नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती युवक की गंभीर कारण से हुई थी मौत,जांचोपरांत संस्थान संचालक सहित चार लोग सख़्त धाराओं में गिरफ्तार,मौत की असल वजह जुटा पुलिस ने की बड़ी कार्रवाई.

देहरादून: पटेल नगर क्षेत्र के अंतर्गत चंद्रमबनी स्थित नशा मुक्ति केंद्र में बीते 11 अप्रैल 2023 को टर्नर रोड़ निवासी 25 वर्षीय युवक की मौत मामले में पुलिस ने जांचोपरांत आराध्य फाउंडेशन नशा मुक्ति केंद्र के संचालक प्रशांत जुयाल सहित चार लोगों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है.पीड़ित परिवार की तहरीर के आधार पर दर्ज FIR में जांच विवेचना में आरोपों की पुष्टि होने के उपरांत 14 अप्रैल 2023  देर रात हत्यारोपी चारों अभियुक्तों को चेकिंग के दौरान दूधली चैक पोस्ट पर स्विफ्ट कार में गिरफ्तार किया गया.इस कार्यवाही के वक्त अभियुक्तों के वाहन से घटना में प्रयुक्त बेसबॉल का डंडा भी बरामद किया गया.वही घटना के मुख्य अभियुक्त प्रशांत जुयाल की निशानदेही पर संबंधित दस्तावेज भी बरामद किए गए.

नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती सिद्धू के साथ हुई जानलेवा मारपीट:पुलिस

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर: "आप"नेता के बेटे की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत।होटल के कमरे में मिला शव ।पुलिस जांच में जुटी। राजपुर थाना क्षेत्र का मामला।

थाना क्लेमेंन टाउन पुलिस के अनुसार 11 अप्रैल 2023 को मृतक के भाई हेमंत द्वारा लिखित प्रार्थना पत्र दिया गया,जिसमें बताया गया कि मेरे भाई सिद्धार्थ उर्फ सिद्धू को लगभग 20-25 दिन पहले आराध्य फाउंडेशन नशा मुक्ति केंद्र चंद्रबनी में इलाज़ के लिए भर्ती कराया गया था.लेकिन उपचार के नाम पर नशा मुक्ति केंद्र के संचालक प्रशांत जुयाल,अजय शर्मा,मनीष कुमार,एवं मोहन थापा द्वारा सिद्धू को 10 अप्रैल 2023 की रात बेरहमी से पीटकर उसकी हत्या कर दी गई.इतना ही नहीं 11अप्रैल 2023 की सुबह लगभग 7:00 बजे सिद्धार्थ के मृत शरीर को कपड़े में लपेटकर नशा मुक्ति केंद्र के लोग हमारे घर के बाहर छोड़कर भाग गए. उधर मामले की गंभीरता को देखते हुए शिकायतकर्ता की तहरीर के आधार पर तत्काल ही थाना क्लेमेंन टाउन में हत्या एवं SC/ST Act के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. FIR के उपरांत इस मामले की जांच- विवेचना जुटे सदर क्षेत्राधिकारी(CO) पंकज गैरोला ने घटना स्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य संकलन किया.इन्वेस्टिगेशन में पाया गया कि नशा केंद्र संचालक प्रशांत जुयाल एवं अजय शर्मा के द्वारा  10 अप्रैल 2023 की रात नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती सिद्धार्थ के साथ बुरी तरह मारपीट की गई थी.यही कारण रहा कि अगले दिन सुबह तक सिद्धार्थ की मौत हो चुकी थी. जांच-पड़ताल में यह भी पता चला कि इस घटना के बाद प्रशांत जुयाल के कहने पर अजय,मनीष और मोहन थापा के द्वारा प्रशांत की स्विफ्ट कार से मृतक सिद्धार्थ के शव को क्लेमेंनटाउन (लेन नंबर 01) स्थित उसके घर के बाहर छोड़ा गया था. ऐसे में पुलिस जांच विवेचना के दौरान पीड़ित परिवार के आरोपों की पुष्टि होने पर देहरादून एसएसपी दलिप सिंह कुँवर के आदेश पर हत्यारोपी नशा मुक्ति केंद्र (आराध्या फाउंडेशन) के संचालक प्रशांत जुयाल सहित अजय शर्मा,मनीष कुमार और मोहन थापा को गिरफ्तार किया गया.

यह भी पढ़ें 👉  सुद्धोवाला जेल में मुल्जिम ड्यूटी में लापरवाही बरतने वाले 04 पुलिसकर्मियों को SSP देहरादून ने किया तत्काल निलंबित…..मुल्जिम ड्यूटी जैसे संवेदनशील ड्यूटी पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी :SSP दून

 गिरफ्तार अभियुक्त :

1-  प्रशांत जुयाल पुत्र स्वर्गीय धीरज जुयाल निवासी शिवकुटी क्लेमेंट टाउन, देहरादून, उम्र 28 वर्ष

2-  अजय शर्मा पुत्र मोहन लाल शर्मा निवासी डोईवाला, थाना डोईवाला, देहरादून, उम्र 40 वर्ष।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग: इगास बग्वाल की 15 नवम्बर को छुट्टी ,आदेश हुए जारी..

3-  मनीष कुमार पुत्र स्वर्गीय रामपाल सिंह निवासी चंदर रोड डालनवाला, थाना रायपुर, देहरादून, उम्र 47 वर्ष

4-  मोहन थापा पुत्र स्वर्गीय रविंदर सिंह निवासी न्यू बस्ती क्लेमेंट टाउन, देहरादून, उम्र 26 वर्ष

बरामद 

1- घटना में प्रयुक्त बेसबॉल का डंडा

2- कार स्विफ्ट नंबर UK 07 DE 8962

3- नशा मुक्ति केंद्र से संबंधित दस्तावेज

गिरफ्तार आरोपी विसुअल

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें