देहरादून में भारी बारिश के चलते जगह-जगह जलभराव सहित अव्यवस्थाओं को देख जिलाधिकारी आई एक्शन में,कई स्थानों का निरक्षण कर लापरवाह अधिकारियों को फटकार.. ADM सहित नामित जोनल अधिकारियों की जिम्मेदारी तय..

देहरादून: राजधानी देहरादून में गुरुवार भारी बारिश के चलते जगह-जगह जलभराव होने से शहर की सड़कों और ड्रेनेज नालियों में जलस्तर बढ़ने से आमजन की परेशानी को देखते हुए खुद जिलाधिकारी सोनिका ने धरातल पर उतर जगह-जगह होने वाली समस्याओं का निरीक्षण किया गया. इस दौरान उन्होंने मानसून के दृष्टिगत जनहित अव्यवस्थाओं पर लापरवाही बरतने वाले नगर निगम, पीडब्ल्यूडी एवं Irrigetion सहित संबंधित विभागों के अधिकारियों पर नाराजगी देते हुए दिखाते हुए जमकर फटकार लगाई. इतना ही नहीं डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ने बिना देरी किए नगर निगम सहित संबंधित विभागों को तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए. भारी बारिश के दरमियान जिलाधिकारी सोनिका ने रिस्पना से बंजारावाला, कारगी चैक, जोगीवाला,6 नंबर पुलिया, सहत्रधारा क्रॉसिंग , सर्वे चैक, परेड ग्राउंड, राजपुर रोड, प्रिंस चैक, हरिद्वार रोड का निरीक्षण किया. इस बीच उन्होंने संबंधित अधिकारियों  को कार्य स्थल पर बने रहने के निर्देश दिए.वही बंजारावाला में धीमी कार्य प्रगति पर यूयूएसडीए (उत्तराखंड शहरी क्षेत्र विकास एजेंसी) के अधिकारियों से नाराजगी व्यक्त करते हुए नाराजगी व्यक्त की.जबकि रिस्पना से बंजारावाला जोगीवाला तक उत्तराखंड शहरी क्षेत्र विकास एजेंसी के अधिकारियों को कार्य प्रगति बढाने के निर्देश भी दिए. प्रिंस चैक, सर्वे चैक, सहस्त्रधारा क्रासिंग एवं पर लोनिवि प्रांतीय खण्ड तथा जोगीवाला, 06 नवम्बर पुलिया पर अस्थाई खण्ड लोनिवि के अधिकारियों को कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए.. वहीं दूसरी ओर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि कार्यों की नियमित माॅनिटिरिंग करते हुए कार्य प्रगति में तेजी लाएं. साथ ही स्पष्ट निर्देश दिए निर्माण स्थलों पर सुरक्षा के इंतजाम बनाए ताकि किसी प्रकार की घटना घटित न हो. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि शहर में सड़कों पर जलभराव की स्थिति पर नाराजगी जाहिर करते हुए नगर निगम एवं लोनिवि को प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए.वही इस बीच शहर उन्होंने संबंधित अधिकारियों को कहा कि नालियों के निर्माण एवं नालियां खोले जाने के कार्यों को लेकर यथाशीघ्र कार्रवाई की जाए.DM के इस निरीक्षण के दौरान लोनिवि, यूयूएसडीए सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे.  

यह भी पढ़ें 👉  विजिलेंस का शिकंजा:मुकदमें का भय दिखाकर 50 हजार रिश्वत लेने वाला चकबंदी लेखपाल रंगे हाथ गिरफ्तार..
भारी बारिश के दौरान DM का निरक्षण..

जन-सुरक्षा में 22 स्थानों के लिए 02 सुपर जोनल अधिकारी,जबकि 10 जोनल व 22 सैक्टर अधिकारी नामित:DM

जिलाधिकारी सोनिका ने देहरादून नगर क्षेत्र स्थित सड़क मार्गों को गढ्ढामुक्त रखे जाने, नालियों की कनेक्टिविटी बनाने, सड़क किनारे पड़े मलबे को हटाने, मार्ग के दोनो और स्थापित विद्युत /टेलीफोन के झुलते तारों को सुव्यस्थित करने एवं सम्पूर्ण मार्ग की सफाई के लिए जन-सुरक्षाहित में 22 स्थानों के लिए 02 सुपर जोनल अधिकारी, 10 जोनल एवं 22 सैक्टर अधिकारी नामित किये गए है. डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट द्वारा नामित अधिकारियों को सड़क मार्गो को गढढामुक्त रखे जाने, नालियों की की कनेक्टिविटि बनाने, सड़क किनारे पड़े मलबे को हटाने, मार्ग के दोनो ओर स्थापित विद्युत /टेलीफोन के झुलते तारों को सुव्यवस्थित करने, सम्पूर्ण मार्ग की सफाई व्यवस्था, फुटपाथ को अतिक्रमणमुक्त रखने, सड़क मार्गों के किनारे जर्जर परिसम्पत्तियों  का निरीक्षण एवं तद्नुसार  सम्बन्धित विभागों को उक्त कार्यवाही की सूचना देने आदि दायित्व सौंपे गए है. वही इसके अलावा डीएम सोनिका ने कहा क़ी एनएच,एनएचआई, लोनिवि के सम्बन्धित अभियन्ता मुख्यरूप से सड़कों को गढ्ढामुक्त रखने के लिए समुचित स्टाॅफ/उपकरण आदि की व्यवस्था के प्रति उत्तरदायी रहेंगे.जबकि सेक्टरवार सफाई निरीक्षकों/सुपरवाईजरों की तैनाती नगर आयुक्त, नगर निगम द्वारा अपने स्तर से की जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि नगर निगम गिरासू भवनों के सम्बन्ध में समय आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करे. वही सचिव एमडीडीए को अपने स्तर से सम्बन्धित अभिन्ताओं की तैनाती करने के निर्देश दिए गए.जबकि नामित जोनल एवं सैक्टर अधिकारियों को समन्वय से कार्य करने एवं सौंपे गए दायित्वों को जिम्मेदारी से निर्वहन करेंगे. 

यह भी पढ़ें 👉  जाखन चौकी इंचार्ज लाइन हाजिर, देर रात तक बार खुलने की शिकायत हुई कार्यवाही..

ADM सहित नामित जोनल अधिकारियों की जिम्मेदारी तय

डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट सोनिका ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन एवं अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व को सुपर जोनल अधिकारी नामित करते हुए मुख्य विकास अधिकारी देहरादून को तैनात अधिकारियों से उनके दायित्वों के प्रति नियमित समन्वय बनाये रखने के निर्देश दिए. नामित जोनल अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र की रिपोर्ट आपदा नियंत्रण कक्ष को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे.

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में सरकारी भूमियों से अवैध अतिक्रमण हटाने का कार्य 30 फ़ीसदी पूरा,कार्यवाही में संबंधित विभागों का पुलिस को पूर्ण सहयोग नहीं..मुख्यमंत्री करने जा रहें हैं समीक्षा...

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें