उत्तराखंड के पूर्व IAS रामविलास यादव पर अब ED का भी शिकंजा,जेल में गिरफ्तारी कर न्यायिक प्रक्रिया शुरू.

देहरादून– आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार के मामले में पिछले 1 साल से अधिक समय से देहरादून की सुद्दोवाला जेल में बंद पूर्व IAS रामविलास यादव के खिलाफ अब ED का शिकंजा भी कसता जा रहा है.ईडी की टीम ने 1 दिन पहले ही सुद्दोवाला जेल जाकर रामविलास की फॉर्मल अरेस्टिंग की औपचारिकता पूरी की.और अब रामबिलास के खिलाफ न्यायिक प्रक्रिया के तहत ED आगे की कार्यवाही में जुट गई है..

यह भी पढ़ें 👉  राजनीति: ''आप'' का जाप खत्म 29 पदाधिकारियों सहित कई कार्यकर्ताओं ने छोड़ी पार्टी ।भाजपा का दामन थामा।

बता दें कि आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार के मामले में रिटायर्ड IAS अधिकारी रामविलास यादव फ़िलहाल देहरादून के सुद्दोवाला जेल में पिछले 1 साल से अधिक समय से बंद है. रामविलास पर आरोप है कि उन्होंने नौकरी के दौरान वर्ष 2013 से 2016 के बीच देहरादून,लखनऊ और गाजियाबाद जैसे स्थानों पर  करोड़ों की जमीन और फ्लैट खरीदे थे. ये सब आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार से जुड़ने के आरोप में शामिल है.ऐसे में गाजीपुर (यूपी) निवासी डॉ रामविलास यादव के खिलाफ 2021-22 में उत्तराखंड विजिलेंस ने भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर देहरादून से लेकर यूपी तक पहले जांच पड़ताल की और फिर बाद में उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा.

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून पुलिस का शिकंजा: रामपुर पथराव कांड के मुख्य आरोपी-पूर्व जिला पंचायत सदस्य राशिद पहलवान की खुली हिस्ट्रीशीट.. लंबे समय से कई संगीन आपराधिक कृत्यों में शामिल: पुलिस

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें