निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव को लेकर ट्रेंनिग के दौरान पीठासीन अधिकारियों कड़े निर्देश…चुनाव को बोझ न समझे बल्कि लोकतंत्र के इस महापर्व में जिम्मेदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन कर सफलता पूर्वक निर्वाचन सम्पन्न कराएं: DM/जिला निर्वाचन अधिकारी

देहरादून: लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 को शांतिपूर्वक एवं निष्पक्ष सम्पन्न कराने को लेकर उत्तराखण्ड पर्यटन विकास बोर्ड के प्रेक्षागृह में आयोजित किये जा रहे पीठासीन अधिकारियों के प्रशिक्षण कार्यक्रंम के दूसरे दिन आज मास्टर ट्रेनर द्वारा प्रशिक्षण दिया गया..इस दौरान जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी सोनिका ने प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान निष्पक्ष एवं पारदर्शिता के साथ निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिए विशेष जोर देते हुए कार्मिकों की शंकाओं का  समाधान किया. उन्होंने कहा कि चुनाव को बोझ न समझे बल्कि लोकतंत्र के इस महापर्व में जिम्मेदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए सफलता निर्वाचन पूर्वक सम्पन्न कराएं.. जिला निर्वाचन अधिकारी सोनिका ने बताया कि नामांकन प्रक्रिया के लिए देहरादून कलेक्टर परिसर में सभी तरह की तैयारियां जिसमें सीसीटीवी कैमरा,सुरक्षा बंदोबस्त सहित तमाम आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई है. वहीं दूसरी ओर राजनीतिक पार्टियों से भी मीटिंग कर ली है,जिसमें उनको नामांकन से लेकर क्या-क्या तैयारी करनी है,उसकी जानकारी दे दी गई है. ताकि किसी तरह की कोई परेशानी ना हो..वही इसके अलावा ARO सहित अन्य पोलिंग कार्मिकों की भी तकनीकी सहित अन्य आवश्यक ट्रेनिंग पूरी कर ली गई है..

यह भी पढ़ें 👉  दुःखत-त्यूणी अग्निकांड: हादसें में जान गवाने वाले 4 मासूम बच्चों में से 2 का शव बरामद,अन्य की तलाश जारी,एसएसपी/DM घटना पर पहुँचे..राहत बचाव अब भी जारी.

एक भी गलती समस्त निर्वाचन प्रक्रिया की पारदर्शिता एवं निष्पक्षता पर प्रश्न चिन्ह लगाती है.इसलिए अपनी-अपनी भूमिका को अच्छे से समझते हुए दायित्वों का जिम्मेदारी से निर्वहन करें: DM/जिला निर्वाचन अधिकारी

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून शहर की ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू रखने और यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले पर SSP दून स्वयं अपने ऑफिस से ड्रोन कैमरे की नज़र से करते हैं मॉनिटरिंग…ट्रैफिक रूल्स तोड़ने वालों को ड्रोन कैमरा कैसे ट्रेक करता हैं देखिए..

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर इस विशेष ट्रेंनिग बैठक में जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी सोनिका ने कार्मिकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि निर्वाचन कार्यो में पीठासीन अधिकारी एवं मतदान पार्टी की भूमिका महत्वपूर्ण होती है. एक भी गलती समस्त निर्वाचन प्रक्रिया की पारदर्शिता एवं निष्पक्षता पर प्रश्न चिन्ह लगाती है,और कार्यवाही का कारण बनती हैं. इसलिए कार्मिक अपनी-अपनी भूमिका को अच्छे से समझते हुए अपने दायित्वों का निर्वहन जिम्मेदारी से करें.. लोकतंत्र के इस महापर्व को निष्प्क्षता एवं पारदर्शिता दायित्वों का निर्वहन करते हएु सफल बनाए.. उन्होंने सभी मतदान कार्मिकों से वोट देने की अपील की.मॉक पोल समय से पूर्ण हो जाएं ताकि निर्वाचन प्रक्रिया समय से शुरू हो जाए..

यह भी पढ़ें 👉  राजनीति: महिला कांग्रेस अध्यक्ष के बयान ने बड़ा दी, उत्तराखंड कांग्रेस की मुश्किलें.. देखिए वीडियो

निर्वाचन की विशेष ट्रेनिंग में 1740 में से 73 पीठासीन अधिकारी नदारत रहें..

वही मुख्य निर्वाचन अधिकारी/नोडल अधिकारी झरना कमठान ने उपस्थित कार्मिकों उनके दायत्विों एवं जिम्मेदारियों को बारिकी से समझाया.मंगलवार को हुए इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के दूसरे दिन 1740 में से 1667 पीठासीन अधिकारी उपस्थित रहे जबकि 73 कार्मिक अनुपस्थित रहे..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें