गर्लफ्रेंड के खर्चे पूरा करने के लिये मुन्नाभाई बना MBBS का छात्र..परीक्षा से पूर्व बायोमैट्रिक के दौरान फिंगरप्रिंट मिलान न होने पर पकड़ा गया ..उत्तराखंड घूमने के दौरान हुई थी डील…

नीट की परीक्षा में किसी अन्य परीक्षार्थी के स्थान पर परीक्षा देने पहुंचा था अभियुक्त..

पकड़ा गया अभियुक्त राजकीय मेडीकल कॉलेज में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का है छात्र..

गर्लफ्रेंड के खर्चे पूरा करने के लिये 02 लाख रू0 में तय की थी परीक्षा पास कराने की डील..

परीक्षा से पूर्व बायोमैट्रिक उपस्थिती के दौरान मिलान न होने पर पकड में आया था अभियुक्त..

देहरादून: गर्लफ्रेंड के खर्चे पूरा करने के लिये मुन्ना भाई बने MBBS  छात्र को परीक्षा से पूर्व बायोमैट्रिक उपस्थिती के दौरान मिलान न होने पर देहरादून पुलिस ने गिरफ्तार किया हैं.पकड़ा गया अभियुक्त देव प्रकाश राजकीय मेडीकल कॉलेज,पाली में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का छात्र हैं.पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला कि गर्लफ्रेंड के खर्चे पूरा करने के लिये 02 लाख रुपये तय डील के अनुसार परीक्षा में पास कराने का आश्वासन देकर अभियुक्त दूसरे छात्र के बदले परीक्षा देने आया था.

यह भी पढ़ें 👉  आक्रोश: कश्मीर में बढ़ते आतंकवाद पर बजरंग दल का दून में प्रदर्शन।पाकिस्तान का पुतला फूंका, बोले घाटी में खत्म हो आतंकवाद।

उत्तराखंड घूमने के दौरान रुद्रपुर निवासी छात्र ने दी अभियुक्त को 02 लाख रुपये लेकर नीट परीक्षा देने का प्रलोभन..

पुलिस पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्त देव प्रकाश पुत्र ओम प्रकाश निवासी: ग्राम गिरधर घोरा,चितलनाना, जिला संचोर, राजस्थान द्वारा बताया गया कि वह वर्तमान में राजकीय मेडीकल कॉलेज पाली में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का छात्र हैं.वर्ष 2022 में उसके द्वारा नीट की परीक्षा पास की गई थी.सितम्बर 2022 में उत्तराखण्ड में ऋषिकेश,हरिद्वार व केदारनाथ घूमने के दौरान उसकी मुलाकात रूद्रपुर निवासी मयंक गौतम से हुई. जिससे बातचीत के दौरान उसके द्वारा बताया गया कि वह नीट की परीक्षा पास करना चाहता था.लेकिन वह पढाई में कमजोर होने के कारण परीक्षा में असफल रहा. इसके पश्चात अभियुक्त सोशल मीडिया के माध्यम से लगातार मयंक गौतम के सम्पर्क में रहा.इधर मयंक गौतम द्वारा अभियुक्त को उसके स्थान पर नीट की परीक्षा पास करने व उसके एवज में 02 लाख रुपये देने का प्रलोभन दिया गया. चूंकि गिरफ्तार अभियुक्त की एक युवती से दोस्ती थी,और वह अपनी पढाई के खर्चो के साथ-साथ गर्लफ्रेंड के खर्चे वहन उठाने में उसे काफी कठिनाई हो रही थी.इसलिये अभियुक्त ने लालच में आकर मयंक गौतम के ऑफर को स्वीकार कर लिया..

यह भी पढ़ें 👉  सेलाकुई थाने में शिकायतकर्ता के साथ मारपीट प्रकरण में जांचोपरांत पुलिस कर्मियों को मिली क्लीन चिट…डॉक्टरों की रिपोर्ट-बयान और सीसीटीवी फुटेजों ने खोली शिकायतकर्ता को पोल..

आधार कार्ड फिंगरप्रिंट से मिलान न होने पर पकड़ा अभियुक्त..

 अभियुक्त देव प्रकाश ने योजना के अनुसार अपनी पासपोर्ट साइज फोटो को फेसबुक के माध्यम से मयंक गौतम को भेजा,जिसे मयंक गौतम ने अपने परीक्षा फार्म में लगाया गया. इसके बाद मयंक ने अभियुक्त को बताया की उसकी नीट परीक्षा का सेंटर देहरादून स्थित गुरू राम राय पब्लिक स्कूल (राजा रोड) में हैं.ऐसे में 05 मई 2024 को अभियुक्त (मुन्नाभाई) मयंक द्वारा भेजे गए प्रवेश पत्र को लेकर परीक्षा केन्द्र में पेपर देने पहुंचा.लेकिन  बायोमैट्रिक मशीन से अभियुक्त के फिंगर प्रिंट का मिलान मयंक गौतम के आधार कार्ड से न होने पर उसे पकड़ लिया गया..

यह भी पढ़ें 👉  गुजरात से आये श्रद्धालुओं का टेम्पो ट्रेवलर गंगोत्री राजमार्ग पर दुर्घटनाग्रस्त..SDRF ने समय रहते किया रेस्क्यू...सभी यात्री सुरक्षित.. 

गिरफ्तार अभियुक्त:-

देव प्रकाश पुत्र ओम प्रकाश निवासी: ग्रा0 गिरधर घोरा, पो0 चितलनाना, जिला संचोर, राजस्थान

परीक्षा नियंत्रक की सतर्कता से पकड़ा गया मुन्नाभाई. 

देहरादून कोतवाली पुलिस के अनुसार 05 मई 2024 को श्री गुरू राम राय पब्लिक स्कूल राजारोड देहरादून पर एमबीबीएस(नीट) की परीक्षा आयोजित की गई थी.इसमें एग्जाम के दौरान परीक्षा नियंत्रक द्वारा परीक्षार्थियों की बायोमैट्रिक उपस्थिती ली गई तो एक परीक्षार्थी के बायोमैट्रिक से मिलान न होने पर जांच के दौरान उक्त व्यक्ति का किसी अन्य परीक्षार्थी के स्थान पर परीक्षा में सम्मिलित होना ज्ञात होने पर उसे पकड़ लिया गया.इसके बाद परीक्षा नियंत्रक अरूण सक्सेना

(एसजीआरआर) स्कूल द्वारा कोतवाली नगर पर शिकायत की गई..शिकायत पत्र के आधार पर अभियुक्त को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कोतवाली नगर में धारा: 419,420,120बी IPC के तहत मुक़दमा पंजीकृत किया गया..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें