उधमसिंह नगर: SSP मंजुनाथ टी.सी. के निर्देश में अवैध मदरसा संचालक गिरफ्तार..मदरसा संचालन की आड़ में नाबालिग बच्चों का शोषण.. आरोपी पूर्व में भी जेल जा चुका हैं..धर्म की आड़ में किसी भी अवैध गतिविधियों को बक्शा नहीं जाएगा: SSP- मंजूनाथ

उधमसिंह नगर:उत्तराखंड के जनपद उधमसिंह नगर थाना पुलभट्टा क्षेत्र में अवैध रूप से संचालन करने वाले मदरसा संचालक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है..अवैध मदरसा संचालक मुख्य अभियुक्त इरसाद को गिरफ्तार किया गया है..पुलिस के अनुसार मुख्य अभियुक्त मदरसा संचालक की आड़ में बच्चों का शोषण कर रहा था.इसकी शिकायत लंबे समय से मिल रही थी. गिरफ्तार अभियुक्त पूर्व में भी इसी तरह के मामले में जेल भेजा गया था.. उधम सिंह नगर एसएसपी मंजूनाथ टी.सी.ने कहा कि धर्म की आड़ में इस तरह की अपराधिक गतिविधियों में शामिल लोगों को किसी भी सूरत में बक्शा नहीं जाएगा..

बाइट:मंजूनाथ टी.सी.एसएसपी, उधमसिंह नगर.

उधम सिंह नगर पुलिस की अवैध कार्यों के विरुद्ध कार्यवाही लगातार रहेगी जारी..

अवैध मदरसा जामिया नगमा फातिमा चारबीघा सिरौलीकला थाना पुलभट्टा प्रकरण मे की गयी कार्यवाही..

 उधमसिंह नगर पुलिस के मुताबिक 15 अक्टूबर 2023 को थानाध्यक्ष पुलभट्टा के नेतृत्व मे एक पुलिस टीम सत्यापन के लिए चारबीघा सिरौलीकला पहुँची.यहाँ सत्यापन कार्यवाही के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि चारबीघा सिरौलीकला बाबू गोटिया में एक मदरसा चल रहा है जिसके मुख्य गेट ताला लगा है. जबकि अन्दर बच्चे है..पुलिस टीम द्वारा उक्त मदरसे के दूसरे गेट से जाकर उसे खुलवाकर चैक किया गया तो, एक अंधेरे कमरें में  22 नाबालिग बच्चियां और 2 छोटे बच्चें बन्द मिले..ऐसे में महिला आरक्षी की मदद से एक एक कर सभी बच्चों को बाहर निकाल उनके नाम पते नोट किये गये.. बरामद सभी बच्चों की उम्र 04 वर्ष से 16 वर्ष तक के पाए है..इसमें 11 बच्चे जनपद बरेली (यूपी) के और 13 बच्चे स्थानीय थे..इस कार्यवाही में मौके से वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित किया गया..इसके बाद क्षेत्रीय पुलिस सर्किल ऑफ़िसर सहित अल्पसंख्यक कल्याण के सहायक अधिकारी चन्द्र प्रकाश रावत, DPO (CWC) ब्यूमा जैन व प्रेम लता सिंह CWC  रूद्रपुर को सूचित कर मौके पर CWC सदस्य सुनील कुमार, दीपा मेहरा, रेखा अधिकारी को काउसिलिग के लिए फोन कर बुलाया गया..वही इस बीच एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट  (AHTU) प्रभारी को को  टेलीफोन से सूचना देकर मौके पर बुलाया गया..जबकि दूसरी तरफ मौके से मदरसे का एक संचालक इरसाद पुत्र अबरार फरार हो गया ..जबकि इस दौरान उसकी पत्नी खातून बेगम मौजूद मिली. उनके द्वारा बताया गया कि मदरसे का नाम जामिया नगमा फातिमा  खातून है.लेकिन जांच में वह कोई वैध दस्तावेज प्रस्तुत नही कर पायी..वही इस कार्यवाही में रिहा किये गए सभी नाबालिग बच्चों के परिजनो को बुलाकर काउसिंलिग कर बच्चों को इनके परिजनो के सुपुर्द किया गया..

यह भी पढ़ें 👉  सावधान: कमर्शियल वाहनों के फर्जी इंश्योरेंस एवं पॉल्यूशन कार्ड बनाने वाले गिरोह का पर्दाफ़ाश,भारी संख्या में फ़र्ज़ी दस्तावेज बरामद कर दो अभियुक्त गिरफ्तार..

पुलिस पूछताछ में यह पता चला कि खातून बेगम व उनके पति इरसाद द्वारा बच्चों के परिजनों को उनके बच्चों को अच्छा खाना व रहने की अच्छी सुविधा और अच्छी पढाई के नाम पर उक्त मदरसे में लाया गया था.लेकिन इसके विपरीत मदरसे में सभी बच्चों के साथ दुर्व्यवहार कर इनका शोषण किया जा रहा था.. पुलिस की कार्यवाही के उपरांत इस मामलें में  CWC के सदस्यों द्वारा बच्चों की विस्तृत रिपोर्ट तैयार की गयी हैं.वही मौके पर थानाध्यक्ष कमलेश भट्ट व संयुक्त टीम ने फर्द तैयार कर सभी कर्गणो के हस्ताक्षर कराये गये तथा खातून बेगम को गिरफ्तार कर थाना हाजा पर  धारा 370(5)/491/342 भा0द0वि0 व 75/82/87 किशोर न्याय अधिनियम में मुकदमा पंकीकृत किया गया..

यह भी पढ़ें 👉  सावधान:कही आप भी ट्रैफिक के भीड़ में ठक-ठक गैंग के न हो जाये शिकार,शहर में आतंक मचाने वाले गिरोह के तीन शातिर अभियुक्त गिरफ्तार, हौंडा सिटी सहित लाखों का सामान बरामद..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें