ड्रग्स फ्री देवभूमि के पथ पर दून पुलिस,रायपुर पुलिस ने सपेरा बस्ती में छापेमारी कर सरपंच और उसकी पत्नी को लाखों के गाँजे के साथ किया गिरफ्तार..

देहरादून: देवभूमि उत्तराखंड को वर्ष 2025 तक ड्रग्स फ्री बनाने के अभियान के तहत देहरादून पुलिस लगातार युद्धस्तर पर नशा तस्करों की धरपकड़ में जुटी है. इसी क्रम में रायपुर पुलिस ने बुद्धवार सपेरा बस्ती में छापेमारी कर सरपंच और उसकी पत्नी को 7 किलो 600 ग्राम गांजा बरामद कर गिरफ्तार किया है. बरामद गाँजे की क़ीमत 02 लाख से अधिक आंकी गई हैं.रायपुर पुलिस के अनुसार इससे पूर्व में एक अफीम तस्कर के गिरफ्तारी के बाद इस गिरोह के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी मिली थी. यही कारण रहा कि सपेरा बस्ती के इस नेटवर्क को ध्वस्त किया.

नशा तस्करों को बख्शा नहीं जाएगा: थाना रायपुर प्रभारी

रायपुर थानाध्यक्ष  कुंदन राम के अनुसार थाना क्षेत्र अंतर्गत स्थित सपेरा बस्ती में नशे के व्यापार में लिप्त व्यक्तियों के विरुद्ध अभियान चलाकर उनका सत्यापन करने एवं उनके विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई करने के लिए चार टीमें गठित की गई हैं.ऐसे में गठित पुलिस टीम द्वारा बुद्धवार (17 मई 2023)प्रातः कार्यवाही करते हुए सपेरा बस्ती में रहने वाले सभी व्यक्तियों की जानकारी प्राप्त की गई.इस दौरान  प्राप्त जानकरी के आधार पर पुलिस टीम द्वारा एक साथ सपेरा बस्ती में नशे के व्यापार में लिप्त व्यक्तियो का सत्यापन व उनके विरुद्ध कार्यवाही हेतु दबिश दी गई. पुलिस की दबिश से संपूर्ण सपेरा बस्ती में हड़कंप मच गया.  पुलिस टीम द्वारा कार्यवाही के दौरान सपेरा बस्ती के सरपंच विजय नाथ पुत्र जगदीश नाथ व  उनकी पत्नी विनीता नाथ निवासी सपेरा बस्ती निकट शांति विहार पुलिया रायपुर रोड को  07 किलो 600 ग्राम गांजे के साथ गिरफ्तार किया गया. बरामद गाँजे की कीमत  अंतरराष्ट्रीय मार्केट में 2,00000/- ₹ से अधिक आंकी गई है.  दोनों दंपतियों के विरुद्ध थाना रायपुर पर धारा- 8/20 एनडीपीएस के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया गया.  रायपुर पुलिस के अनुसार 13.5. 23 को 50 ग्राम अफीम के साथ अभियुक्त विनोद सिंह भंडारी को गिरफ्तार किया था. जिससे पूछताछ से सपेरा बस्ती में नशे के व्यापार संबंधित काफी महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त हुई थी.यही कारण रहा कि  आज की कार्यवाही में पुलिस को इस केस में काफी सहायता प्राप्त हुई.

यह भी पढ़ें 👉  बलात्कार के दोषी को 10 साल की सजा..

सरपंच होने के नाते कोई शक नहीं करता था

पूछताछ में विजय नाथ द्वारा बताया गया कि वह पिकअप चलाता है.  उसके 4 बच्चे हैं. वह अपनी पत्नी पत्नी विनीता नाथ के साथ मिलकर नशे का व्यापार कर रहा है. इसके लिए वह पहाड़ी जनपदों व बरेली,  मुरादाबाद आदि स्थानों से गांजा व अन्य नशे का सामान मंगवाते हैं. और फिर छोटी छोटी मात्रा में उसे बेचते है. गाँजे से काफी अच्छी कमाई हो जाती है. सरपंच होने के नाते उन पर कोई शक नहीं करता. इसीलिए आज तक वे दोनों पकड़े नहीं गये.पुलिस गिरफ्तार पति-पति से से महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त कर उनसे जुड़े नेटवर्क को खंगालने में जुटी है.

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड STF का एक बड़ा धमाका..अब अंडरवर्ड डॉन छोटा राजन के करीबी शूटर को किया भारत–नेपाल बॉर्डर से किया गिरफ्तार.. मुंबई के खोजी पत्रकार जे डे की हत्या का सजायाफ्ता गिरफ्तार अभियुक्त ..

नाम-पता अभियुक्त

1- विजय नाथ पुत्र जगदीश नाथ उम्र  45 वर्ष,सरपंच सपेरा बस्ती

2-विनीता नाथ विनीता नाथ पत्नी विजय नाथ 40 वर्ष.

निवासी गण सपेरा बस्ती निकट शांति विहार पुलिया रायपुर रोड.

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग: 4600ग्रेड पे मुद्दे पर DGP से पुलिस परिजनो ने की मुलाकात. CM की घोषणा के बाद अभी तक जारी नही हुआ शासनादेश. *जानिए अब क्या मिला आश्वासन.*

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें