कांवड़ मेले को सकुशल संपन्न कराने के मध्यनजर उत्तराखंड DGP ने लिया मां गंगा का आशीर्वाद,हर की पैड़ी में पूजा अर्चना,डिब्रीफिंग कर संबंधित अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश.

हरिद्वार: उत्तराखंड कांवड़ मेले को सबकुशल संपन्न कराने के लिए उत्तराखंड डीजीपी अशोक कुमार ने रविवार हरिद्वार पहुंचकर मां गंगा का आशीर्वाद लिया.उन्होंने इस दौरान संबंधित अधिकारियों के साथ हर की पैड़ी में पूजा-अर्चना की.इसके बाद DGP ने सीसीआर भवन में आयोजित  कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था को लेकर संबंधित अधिकारी कर्मचारियों के साथ महत्वपूर्ण डिब्रीफिंग बैठक की. इस दौरान एडीजी,लॉ एंड ऑर्डर, एडीजी इंटेलिजेंस और आईजी गढ़वाल सहित एसएसपी हरिद्वार समेत कई अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे.

वहीं दूसरी तरफ DGP अशोक कुमार में कांवड़ ड्यूटी में नियुक्त समस्त सुपर जोनल एवं जोनल पुलिस ऑफिसर्स से तैयारियों का जायजा लेते हुए उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए.. DGP ने अपने 3 दशकों से अधिक पुलिस सेवा काल के अनुभवों से रूबरू कराते हुए संबंधित अधिकारियों को कावड़ मेला सकुशल संपन्न कराने को लेकर उचित मार्गदर्शन भी किया.

यह भी पढ़ें 👉  मार्मिक: पहले पति के ख़िलाफ़ दी तहरीर, फिर कहा, जेल जाएंगे तो क्या खाएंगे, डांट कर छोड़ दो साहब..

कांवड़ मेले को लेकर पुलिस महानिदेशक द्वारा बताए गए महत्वपूर्ण बिन्दू..

1- धार्मिक विश्वास के अनुरूप इस वर्ष बीते वर्ष से अधिक कांवड़ यात्री हरिद्वार पहुँचेंगे. हम सभी को प्री प्लान कर आपसी समन्वय से अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करना है. 

2- इस मेले में देश के कई राज्यों से श्रद्धालु आते हैं, जिनकी भावनाओं का सम्मान करते हुए हमें उन्हें सकुशल उनके गंतव्य के लिए रवाना करना है.

यह भी पढ़ें 👉  बलात्कार के दोषी को 10 साल की सजा..

3- प्रत्येक अधिकारी एवं कर्मचारी की अपने पॉइंट की ड्यूटी बहुत महत्वपूर्ण है जिसे बखूबी निभाना है .

4- समस्त सुपर जोनल एवं जोनल प्रभारियों को अधीनस्थ फोर्स को लगातार मोटिवेटेड करते रहना है, साथ ही उनकी व्यवस्थाओं का भी खयाल रखना है जिससे हमारा जवान 12 घंटे मुस्तैदी के साथ ड्यूटी का निर्वहन कर सकें.

5- किसी भी स्थान पर भीड़ एकत्रित होने पर मुवमेंट कर लोगों को शिफ्ट किया जाना अतिआवश्यक है क्योंकि अक्सर छोटी-छोटी घटनाएं भारी भीड़ के कारण बड़ा रूप ले लेती है.

6- क्राउड कंट्रोल व प्लान लागू करने में फिल्ड ऑफिसर्स के साथ-साथ कंट्रोल रूम की भी महत्वपूर्ण भूमिका है. यहां नियुक्त अधिकारी भीड़ का आकलन कर यातायात मार्ग की स्थिति से निरंतर उच्चाधिकारियों को अवगत कराते रहेंगे. 

यह भी पढ़ें 👉  राजनीति: राहुल गांधी की आज देहरादून में जनसभा , कांग्रेस का दावा ऐतिहासिक होगी रैली. देखिए मिनट टू मिनट कार्यक्रम

7- किसी भी अधिकारी एवं कर्मचारी गणों को किसी  भी विषम परिस्थिति मे अपना धैर्य नहीं खोना है .

8- पैरामिलिट्री फोर्सेस के अधिकारीगण भी अपने फोर्स को समय-समय पर ब्रीफ कर यदि प्लानशमें कुछ बदलाव होता है तो उसकी जानकारी देते रहेंगे. 

9- ड्यूटी में किसी भी फोर्स के जवान को एग्रेसिव नहीं होना है, अगर कहीं पर स्थिति प्रतिकूल होती है तो लोकल पुलिस अधिकारी को तत्काल सूचित करें जिससे समय रहते स्थिति को सामान्य बनाया जा सके.

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें