उत्तराखंड STF के चक्रव्यूह में बहुचर्चित पुष्पांजलि घोटालें का राज कैद… कंपनी का डायरेक्टर राजपाल वालिया STF की गिरफ्त में.. मास्टरमाइंड अब भी पकड़ से दूर…

विगत कई समय से राजपाल वालिया पुलिस और अन्य एजेंसियों को दे रहा था गच्चा.. गिरफ्तारी से बचने के लिए अजमा रहा था,फ़िल्मी पैंतरे…

देहरादून: फ्लैट-अपार्टमेंट बेचने के नाम पर सैकड़ों निवेशकों के करोड़ों रुपए हड़पने वाले पुष्पांजलि डेवलपर्स के संचालक दीपक मित्तल के राइट हैंड कहे जाने वाले पुष्पांजलि डायरेक्टर राजपाल वालिया को आखिरकार उत्तराखंड एसटीएफ ने नैनीताल से गिरफ्तार कर लिया है. एसटीएफ के शिकंजे में आए राजपाल की गिरफ्तारी को लेकर 25000/- का इनाम घोषित था.

STF के अनुसार अभियुक्त राजपाल वालिया अपनी पत्नी शेफाली वालिया की जमानत के सम्बंध में गुपचुप तरीके से हाई कोर्ट के वकीलों से कानूनी सलाह लेने नैनीताल पहुंचा था.इसी सूचना की भनक लगते ही STF के बिछाए जाल में राजपाल वालिया फंस गया. एसटीएफ की टीम ने 29 सितंबर 2023 की देर रात घेराबंदी कर राजपाल को गिरफ्तार किया.. एसटीएफ SSP आयुष अग्रवाल के मुताबिक कुछ दिन पूर्व ED द्वारा पुष्पांजलि प्रोजेक्ट में धोखाधड़ी के मामले में राजपाल की पत्नी शेफाली को गिरफ्तार का जेल भेजा गया था. ED (एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट) की कार्यवाही के बाद जेल भेजी गई अभियुक्ता शेफाली की जमानत जिला स्तर से खारिज हो गई थी. इसी वजह से राजपाल वालिया अपनी पत्नी शेफाली वालिया की जमानत के लिए गुपचुप तरीके से नैनीताल पहुंचा था.

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून: पहाड़ों की रानी मसूरी में आज से ‘विन्टरलाईन कार्निवाल-2023’ का विधिवत् शुभारम्भ..पहाड़ी संस्कृति,पर्वतीय व्यंजनों सहित साहसिक एडवेंचर स्पोर्टस,Vehicle रैली सहित स्थानीय कलाकारों की स्टार नाईट प्रस्तुति का लुफ्त उठा सकेंगे लोग....अलग-अलग तरह की Activity से कार्निवल को सफल बनाने के लिए हर संभव प्रयास: जिलाधिकारी
बाइट:आयुष अग्रवाल, STF, एसएसपी, उत्तराखंड..

गिरफ्तार अभियुक्त

 राजपाल वालिया पुत्र छुट्टन लाल, निवासी B-48 रेसकोर्स,थाना डालनवाला,देहरादून.

राजपाल के सीने धोखाधड़ी के कई राज: STF

 एसटीएफ के अनुसार अनगिनत निवेशकों के करोड़ों पर डकारने वाले मुख्य अभियुक्त भगोड़े बिल्डर दीपक मित्तल से जुड़े कई राज उसके सहपार्टनर राजपाल वालिया के सीने में दफन है.ऐसे में राजपाल  की गिरफ्तारी होने से अब  धोखाधड़ी से जुड़े कई अनसुलझे राज सामने आ सकते हैं.

यह भी पढ़ें 👉  नव वर्ष 2024 के आयोजन स्थलों की पुख़्ता सुरक्षा व्यवस्था को लेकर SSP देहरादून ने की तैयारियों की समीक्षा....आयोजन प्रतिष्ठानों में CCTV कैमरें व अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था को सुदृढ बनाने की सम्पूर्ण उत्तरदायित्व प्रतिष्ठान स्वामी की होगी…...हुड़दंग मचा अराजकता फैलाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा: SSP दून.....मुख्यतः इन 08 बिंदुओ पर सुरक्षा बंदोबस्त का फ़ोकस..

अपने फोन का इस्तेमाल नहीं..हर दूसरे दिन राजपाल ठिकाना बदलता था: STF

एसटीएफ के पूछताछ में राजपाल वालिया द्वारा बताया गया कि वह अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए अपने किसी रिश्तेदार को किसी प्रकार से कोई फोन नहीं करता था. यदि किसी से संपर्क करना हो तो किसी का भी फोन मांगकर सपंर्क कर लेता था.इसके अलावा वह हर दूसरे दिन अपना ठिकाना बदल देता था.ताकि पुलिस को चकमा दे लेकिन इस बार STF द्वारा काफ़ी दिनों से बनाई गई रणनीति में वह फंस गया..

यह भी पढ़ें 👉  पूर्व प्रधानमंत्री की पोती के साथ मारपीट-घरेलू हिंसा का हाई-प्रोफाइल मामला उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय पहुंचा,जांच के आदेश.

मास्टरमाइंड फ़रार बिल्डर दीपक मित्तल की तलाश तेज:STF

एसटीएफ के अनुसार फ्लैट अपार्टमेंट बचने के नाम सैकड़ो लोगों से करोडों रुपए की धोखाधड़ी करने मामले में मुख्य अभियुक्त भगोड़े दीपक मित्तल के पार्टनर गिरफ्तार राजपाल वालिया के खिलाफ गैंगस्टर सहित धोखाधड़ी से संबंधित थाना डालनवाला पांच मुकदमे दर्ज है.STF एसएसपी आयुष अग्रवाल के अनुसार अब इस पूरे धोखाधड़ी प्रकरण में  पुष्पांजलि डेवलपर्स कंपनी के फ़रार मालिक दीपक मित्तल की तलाश युद्स्तर पर की जा रही हैं..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें