बड़ी ख़बर: रुद्रपुर क्षेत्र में हुई फायरिंग की घटना का ऊधम सिंह नगर पुलिस का खुलासा..अंतरराष्ट्रीय अपराधियों से जुड़े फायरिंग के तार..यूपी के 03 अभियुक्तों को किया गिरफ्तार.. अज्ञात शूटरों की तलाश में जुटी SIT गठित टीमें..

 ऊधम सिंह नगर एसएसपी की चेतावनी..अपराध व अपराधियों के विरुद्ध की जाएगी सख्त से सख्त  कार्यवाही.

उधम सिंह नगर: रुद्रपुर के दुर्गा मंदिर (धर्मशाला) क्षेत्र में हुई फायरिंग की घटना में अंतर्राष्ट्रीय अपराधियों के तार जुड़ने का खुलासा करते हुए उधम सिंह नगर पुलिस में 03 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है.पुलिस के अनुसार अभी तक कि जांच-पड़ताल में पता चला कि, रुद्रपुर के दुर्गा मंदिर (धर्मशाला) के समीप सरेआम बीच-बाजार में की गई इस फायरिंग को अंजाम देने वाले शूटर यूनाइटेड किंगडम (UK) के रहने वाले हैं..ऐसे में गठित SIT की टीमें अज्ञात शूटरों की तलाश कर रही हैं. 

बाईट-डॉ मंजूनाथ टी.सी.एसएसपी, उधमसिंह नगर

सोची समझी साजिश और रैकी के तहत हमला:एसएसपी

उधम सिंह नगर पुलिस के मुताबिक 28 जून 2024 को कोतवाली रुद्रपुर में शिकायतकर्ता अनिल सिह पुत्र बलवीर सिह निवासी वार्ड न-02 सुनार गली गदरपुर थाना गदरपुर में तहरीर दी गई. शिकायतकर्ता ने अपने प्रार्थना पत्र में बताया कि, 27 जून 2024 को  दोपहर समय 02 बजकर 35 मिनट के आसपास मेरा बेटा प्रशान्त सिंह व सत्यम सिह अपनी कार से स्टाम्प लेने के लिए रुद्रपुर स्थित दुर्गा मंदिर धर्मशाला के पास स्टाम्प विक्रेता के पास आये थे. प्रशान्त स्टाम्प लेने के लिए दुकान में चला गया,जबकि छोटा बेटा सत्यम सिंह गाडी में ही बैठकर इंतजार कर रहा था.लेकिन जैसे ही सत्यम दुकान से बाहर आकर फोन पर बात कर रहा था. तभी मुँह में कपड़ा लपेटे काले रंग की एक स्पलेन्डर मोटर साईकिल से दो युवक आये, और मोटर साईकिल में पीछे बैठे युवक ने सीधे ही बाइक से उतरकर मेरे बेटे को 02 गोली मार दी.गनीमत रही कि गोली पांव  में लगी हैं. घटना के बाद इस संबंध में कोतवाली रुद्रपुर में धारा 307/504 IPC बनाम अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया.. उधम सिंह नगर एसएसपी के अनुसार ये हमला एक सोची समझी साजिश और रैकी के तहत डराने के लिए किया गया है. क्योंकि हमलावरों ने घायल व्यक्ति को लगभग 5 से 7 सेकेंड में तीनों गोलियां पैर पर मारी.

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून: लॉ कॉलेज में पढ़ने वाले LLB छात्र ने फाँसी लगा की खुदकुशी.. पुलिस जांच-पड़ताल में जुटी..

रुद्रपुर पुलिस के अनुसार उक्त घटना अज्ञात अभियुक्तों द्वारा सरेआम बीच बाजार में की गई गोलीबारी से पूरे शहर में डर व भय का माहौल पैदा हो गया.ऐसे में एसएसपी ऊधम सिह नगर डॉ मंजूनाथ टी.सी. द्वारा अभियुक्तों की धर पकड़ के लिए तत्काल टीमों का गठन कराया गया. इतना ही नहीं  पुलिस अधीक्षक क्राईम (उधम सिह नगर) और पुलिस अधीक्षक नगर रूद्रपुर सहित सहायक पुलिस अधीक्षक रूद्रपुर के पर्यवेक्षण में गठित टीमों को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिये.इसी क्रम में पुलिस टीम द्वारा सुरागरसी-पतारसी, सीसीटीवी कैमरों व टैक्निकल सर्विलांस के अवलोकन के आधार पर विवेचनात्मक कार्यवाही में साक्ष्य संकलन करते हुए मुखबिर की सटीक सूचना पर घटना को अन्जाम देने में मदद करने वाले तीन अभियुक्त 1- अभियुक्त वंशदीप औलख पुत्र मनमीत सिह निवासी ग्राम सिरसखेडा थाना बिलासपुर जिला रामपुर,यूपी. 2- अभियुक्त करनजीत सन्धू पुत्र सिवेन्दर सिह निवासी संग्रामपुर थाना शाही जिला बरेली,यूपी व 3- अभियुक्त मंदीप सिह रायर पुत्र तरनवीर सिह निवासी भोपतपुर सकरिया थाना पूरनपुर जिला पीलीभीत (यूपी) को घटना की रैकी करने एंव घटना के दिन पीडित का पीछा करने वाले वाहन स्विफ्ट रजिस्ट्रेशन संख्या UK06AB8277 के साथ दि0-02 जुलाई .2024 को गिरफ्तार किया गया. 

यह भी पढ़ें 👉  दुःखत: देहरादून के नामी स्कूल हॉस्टल में 14 वर्षीय छात्रा ने की खुदकुशी.. पुलिस जांच जुटी…

गिरफ्तार तीनों अभियुक्त उत्तर प्रदेश के रहने वाले..

उधम सिंह नगर पुलिस के मुताबिक पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि सहज विर्क जो वंशदीप औलख का रिस्तेदार है,और  वर्तमान में UK ( यूनाइटेड किंगडम) में रह रहा हैं. उसके द्वारा वंशदीप औलख को स्नैप चेट पर विडियो काल कर पीडित प्रशान्त सिह की रैकी करने के लिए कहा जिसके एवज में विदेश जाने में पैसों की व आसानी से बीजा दिलाने की मदद की बात कही.ऐसे में वंशदीप औलख ने अपने दोस्त करनजीत सन्धू और मंदीप सिह रायर को काम के लिए राजी किया.क्योंकि तीनों अभियुक्तों को विदेश जाना था.इसके बाद करनजीत सन्धू ने रैकी के लिए अपनी कार स्विफ्ट वंशदीप औलख को दी और फिर वंशदीप औलख ने मंदीप सिह रायर के साथ सहज विर्क के बताये अनुसार  27 जून 2024 को प्रशान्त सिह के घर की रैकी करने चले गये. जैसे ही प्रशान्त सिंह अपने घर गदरपुर से रुद्रपुर को निकला तो वंशदीप औलख और मंदीप सिह रायर उक्त स्विफ्ट कार में उसका पीछा करते हुए रुद्रपुर को आये,और फिर इसकी सूचना सहज विर्क को देते रहे.उधर प्रशान्त सिंह जब दुर्गा मंदिर धर्मशाला रुद्रपुर के पास खडा था,तभी सहज विर्क ने शूटरों को सूचना देकर प्रसान्त सिंह पर गोली चलवा दी.पुलिस के अनुसार घटना कार्य करने वाले अज्ञात शूटरों की तलाश जारी हैं। पुलिस की कई टीमें गठित कर प्रयास किये जा रहे है मुख्य अभियुक्त सहज विर्क के विरुद्ध ठोस साक्ष्य संकलन की कार्यवाही की जाए.वही गिरफ्तार तीनों अभियुक्तों को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया हैं.

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून: 08 दिसम्बर 2023 को FRI में आयोजित "उत्तराखंड ग्लोबल इन्वेस्टर समिट- 2023" के दृष्टिगत विक्रम/रिक्शा जैसे वाहनों के लिए यातायात डायवर्ट प्लान ये रहेगा..

गिरफ्तार अभियुक्तों का नाम-

 1- अभियुक्त वंशदीप औलख पुत्र मनमीत सिह निवासी ग्राम सिरसखेडा थाना बिलासपुर जिला रामपुर (यूपी) ..

2- अभियुक्त करनजीत सन्धू पुत्र सिवेन्दर सिह निवासी संग्रामपुर थाना शाही जिला बरेली (यूपी).

3- अभियुक्त मंदीप सिह रायर पुत्र तरनवीर सिह निवासी भोपतपुर सकरिया थाना पूरनपुर जिला पीलीभीत (यूपी).

बरामद माल- घटना में रैकी में प्रयुक्त कार स्विफ्ट UK06AB8277 ..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें