमाज ईदगाहों या अन्य निर्धारित स्थानों पर ही अता की जाए.

4. असामाजिक तत्वों पर पैनी नजर रखें और संवेदनशील स्थानों का दौरा करें.

5. शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए सभी जनपदों में थानाध्यक्ष, सीओ, एसडीएम, एसएसपी एवं जिलाधिकारी स्तर पर शांति समिति की गोष्ठी करा ली जाए.

यह भी पढ़ें 👉  प्रेमनगर क्षेत्र में नवविवाहिता की हत्या मामले में आरोपी पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा ज़ेल..ससुराल पक्ष पर दहेज़ हत्या का मुक़दमा दर्ज..

6. त्यौहार रजिस्टर का अध्ययन कर बीते वर्षों के सभी विवाद व मुकदमों की वर्तमान स्थिति को देखा जाए और उनका उचित समाधान कराया जाए.

7. सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्मों पर कड़ी नजर रखने के साथ ही भ्रामक/आपत्तिजनक पोस्ट करने वालों व किसी तरह की अफवाह फैलाने वालों के विरुद्ध तत्काल कठोर कार्यवाही की जाए। भ्रामक सूचनाओं व अफवाहों का तत्काल खंडन भी किया जाए.

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें