आक्रोश: पीएम के दौरे से पहले ,फिर गरमाया देवस्थानम बोर्ड का मुद्दा, गंगोत्री धाम के बाजार व घाटो में सन्नाटा, केदारधाम में bjp नेताओ की नो एंट्री, पूर्व मुख्यमंत्री को भी झेलना पड़ा विरोध…

रुद्रप्रयाग। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ दौरे से ठीक पहले फिर से देवस्थानम बोर्ड का मुद्दा गरमाने लगा है जहां एक और गंगोत्री धाम में आज बाजार बंद रहे घाटों पर पूजा पाठ भी बंद रहे, और केदार धाम में उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को केदारनाथ धाम के तीर्थ पुरोहितों का भारी विरोध झेलना पड़ा । विरोध के बीच मंत्री धन सिंह रावत और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को भी तीर्थ पुरोहितों ने घेर लिया।चारधामों में यात्रा व्यवस्था और प्रबंधन के लिए सरकार की ओर से देवस्थानम बोर्ड का गठन किया गया था, जिसका शुरुआत से ही तीर्थ पुरोहित विरोध कर रहे। बोर्ड को भंग करने की मांग को लेकर महापंचायत ने लंबा आंदोलन भी किया था। अब एक बार फिर तीर्थ पुरोहित मुखर हो गए हैं। उन्होंने पूर्व सीएम त्रिवेंद्र के केदारनाथ पहुंचने पर विरोध किया। उनका कहना है कि त्रिवेंद्र रावत ही देवस्थानम को लाने वाले हैं। चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के विरोध में आज गंगोत्री बाजार बंद रहा। साथ ही तीर्थ पुरोहित भी गंगोत्री मंदिर की नियमित पूजा के अलावा अन्य तीर्थ यात्रियों के आग्रह पर होने वाली पूजा-पाठ नहीं कराएंगे। गंगोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल ने कहा कि देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड को रद करने के बजाय सरकार अब तीर्थ पुरोहितों को भ्रमित कर रही है। हालांकि मुख्यमंत्री द्वारा इस मामले में अंतिम रिपोर्ट आने की बात कही जा रही है,और जल्द समाधान की बात कही है । . अगर ऐसे में जल्द कोई निर्णय नही निकलता तो इसका असर प्रधानमंत्री के दौरे पर भी पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  मनी लॉन्ड्रिंग सहित 1250 करोड़ स्कैम गैंग का एक और सदस्य दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार,LOC के माध्यम से STF के हत्थे चढ़ा..
गंगोत्री. बंद पड़े बाज़ार
केदारनाथ.पूर्व मुख्यमंत्री का विरोध

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें