देहरादून में नाबालिग लड़की के अपहरण की सूचना झूठी निकली… नये स्कूल में एडमिशन कराने से नाराज बच्ची ने गढी अपहरण की झूठी कहानी..

जनता में भ्रामकता फैलाने के लिए कुछ लोगों द्वारा सत्यता से परे घटना को सांप्रदायिक रूप देने का किया गया प्रयास..ऐसे लोगों पर जल्द प्रभावी कार्रवाई की जाएगी: SSP दून.

सीसीटीवी फुटेज में घटना की पुष्टि न होने पर कांउसलिंग के दौरान बच्ची ने बताया पूरा सच..

देहरादून: थाना पटेल नगर के अंतर्गत चमन विहार में नाबालिग बच्ची के अपहरण की सूचना पुलिस जांच-पड़ताल में पूरी तरह गलत निकली. दरसल नए स्कूल में एडमिशन होने से नाराज़ बच्ची ने पुराने स्कूल में जाने की जिद से अपने ही अपहरण की सूचना फैलाने का प्रयास किया..लेकिन जब सीसीटीवी फुटेज में घटना की पुष्टि न होने पर कांउसलिंग के दौरान बच्ची ने पूरा सच बताया,तब जाकर पूरे मामलें से झूठ का पर्दा हटा..

देहरादून एसएसपी के अनुसार इस मामलें में कुछेक व्यक्तियों द्वारा बिना सत्यता जाने  सामान्य प्रकरणों को भ्रामक/विवादास्पद बनाकर सांप्रदायिक रूप देते हुए लोगों की धार्मिक भावनाएं भड़काने का प्रयास किया जा रहा है,जिन्हें पुलिस द्वारा चिन्हित किया किया गया है..ऐसे में देहरादून में सामान्य घटनाओं को भ्रामक बनाकर शांति व्यवस्था व सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ने का प्रयास करने वाले सभी चिन्हित लोगों के खिलाफ जल्द ही प्रभावी कार्रवाई की जायेगी..

यह भी पढ़ें 👉  : कई चुनोती ओर बाधाओं को पार कर,उत्तराखंड SDRF ने रचा कीर्तिमान। पहली बार नारी शक्ति के नेतृत्व में, माउंट गंगोत्री पीक किया फतह।

नए वाले स्कूल में मन न लगने पर,पहले वाले स्कूल में दोबारा एडमिशन लेने के चलते बच्ची ने अपहरण की झूठी कहानी गढ़ी..

पुलिस के अनुसार 15 अप्रैल 2024 को कंट्रोल के माध्यम से कोतवाली पटेलनगर को चमन विहार कालोनी में एक नाबालिग लड़की के अपहरण का प्रयास किये जाने की सूचना प्राप्त हुई..सूचना के आधार पर तत्काल क्षेत्राधिकारी सदर और प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर पुलिस बल के मौके पर पहुँचे.घटना के सम्बंध में नाबालिग बालिका से जानकारी करने पर उसके द्वारा बताया गया कि शाम करीब 07 बजे टयूशन से घर आते समय कार सवार 02 व्यक्तियों ने उसे खींचकर जबरदस्ती अपनी कार में बैठा लिया,जहां मौका देखकर वह किसी तरह कार से बाहर निकलकर भागने में सफल रही.. घटना की संवेदनशीलता के दृष्टिगत SSP देहरादून द्वारा CO सदर के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित की गई.लेकिन पुलिस की प्रारम्भिक जांच में ऐसी किसी घटना का होना तस्दीक नही हो पाया.लेकिन इसके बावजूद इस प्रकरण की संवेदनशीलता के दृष्टिगत पुलिस टीम द्वारा जब के बतायेनुसार घटनास्थल व अन्य मार्गो के सीसीटीवी कैमरे चैक किये गये,तो किन्तु किसी भी सीसीटीवी फुटेज में ऐसी किसी घटना का होना नहीं पाया गया.ऐसे में जब लंबी फजीहत के उपरांत उक्त नाबालिग बालिका की काउंसलिंग की गई तो उसके द्वारा बताया गया कि वह पूर्व में ओलम्पस हाईस्कूल में पढ़ती थी,लेकिन इस वर्ष उसके माता-पिता द्वारा उसका एडमिशन दूसरे स्कूल मांउट लिट्रेला जी स्कूल में कराया गया.इसके बाद जब 15 अप्रैल 2024 को वह पहली बार नए वाले स्कूल में गई,लेकिन वहां कोई नया मित्र न होने के कारण उसका स्कूल में मन नही लगा.ऐसे में अपने पुराने स्कूल में दोबारा एडमिशन के लिये उसने अपने परिजनों को स्कूल के पास टयूशन से आते समय 02 व्यक्तियों द्वारा कार से उसका अपहरण करने और मौका पाकर भाग जाने की झूठी कहानी बनाकर सूचना दी.

यह भी पढ़ें 👉  हरिद्वार जनपद से सेवा संपन्न होते हुए भी सुपर कॉप IPS अजय सिंह की रणनीति से माफियाओं के सपने चकनाचूर..गैंगस्टर राजा उर्फ इरफान की सम्पत्ति होगी कुर्क..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें