फर्जी इंटरनेशनल कॉल सेंटर का दून पुलिस ने किया पर्दाफ़ाश..03 मुख्य अभियुक्त गिरफ्तार..एक फरार,तलाश जारी..विदेशी नागरिकों को एंटी वायरस तकनीकी सपोर्ट देने के नाम पर कॉल सेंटर के माध्यम से करोडों की ठगी..देखिये वीडियो- कैसे चलता हैं फ़र्जी कॉल सेंटर..

देहरादून– थाना राजपुर क्षेत्र में एक फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफ़ाश करते हुए दून पुलिस ने मौके से तीन मुख्य अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है. हालांकि एक अभियुक्त फरार चल रहा है,जिसकी तलाश जारी है.छापेमारी की इस कार्रवाई में फर्जी कॉल सेंटर से 36 लेपटॉप,चार्जर, 31 हेडफोन, 05 मोबाइल व 02 मॉडेम बरामद किये गए हैं.. राजपुर पुलिस के अनुसार संयुक्त राज्य अमेरिका के नागरिकों को एंटीवायरस तकनीक सपोर्ट देने के नाम पर कॉल सेंटर के माध्यम से करोड़ों रुपए की ठगी की जा रही थी..अभियुक्तों द्वारा कॉल सेंटर के माध्यम से स्वयं को बड़ी विदेशी सॉफ्टवेयर कंपनी का प्रतिनिधि दर्शाकर कंप्यूटर सिस्टम में स्वयं के द्वारा भेजे गए बग/वायरस को ठीक करने के बहाने व एंटी वायरस तकनीकी सपोर्ट के नाम से विदेशों में लोगो से करोड़ो की ऑनलाईन ठगी की जाती थी..

फर्जी कॉल सेंटर में पुलिस कार्रवाई जारी वीडियो

एसएसपी देहरादून को मिली गोपनीय सूचना पर पुलिस ने की कार्रवाई..

पुलिस के अनुसार थाना राजपुर क्षेत्र के दून विहार गली नंबर 3 के पास स्थित डेस्टिनी फिटनेस जिम के फस्ट फ्लोर में अवैध इंटरनेशनल कॉल सेंटर संचालित कर विदेशी लोगों को ठगने की सूचना एसएसपी देहरादून को गोपनीय रूप से प्राप्त हुई थी.ऐसे में एसएसपी द्वारा CO मसूरी और थानाध्यक्ष राजपुर को तत्काल प्रभावी कार्यवाही के लिए निर्देशित कर पुलिस टीम का गठन किया गया.इसी क्रम में जब 01 जुलाई 2024 की रात्रि को राजपुर स्थित कॉल सेन्टर (टेकिनियो बिजनेस सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड) पर दबिश दी गई,तो मौके पर एक बडे हॉल में कुछ युवक/युवतियां लैपटॉप व कम्पयूटर सिस्टम के सामने बैठकर हैडफोन लगाकर फोन कॉल्स पर बात कर रहे थे.इतना ही नहीं ये सभी लोग स्वंय को अंतर्राष्ट्रीय सॉफ्टवेयर कंपनी का प्रतिनिधि बताकर विदेशी लोगों से उनके कम्पयूटर सिस्टम से वायरस/ बग हटाकर उनके बैंक खातों की जानकारी प्राप्त कर रहे थे.ऐसे में पुलिस टीम ने जब मौके पर कॉल सेंटर के लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि,वे सभी लोग सार्थक, शाहरुख,खुशनूर और करुणेश उर्फ करन नाम के व्यक्तियों के लिए काम करते हैं.वही विस्तृत पूछताछ में यह भी पता चला कॉल सेंटर के माध्यम से वे एंटीवायरस तकनीकी सपोर्ट के लिए विदेशी नागरिकों को सपोर्ट देने के नाम पर उनसे गिफ्ट कार्ड का समस्त विवरण लेते हैं,और फिर उनसे करुणेश का साथी जो विदेश में रहता हैं,वह विदेशी नागरिकों के समस्त पैसे जो डॉलर के रूप में होते हैं,उन्हें निकाल लेता हैं.इसके बाद जब विदेशी कस्टमर द्वारा उन्हें कॉल किया जाता हैं तो,वह कस्टमर का फोन नंबर ब्लॉक कर देते हैं.

यह भी पढ़ें 👉  बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार मंसूरी में मौजूद, अपनी आने वाली फिल्म की कर रहे हैं शूटिंग. फैंस और मीडिया से बनाई दूरी. फोटो वायरल..

अल्ट्रा व्यूवर का प्रयोग कर पहले सिस्टम का एक्सेस हैक,और फिर गिफ्ट कार्ड व क्रिप्टो करेंसी पेमेंट के नाम धोखाधडी ..

राजपुर थानाध्यक्ष पी०डी० के अनुसार पुलिस पूछताछ में गिरफ्तार फर्जी कॉल सेंटर संचालक सार्थक,शाहरुख व खुशनूर द्वारा बताया गया कि विदेशी कॉल आने पर वह विदेशी कस्टमर से कंप्यूटर सिस्टम में वायरस होने व हैक होने से संबंधित समस्या के बारे में जानकारी मिलने पर उक्त समस्या को ठीक करने के एवज में उनके सिस्टम में अल्ट्रा व्यूवर का प्रयोग कर सिस्टम की एक्सेस प्राप्त कर लेते हैं.और पूर्व में उन्ही के द्वारा भेजे गए वायरस को ठीक करने की बात कहकर उनसे गिफ्ट कार्ड व क्रिप्टो करेंसी में पेमेंट प्राप्त कर उनके साथ धोखाधडी करते हैं. इस काम के बदले में उन्हें हर माह अच्छा मुनाफा मिल जाता है. पुलिस टीम द्वारा मौके से कॉल सेंटर संचालक सार्थक,शाहरुख व खुशनूर को गिरफ्तार किया गया हैं. वही मौके से धोखाधड़ी में प्रयोग किये जा रहे 36  लैपटॉप मय चार्जर मय हेड फोन,05 मोबाइल फोन,ब्रॉडबैन्ड कनैक्शन से सम्बन्धित उपकरण भी बरामद किये गये.गिरफ्तार अभियुक्तों के विरुद्ध थाना राजपुर पर धारा आई0टी0 एक्ट की अलग-अलग धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया..राजपुर थानाध्यक्ष- पी०डी० भट्ट के अनुसार इस प्रकरण में वांटेड अभियुक्त करूणेश उर्फ करन की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें 👉  मसूरी सौन्दर्यीकरण का कार्य लेटलतीफी से बना सिरदर्द,मुख्य सचिव ने निरक्षण कर 15 दिनों में निर्माण कार्य पूरा करने के दिए सख्त निर्देश.. कार्य पूरा न होने तक मसूरी में ही कैंप करेंगे अधिकारी..

 गिरफ्तार अभियुक्त..

(1)- सार्थक पुत्र सुनील निवासी 910 कालरी जम्मू थाना बलवल जम्मू हाल निवासी 14 कैनल रोड देहरादून उम्र 32 वर्ष..

(2)-  खुशनूर पुत्र कमरुद्दीन निवासी संगम विहार नई दिल्ली उम्र 39 वर्ष..

यह भी पढ़ें 👉  *पंजाब बम ब्लास्ट के आतंकी को, उत्तराखंड में पनाह देने वाले चार आरोपी गिरफ्तार* उत्तराखंड STF ने इस जिले से दबोचे आरोपी.

(3)-  शाहरुख अली पुत्र गुलफाम अली निवासी केदार वाला थाना सहसपुर देहरादून उम्र 29 वर्ष..

वांटेड अभियुक्त

 करुणेश उर्फ करन  

बरामदगी

1- लैपटॉप – 36

2- मोबाइल फोन- 05

3- लैपटॉप चार्जर-36 

4- माउस-36

5- हेडफोन-31

6- मॉडेम-2

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें