वसंत विहार डकैती-लूट प्रकरण में एक और अभियुक्त को दून पुलिस ने किया गिरफ्तार..लूट की योजना विफल होने की सूरत में बदमाशों के बैकअप प्लॉन में शामिल था गिरफ्तार अभियुक्त..

योजना में विफल होने की सूरत में अन्य अभियुक्तों को मौके से बाहर निकलने के लिए गाड़ी लेकर पूर्व निर्धारित स्थान पर रुका था गिरफ्तार अभियुक्त..

लूट की योजना में मुख्य अभियुक्त शुभम के साथ शामिल था गिरफ्तार अभियुक्त, योजना में विफल होने की सूरत में अभियुक्तों द्वारा बनाया गया था बैकअप प्लॉन..

पूर्व में गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ में अभियुक्त का नाम आया था प्रकाश में..

देहरादून: थाना बसंत विहार के अंतर्गत अनुराग चौक के समीप बीते दिनों एक फ्लैट में दिनदहाड़े हथियारबंद बदमाशों द्वारा लूटपाट और डकैती की घटना में दून पुलिस ने एक और अभियुक्त गिरफ्तार किया हैं.. शिमला बायपास रोड के समीप गोरखपुर और तेलपुर चौक के बीच घेराबंदी कर अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया. गिरफ्त आया अभियुक्त महादीप उर्फ मोनू मूल रूप से थाना चितौली हातिशपुर का रहने वाला हैं..पुलिस की जांच अनुसार लूट की योजना विफल होने की सूरत में हथियारबंद बदमाशों को मौके से बाहर निकालने के लिए गाड़ी लेकर पूर्व निर्धारित स्थान पर रुका था गिरफ्तार अभियुक्त महादीप उर्फ मोनू. बता दें कि अब तक इस डकैती की घटना में 02 मुख्य अभियुक्त सहित चार लोग गिरफ्तार हो चुके हैं.. हालांकि अभी इस केस में 25-25 हजार के 02 वांटेड इनामी अभियुक्त शुभम त्यागी और विपिन उर्फ रावण फरार चल रहे हैं.जिनको पुलिस लगातार तलाश कर रही हैं..

यह भी पढ़ें 👉  SSP हरिद्वार के सख़्त एक्शन से मचा हड़कंप,औचक निरीक्षण में अनुपस्थित पाए गए 25 पुलिस कर्मियों का वेतन रोकने का आदेश.."काम नहीं तो दाम नहीं": SSP

बैकअप प्लान के लिए गिरफ्तार अभियुक्त मोनू को मिले 27 हजार.

पुलिस के अनुसार गिरफ्तार  अभियुक्त महादीप उर्फ मोनू ने पूछताछ में बताया कि प्रापर्टी डीलिंग के काम के दौरान शुभम त्यागी से उसकी मुलाकात हुई थी. दोनों के मध्य अच्छी जान पहचान हो गई थी. शुभम त्यागी द्वारा उसे अपने रिश्तेदार विकास त्यागी,जो अनुराग चौक के पास पर्ल हाइट सोसाइटी में रहता है.और दुबई में एक्सपोर्ट इंपोर्ट का कारोबार करता हैं, उसके बारे में जानकारी देते हुए बताया कि उसके पास काफी पैसा हैं. ऐसे में यदि उसके यहां लूट की घटना को अंजाम दिया जाये तो काफी माल मिल सकता है.योजना के मुताबिक शुभम द्वारा इस काम में ओमवीर सिंह,विपिन उर्फ रावण और उसके अन्य साथियों को इस काम शामिल किया गया था.इसके  साथ ही एक बैकअप प्लान भी तैयार करते हुए घटना के दिन महादीप को प्रेमनगर क्षेत्र में गाडी के साथ तैयारी की हालत में रहने को कहा गया था.ताकि लूट की योजना में विफल होने की दशा में महादीप उक्त वाहन से अन्य अभियुक्तों को समय रहते मौके से निकाल सकें. घटना को अजांम देने के बाद अभियुक्त शुभम त्यागी द्वारा महादीप को योजना में सफल होने की जानकारी दी गई.फिर अपनी पत्नी के बैंक खाते से अभियुक्त महादीप के खाते में 27 हजार रूपये भेजते हुए बाकी का हिस्सा बाद में देने की बात कही गयी थी. 

यह भी पढ़ें 👉  गैंगस्टर अमरदीप चौधरी हत्याकांड का हरिद्वार पुलिस ने कुछ ही घंटों में किया खुलासा.. असला सहित मेरठ के तीन बदमाश गिरफ्तार

गिरफ्तार अभियुक्त :-

महादीप उर्फ मोनू पुत्र स्व0 श्री सतीश सिंह निवासी हाल पता राहुल का मकान राघव बिहार प्रेमनगर देहरादून मूल पता ग्राम चितौली थाना हातिशपुर, उम्र 37 वर्ष

यह भी पढ़ें 👉  कुख्यात गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के नाम से हॉस्पिटल मालिक से फिरौती मांगने वाला दिल्ली से गिरफ्तार..सऊदी अरब और पाकिस्तान के फोन नंबर से मिली थी जान की धमकी...

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें