सीनियर सिटीजन की सुरक्षा दृष्टिगत मुख्यालय स्तर पर होगी अब मासिक समीक्षा,DGP अशोक कुमार ने प्रदेश में निवासरत वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा पुख़्ता करने की दिशा में सभी जनपद SSP/SP को इन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर दिए दिशा-निर्देश..

घरों के आस-पास CCTV कैमरे लगाने के आदेश,पुलिस एप्प के इमरजेंसी बटन का दिया जाएगा प्रशिक्षण..

देहरादून: सीनियर सिटीजन की सुरक्षा को पुख्ता करने के दृष्टिगत अब पुलिस मुख्यालय स्तर पर हर माह समीक्षा बैठक की जाएंगी. इतना ही नहीं वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा को निगरानी में रखने के लिए उनके घरों के आसपास सीसीटीवी कैमरा लगाने के निर्देश भी पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार द्वारा जनपद पुलिस को दिए गए हैं.वही पुलिस ऐप में इमरजेंसी बटन का भी सीनियर सिटीजन को प्रशिक्षण होने दिया जाएगा.ताकि किसी भी आपातकाल के समय रहते पुलिस की मदद उनको तत्काल दी जा सके. थाना प्रेम नगर क्षेत्र पिछले दिनों विंग नंबर 1 में 77 वर्षीय वृद्ध महिला मनजीत कौर की हत्या के मध्यनजर सीनियर सिटीजन की सुरक्षा को बेहतर करने की दिशा में पुलिस मुख्यालय स्तर पर संज्ञान लिया गया है.इस मामले में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने प्रदेश में अकेले निवासरत वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा के दृष्टिगत सोमवार संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की.समीक्षा के दौरान DGP द्वारा स्थानीय पुलिस को प्रत्येक माह सीनियर सिटीजन के घरों पर भ्रमण कर उनकी कुशलता पूछने एवं माह में 02 बार दूरभाष/ मोबाइल के माध्यम से उनसे सम्पर्क करने के निर्देश दिए हैं. इतना ही नहीं स्थानीय पुलिस को भ्रमण के दौरान सीनियर सिटीजन को उत्तराखण्ड पुलिस एप एवं इमरजेंसी बटन (एस.ओ.एस) की जानकारी दिये जाने के भी दिशा निर्देश दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें 👉  फ़र्ज़ी रजिस्ट्री घोटाला: एडवोकेट देवराज तिवारी की जमानत याचिका खारिज़..इटली में बेटी की शादी के लिए मांगी गई थी अल्पावधि /अंतरिम जमानत 

सीनियर सिटीजन सुरक्षा के संबंध में पुलिस महानिदेशक द्वारा सभी जनपद पुलिस को इन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर दिए गए दिशा निर्देश..

1-सीनियर सिटीजन के सुरक्षा हेतु थाना स्तर पर महिला हेल्प डेस्क प्रभारी को नोडल अधिकारी बनाया जाएगा. जनपद स्तर पर पुलिस उपाधीक्षक (महिला सेल) को सीनियर सिटीजन सेल का नोडल अधिकारी नामित किया गया.

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी ख़बर: मुख्यमंत्री धामी की सख्ती..वनाग्नि में लापरवाही बरतने वाले 17 अधिकारी-कर्मचारी निलंबित व कार्यवाही के दायरे में…

2-अकेले रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा को बेहतर बनाने के उद्देश्य से आस-पड़ोस के सामजिक कार्यकर्ताओं को सीनियर सिटीजन की मदद के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा.जबकि आस-पड़ोस के सामाजिक कार्यकर्ताओं से सम्पर्क कर सीनियर सिटीजन की सहायता किये जाने के निर्देश दिए गये.

3-घरों पर अकेले रहने वाले सीनियर सिटीजन की सुरक्षा हेतु स्थानीय पुलिस को मोहल्ला समिति एवं सी0एस0आर0  की मदद से सीसीटीवी कैमेरे स्थापित करने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए गए.

4-वर्तमान में प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में 1067 सीनियर सिटीजन का चिन्हीकरण एवं 2398 वरिष्ठ नागरिकों के द्वारा उत्तराखण्ड पुलिस एप में रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है.ऐसे में समस्त जनपद प्रभारियों को वरिष्ठ नागरिकों का चिन्हीकरण करते हुए नई अद्यतन सूची बनाने के निर्देश दिए गये.

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग: हरिद्वार में केमिकल फैक्ट्री में लगी भीषण आग.फायर ब्रिगेड मौके पर कड़ी मशक्कत के बाद आग पर पाया काबू..देखिये वीडियो

5-सीनियर सिटीजन की सुरक्षा से सम्बन्धित समस्त बिन्दुओं को सम्मिलित करते हुए विस्तृत फॉर्मेट बनाया जायेगा. उपरोक्त फार्मेट के आधार पर सम्पत्ति या अन्य किसी विवाद के होने पर सम्बन्धित सीनियर सिटीजन की कॉउंसलिग कर सहायता की जायेगी.

6-अकेले रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा के लिए पुलिस मुख्यालय स्तर पर अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड महोदय  द्वारा प्रत्येक माह समीक्षा की जाएगी. 

7-सीनियर सिटीजन के सुरक्षा को लेकर किसी भी स्तर पर लापरवाही होने पर सम्बन्धित के विरूद्ध सख्त कार्यवाही अमल मे लायी जाएगी

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें