मासूम बच्ची से दुष्कर्म कर हत्या मामलें में ज़मानत के बाद- वर्षो से फरार आरोपी को STF ने किया गिरफ्तार..हाईकोर्ट ने दिए थे गिरफ्तारी के आदेश..

देहरादून/हरिद्वार: 8 साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या मामले में जमानत मिलने के बाद वर्षो से फरार चल रहे आरोपी को आखिरकार उत्तराखंड एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है. 25 हजार के इनामी अभियुक्त विनोद कुमार की गिरफ्तारी को लेकर नैनीताल हाईकोर्ट में उत्तराखंड डीजीपी को आदेश दिए थे.जिसके बाद STF ने लंबी मशक्कत के बाद अपनी पहचान और हुलिया बदलकर यूपी बिजनौर के टांण्डा षाहुवाला गांव से अभियुक्त विनोद कुमार को गिरफ्तार किया हैं.

जमानत मिलने के बाद से फरार चल रहा था अभियुक्त

STF एसएसपी आयुष अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2007 में थाना लक्सर में अभियुक्त विनोद कुमार के विरूद्ध एक अभियोग मुकदमा धारा 302/376/201 आईपीसी के तहत मुकदमा पंजीकृत कराया गया था.आरोप अनुसार अभियुक्त विनोद कुमार पुत्र सुल्तान निवासी ग्राम टांडा भागमल थाना लक्सर हरिद्वार द्वारा टांडा भागमल के जंगल में घास काटने गयी एक 08 की नाबालिक बच्ची के साथ दुश्कर्म कर उसकी हत्या कर दी गयी थी.इस जघन्य अपराध के उपरांत अभियुक्त को तत्कालीन थाना लक्सर पुलिस ने गिरप्तार कर जेल भेज दिया गया.वही दूसरी तरफ  दौराने कोर्ट विचारण में अभियुक्त विनोद कुमार को कुछ समय बाद न्यायालय से जमानत मिली,लेकिन अभियुक्त न्यायालय में अग्रिम कार्यवाही के लिए उसके बाद कोर्ट में उपस्थित नहीं हुआ. पुलिस छानबीन में पता चला कि अभियुक्त विनोद कुमार लक्सर स्थित तटगांव भागमल से अपना मकान सामान आदि बेचकर कही भाग गया.वर्ष 2014 से अभियुक्त विनोद कुमार की तलाष की गयी लेकिन अभियुक्त का कहीं पता नहीं चल सका. लिहाजा हाईकोर्ट उत्तराखण्ड द्वारा अभियुक्त विनोद के खिलाफ गैर जमानती वारण्ट निकालकर उसकी गिरप्तारी के लिए उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक को निर्देषित किया. कोर्ट ने अपने आदेश में DGP को निर्देश दिए कि अभियुक्त विनोद कुमार को गिरप्तार कर 4 सितंबर 2023 तक न्यायालय में हाजिर किया जाए. इस प्रकार से इस अभियुक्त की गिरप्तारी पुलिस के लिये फिर से चुनौती बन गई.  अभियुक्त का कोई ठिकाना मालूम नहीं था और न ही अभियुक्त का कोई परिजन वर्तमान में उसके गांव में रह रहा था. ऐसे में अभियुक्त की गिरप्तारी के लिए पुलिस महानिदेषक अशोक कुमार द्वारा STF एसएसपी आयुष कुमार को टास्क सौंपा गया. इसके बाद एसटीएफ एसएसपी ने अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए एक विशेष रणनीति के तहत कार्य योजना बना  सिर्फ मैनुवल पुलिसिंग पर ही फोकस किया. इसके लिये एसटीएफ के दो कर्मचारियों को विगत 01 माह से अभियुक्त के आने-जाने-रहने के सभी सम्भावित स्थानों पर पतारसी सुरागरसी के लिये लगाया गया. दिन रात कड़ी मेहनत करने के पश्चात पता लगाया कि अभियुक्त विनोद कुमार वर्तमान में बिजनौर के टांण्डा षाहुवाला गांव में आम बाग का ठेका लेकर काम कर रहा है.बस इसी सूचना के आधार पर एसटीएफ की एक टीम को सूचना वाले पते पर पूरी घेराबंदी कर बुधवार देर रात अभियुक्त विनोद कुमार की गिरफ्तार कर उसे थाना लक्सर में लाकर दाखिल किया. 

यह भी पढ़ें 👉  35 लाख कीमत के जेवरात सहित कुख्यात अन्तरर्राज्जीय क्रिमिनल यूपी से गिरफ्तार,गैंगस्टर सहित 18 मुकदमे दर्ज..

गिरफ़्तार अभियुक्त का नाम

विनोद कुमार पुत्र सुल्तान निवासी ग्राम टांडा भागमल थाना लक्सर हरिद्वार.

फ़ोटो-गिरफ्तार दुष्कर्म हत्यारोपी विनोद कुमार..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें