शाबाश: पिता-पुत्रो की जोड़ी ने कर दिया कमाल । 12 किलोमीटर लगातार तैरकर,टिहरी झील को किया पार। ये बनाया रिकॉर्ड…….

टिहरी..

कुछ कर गुजरने का जज़्बा अगर दिल मे हो तो इंसान के लिए कोई चुनोती बड़ी नही होती।बस जरूरत होती है आत्मविश्वास की ।अपनी प्रतिभा दिखाकर इस पिता पुत्रों की जोड़ी ने कमाल कर दिया। मामला टिहरी जिले का है जहां परमोटणा गांव निवासी त्रिलोक सिंह रावत और उनके दो पुत्रों ने टिहरी झील में सवा 12 किलोमीटर तैर कर इतिहास रच दिया। दोनों पुत्रों ने जहां यह दूरी साढ़े तीन घंटे, वहीं पिता ने सवा चार घंटे में इसे तय किया। किसी भी व्यक्ति ने पहली बार टिहरी झील में तैर कर इतनी दूरी तय की है। इसके लिए बाकायदा जिला प्रशासन से अनुमति ली गई थी।
टिहरी झील किनारे कोटी कालोनी में गुरुवार सुबह आइटीबीपी की टीम की निगरानी में मोटणा गांव निवासी त्रिलोक सिंह रावत (49) और उनके बेटे ऋषभ (18) और पारसवीर (15) ने तैरकर अपनी यात्रा शुरू की। त्रिलोक सिंह रावत और उनके बेटों ने भल्डियाणा तक सवा 12 किलोमीटर दूरी तैरकर तय की। त्रिलोक सिंह रावत सवा चार घंटे में पहुंचे तो उनके बेटे ऋषभ और पारसवीर साढ़े तीन घंटे में भल्डियाणा तक पहुंचे।
टिहरी झील 42 वर्ग किमी में फैली है और लगभग 260 मीटर गहरी है।
मोटणा गांव निवासी त्रिलोक रावत ने बताया कि वह बचपन से ही नदी किनारे रहे हैं। ऐसे में तैरना बचपन से ही सीख लिया। उसके बाद उन्होंने टिहरी झील में अपने दोनों बेटों को भी तैरना सिखाया। उनके बेटे ऋषभ 12वीं में और पारसवीर 10वीं में पढ़ता है। त्रिलोक रावत का कहना है अगर सरकार का सहयोग मिला तो वह अपने बच्चों को तैराकी के क्षेत्र में भेजने का भी विचार कर सकते हैं।अब देखना है कि सरकार इसका संज्ञान ले और यह जबरदस्त जोड़ी तैराकी में अपना कैरियर बना सके।

यह भी पढ़ें 👉  अंकिता हत्याकांड: मुख्य आरोपी पुलकित आर्य का पॉलीग्राफ टेस्ट 1 से 3 फरवरी के बीच संभव..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें