सेना का जवान बनकर OLX के माध्यम से देशभर में हजारों लोगों से धोखाधड़ी करने वाले राष्ट्रीय साइबर गिरोह का पर्दाफाश,उत्तराखंड STF ने हरियाणा मेवात निवासी मास्टरमाइंड वसीम अकरम को किया गिरफ्तार..

देहरादून:उत्तराखंड STF ने एक ऐसे शातिर राष्ट्रीय साइबर क्राइम गिरोह का पर्दाफ़ाश कर गैंग के सरगना वसीम अकरम को हरियाणा के बादशाहपुर गुड़गांव से गिरफ्तार किया है,जो भारतीय सेना का जवान बनकर OLX के माध्यम से देशभर में हजारों लोगों को सामान बेचने के नाम पर धोखाधड़ी का शिकार बना चुका हैं.हरियाणा मेवात निवासी अभियुक्त वसीम अकरम के खिलाफ पूरे देशभर में दो हज़ार से अधिक साइबर ठगी की शिकायतें दर्ज हैं.STF के अनुसार साइबर क्रिमिनल वसीम अकरम अब तक अनगिनत बार प्रतिरूपण,सेक्सटॉर्शन,लोन ऐप, विशिंग,फर्जी कस्टमर केयर सर्विस नंबर और पहचान की चोरी के जरिए देश के कोने कोने में लोगों को अपनी ठगी का शिकार बना चुका है.

देशभर में 14 अलग-अलग फोन नम्बरों से साइबर ठगी

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून में अवैध नशे के कारोबार पर पुलिस कप्तान का शिकंजा मजबूत,विगत वर्षों की तुलना कार्रवाई कर ड्रग्स बरामदगी में 73 फ़ीसदी का इज़ाफ़ा.

देहरादून साइबर क्राइम पुलिस की जांच पड़ताल में यह भी पता चला कि साइबर क्रिमिनल वसीम अकरम ने पूरे भारत में विभिन्न अपराध करने के लिए 14 अलग-अलग फोन का इस्तेमाल किया था. अपराधी द्वारा चलाये जा रहे बैंक खाते संख्या 922010061440429 से पूरे भारत में कई पीड़ितों से पैसे लिए गए हैं. प्रारंभिक विश्लेषण के आधार पर अपराधी द्वारा इस्तेमाल किये जा रहे हैंडसेट में इस्तेमाल किए गए संदिग्ध नंबरों पर देश भर में कुल दो हजार से ज्यादा शिकायतें प्राप्त हुई हैं.इसमें उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना,गुजरात, जम्मू कश्मीर, महाराष्ट्र, केरल आदि राज्यों से संबंधित है.

OLX में कार बेचने के नाम पर देहरादून निवासी से साढ़े छःलाख की ठगी

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून: वायरल ऑडियो पर SSP का एक्शन:"पुलिस अंकल कोड" में अवैध खनन कराने वाले मामलें पर एसएसपी के निर्देश पर दर्ज हुआ मुदकमा..सोशल मीडिया पर वायरल ऑडियो की चर्चा.

 एसटीएफ के अनुसार हरियाणा के गुड़गांव से गिरफ्तार किए गए मास्टरमाइंड वसीम अकरम द्वारा ही देहरादून के हर्रावाला निवासी व्यक्ति को OLX के माध्यम से कार बेचने के नाम पर 6 लाख 50 हज़ार रुपये की ठगी की गई थी.शिकायतकर्ता सुधीर कुमार पोखाल के अनुसार एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा स्वंय को भारतीय सेना में बताकर अपनी कार बेचने के नाम पर 6,50,000/- (छः लाख पचास हजार) रुपये की धोखाधड़ी की गई. शिकायतकर्ता की तहरीर पर साइबर क्राइम देहरादून पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज किया गया था.पुलिस टीम की अथक मेहनत एवं प्रयासों से साक्ष्य एकत्रित करते हुए गिरोह सरगना वसीम अकरम पुत्र इब्राहिम खान, निवासी पथराली, मेवात, हरियाणा को बादशाहपुर गुड़गांव से गिरफ्तार किया है.

यह भी पढ़ें 👉  बडी खबर: देहरादून जिलाधिकारी के आदेश पर कड़वापानी स्थित विवादित गौ-सदन का लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई लगभग तय !…लंबे समय से लामबंद क्षेत्र वासियों के लिए राहत भरी खबर.. पशुओं को शिफ़्ट करने का कार्रवाई भी जल्द !..आरोपियों की धरपकड़ भी तेज़ !.

अपराध का तरीकाः

STF के अनुसार शातिर साइबर क्रिमिनल अभियुक्त वसीम अकरम द्वारा  OLX पर स्वंय को भारतीय सेना का जवान बताकर अपनी कार बेचने और उसे कुरियर के माध्यम से भेजने की बात कहकर आम जनता से धोखाधडी की जाती है. साथ ही कुछ लोगों को Whatsapp के माध्यम से अश्लील वीडियो कॉल कर उसकी रिकॉर्डिंग कर ब्लैकमेल करते हुए पैसों की मांग भी की जाती थी. 

गिरफ्तार अभियुक्त-

1- वसीम अकरम पुत्र इब्राहिम खान निवासी पथराली मेवात हरियाणा को बादशाहपुर गुड़गांव उम्र 28 वर्ष..

बरामदगी-

1- मोबाइल फोन- 04  

2- सिम कार्ड – 05

3- डेबिट कार्ड – 03

4- आधार कार्ड – 02

5- पैन कार्ड – 01

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें