उत्तराखंड STF के नेतृत्व में देहरादून साइबर क्राइम पुलिस को बड़ी सफलता..लगभग 19 करोड़ के विवादित धनराशि के राष्ट्रीय घोटाले में राजस्थान से पहली गिरफ्तारी..अभियुक्त के खिलाफ़ पूरे भारत में राष्ट्रीय साइबर पोर्टल पर 33 शिकायतें दर्ज..

गुजरात, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, दिल्ली, तेलंगाना में शिकायतें सामने आईं..

इंस्टाग्राम पर विभिन्न कम्पनियों को रेटिंग करने के टास्क कर पैसे कमाने के नाम पर लाखों की ठगी करने वाले गिरोह का सदस्य गिरफ्तार..

टेलीग्राम/ इंस्टाग्राम आधारित सभी निवेश मॉडल घोटालों में साइबर पुलिस स्टेशन देहरादून (स्पेशल टास्क फोर्स) लगातार राजस्थान से गिरफ्तारियां कर रही है..

देहरादून: वर्तमान में साइबर अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने के लिए हाईटेक अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है.. इसी परिपेक्ष्य में ठगों द्वारा फर्जी साइट तैयार कर आम जनता से ई-मेल व दूरभाष व अन्य सोशल साईटों के माध्यम से सम्पर्क कर स्वयं को विभिन्न नामी-गिरामी कम्पनियों के कर्मचारी / अधिकारी बताते हुये टेलीग्राम ग्रुप में जोड़कर विभिन्न कम्पनियों के लिंक भेजकर रेटिंग करने के टास्क कर घर बैठे लाभ कमाने का लालच देकर लाखों रुपये की धोखाधडी की जा रही है.

यह भी पढ़ें 👉  रिलायंस ज्वैलरी डकैती प्रकरण में दून पुलिस की बडी सफलता..घटना में शामिल 02 लाख के ईनामी मुख्य अभियुक्त प्रिंस कुमार को ट्रांजिट रिमाण्ड पर देहरादून लाया गया... अभियुक्त बिहार जेल से संचालित गिरोह का मुख्य सदस्य...कुख्यात प्रिंस पर हत्या,डकैती,लूट,कोर्ट परिसर में पुलिस पर जानलेवा हमला जैसे गम्भीर अपराधों का संगीन इतिहास...

 इसी क्रम में एक प्रकरण साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को प्राप्त हुआ जिसमें देहरादून निवासी शिकायतकर्ता के साथ अज्ञात व्यक्ति द्वारा टेलीग्राम के माध्यम से सम्पर्क कर पार्ट टाईम जॉब कर लाभ कमाने की बात कहना जिसके पश्चात अज्ञात व्यक्ति द्वारा मो0नं0 998705391 से वादी से सम्पर्क कर स्वंय को “I GLOBAL KPO COMPANY” से बताकर ऑनलाईन जॉब कर लाभ कमाने की बात कहते हुए टेलीग्राम ग्रुप में जोड़कर लगातार भिन्न भिन्न कम्पनियों के नाम के लिंक भेजकर रेटिंग करने आदि सम्बन्धी टास्क देकर लाभ कमाने के नाम पर भिन्न-भिन्न तिथियों में भिन्न-भिन्न लेन देन के माध्यम से कुल 14,00,000/- रुपये धोखाधड़ी करने सम्बन्धी शिकायत के आधार पर साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून पर धारा 420,120 बी IPC व 66(डी) आईटी एक्ट बनाम अज्ञात का मुक़दमा पंजीकृत किया गया.. वही दर्ज अभियोग में अभियुक्तों के विरुद्ध कार्यवाही के लिए गठित टीम द्वारा घटना में तकनीकी विश्लेषण से प्रकाश में आये अभियुक्त रितीक सेन पुत्र मुकेश सेन निवासी निकट पटवार भवन, मुकुन्दपुरा रोड, जयसिंहपुरा, भानकरोटा, जयपुर, राजस्थान  को जयपुर राजस्थान से गिरफ्तार किया गया.. 

यह भी पढ़ें 👉  सट्टेबाजी के धंधे पर देहरादून एसएसपी की सख़्ती..वर्ल्ड कप मैचों में ऑनलाइन सट्टा लगाने वाले 02 बुकीज़ को दून पुलिस ने धर दबोचा..बैंक खातों में जमा सट्टे की बड़ी रक़म फ़्रिज कराई गई..

अपराध का तरीकाः

 साईबर धोखाधड़ी गिरोह में शामिल अभियुक्तों द्वारा फर्जी वैब साईट तैयार कर स्वंय को “I GLOBAL KPO COMPANY” के कर्मचारी / अधिकारी बताते हुये ऑनलाईन जॉब कर लाभ कमाने की बात कहते हुए टेलीग्राम ग्रुप में जोड़कर भिन्न भिन्न कम्पनियों के नाम के लिंक भेजकर रेटिंग करने आदि सम्बन्धी टास्क देकर लाभ कमाने के नाम पर धोखाधडी की गयी.इसके साथ ही धोखाधडी से प्राप्त धनराशि को विभिन्न बैक खातो में प्राप्त कर उक्त धनराशि का प्रयोग करते है. इस ठगी में अभियुक्तों द्वारा उक्त कार्य के लिए फर्जी सिम आईडी कार्ड का प्रयोग कर अपराध कारित किया जाता है. अभियुक्त द्वारा विभिन्न मोबाईल हैण्डसेट,सिम कार्ड व फर्जी बैंक खातों का प्रयोग किया जाता है. कुछ पीडितों से एक मोबाईल फोन, सिम कार्ड व बैंक खाते का प्रयोग कर धोखाधड़ी करने के बाद इनके द्वारा नये सिम, मोबाईल हैण्डसैट व बैंक खातों का प्रयोग किया जाता है. देहरादून साइबर पुलिस की विवेचना में सभी वित्तीय पहलुओं की विस्तृत जांच करने पर,यह पाया गया कि पूरे भारत में कुल 19 करोड़ रुपये की विवादित राशि एकत्र की गई है. गिरफ्तार आरोपी के खिलाफ पूरे भारत में 33 साइबर शिकायतें दर्ज हैं.

यह भी पढ़ें 👉  वीडियो: कुमाऊँ में कुदरत का कहर.चंद सेकंड में मकान हुआ जमीदोश। क्षेत्र में दहशत का माहौल..

गिरफ्तार अभियुक्तः

1- रितीक सेन पुत्र मुकेश सेन निवासी निकट पटवार भवन, मुकुन्दपुरा रोड, जयसिंहपुरा, भानकरोटा, जयपुर, राजस्थान  – उम्र 23 वर्ष ..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें