पुलिस से बचने के लिए चोरी किये वाहनों को बंद पड़ी फैक्ट्री में छुपा देते थे चोर..बिजनोर गैंग को गिरफ्तार कर दून पुलिस ने चोरी के 10 वाहन बरामद किये.. 

शौक पूरा करने के लिए बचपन के दोनों दोस्त एक ही मॉडल की बाइक चुराते थे..

देहरादून: दून पुलिस ने एक ऐसे शातिर वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है जो अपने बड़े शौक पूरा करने के लिए बाज़ार में सबसे अधिक डिमांड वाली एक ही तरह  मॉडल वाली बाइक चुराते थे.इतना ही नहीं पुलिस से बचने के लिए बिजनौर (यूपी)मूल का ये गैंग चोरी की गई सभी मोटर बाइकों को डोईवाला के लाल थप्पड़ स्थित एक बंद पड़ी फैक्ट्री में छुपा देते थे.. दून पुलिस ने इस सक्रिय गैंग के 02 शातिर अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उनकी निशानदेही पर अलग-अलग स्थानों से चोरी की गई 10 मोटरसाइकिलों को बरामद किया है.. 

भीड़भाड़ बाजार वाले स्थानों से केवल स्पलेंडर मोटर-साइकिल ही चुराते थे चोर

यह भी पढ़ें 👉  अपडेट: सेना के साथ गश्त पर गए , 3 स्थानीय पोर्टरों की मौत ।शव बरामद ,बर्फ में दबे मिले शव ..

पुलिस के अनुसार लंबे समय चोरी की घटनाओं में सक्रिय ये गैंग भीड़भाड़ वाले स्थानों के साथ ही हाट व पीठ जैसे बाजारों से   

केवल स्पलेंडर मोटर साइकिलों को ही चोरी करते हैं,क्योंकि उनका लॉक आसानी से टूट जाता हैं. गिरफ्तार दोनों अभियुक्त बचपन के दोस्त हैं,जो अपने शौक को पूरा करने के लिए बिजनौर से देहरादून आकर काफ़ी समय से केवल  स्प्लेंडर बाइक को चोरी कर ठिकाने लगाते थे..

 अंधेरा होने पर बाइक चोरी,और फिर नम्बर प्लेट नष्ट कर ठिकाने लगाने का काम.

पुलिस के अनुसार पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि वे दोनों बचपन के दोस्त है.और अपने शौक को पूरा करने के लिये चोरी की घटनाओं को अंजाम देते थे. पुलिस की जांच में पता चला कि दोंनो अभियुक्त शातिर किस्म के अपराधी है,उनके द्वारा बताया गया कि वे केवल स्पलेंडर मोटर साइकिलो को ही चोरी करते हैं, क्योंकि उनका लॉक आसानी से टूट जाता है. ज्यादातर बाईकों को अभियुक्तों द्वारा पिछले 02 माह में देहरादून के अलग अलग थाना क्षेत्रों से चोरी किया गया था. अभियुक्त घटना को अंजाम देने से पूर्व अंधेरा होने का इन्तेजार करते थे.और फिर मौके का फायदा उठाकर सुनसान जगहों अथवा किसी कोने में खडी स्प्लेंडर बाइक को चुरा लेते थे. घटना को अंजाम देने के बाद अभियुक्त बाइक की नम्बर प्लेट तोडकर फेंक देते थे.इसके बाद चोरी की बाइकों को लालतप्पड के पास एक बदं पडी फैक्ट्री में छुपा देते थे.पुलिस को सूचना मिली कि अभियुक्त सभी चोरी की बाइकों को किसी बडे कबाडी को बेचने की योजना की फ़िराक में हैं,लेकिन इससे पहले ही पुलिस द्वारा उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया..  

यह भी पढ़ें 👉  नेक मुहिम: मुस्कान बिखेरता उत्तराखंड DGP का “ऑपरेशन स्माइल"..अपनों से बिछड़े नौनिहालों को फिर से मिलाया..परिजनों ने उत्तराखंड पुलिस का दिल किया शुक्रिया..

गिरफ्तार अभियुक्त:-

 1-अभिषेक कुमार पुत्र मगन सिंह निवासी छमौई नगली थाना हीमपुर दीपा जिला बिजनौर, उ0प्र0, उम्र 20 वर्ष  .

2- रूपेश कुमार पुत्र ओमप्रकाश निवासी ग्राम बिजौरी, थाना नजीबाबाद, जिला बिजनौर, उ0प्र0 उम्र 20 वर्ष

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखण्ड STF ने नकली दवाइयां बनाने वाली फैक्ट्री का किया भंडाफोड़..माफ़िया को गिरफ्तार कर 50 लाख से अधिक नक़ली दवाएं सहित कच्चा माल बरामद.. 

गिरफ्तार अभियुक्तों का अपराधिक इतिहास  :-  

1- मु0अ0सं0 164/24 धारा 379/411 भादवि चालानी थाना डोईवाला

2- मु0अ0सं0 180/24 धारा 379/411 भादवि चालानी थाना डोईवाला

3- मु0अ0सं0 318/24 धारा 379/411 भादवि चालानी थाना ऋषिकेश..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें