उत्तराखंड STF का शिकंजा:Mc Donald’s और KFC की फर्जी वेबसाइट बनाकर देशभर फ्रेंचाइजी दिलाने पर करोड़ों की ठगी गिरोह का पर्दाफाश,बिहार से गैंग के 4 मुख्य अभियुक्त गिरफ्तार…

उत्तराखंड STF ने एक ऐसे राष्ट्रीय साईबर गिरोह पर्दाफाश कर बिहार (पटना) से 4 शातिर अपराधी साईबर क्रिमिनलों को गिरफ्तार किया है.जो अंतरराष्ट्रीय Donald’s और KFC जैसी कंपनियों की फर्जी वेबसाइट बनाकर फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर लोगों से लाखों करोड़ों की ठगी देशभर में अंजाम दे रहे थे.गिरफ्तार गिरोह के लोगों द्वारा देहरादून निवासी को मैकडोनाल्ड की फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर 35 लाख की ठगी को भी अंजाम दिया गया था. एसटीएफ गिरफ्तार साइबर अभियुक्तों से उनके नेटवर्क से संबंधित जानकारी जुटाकर देशभर में इस ठगी के संबंध में अन्य राज्यों की साइबर पुलिस से जानकारी साझा कर आगे की कार्रवाई में जुटी है.उत्तराखंड STF की अभी तक कि जांच-पड़ताल बिहार के इस गिरोह द्वारा देशभर में 100 से अधिक लोगों को मैकडोनाल्ड व केएफसी जैसी इंटरनेशनल कंपनियों की फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर लाखों करोड़ों की ठगी की जानकारी सामने आई है. इस ठगी के सम्बंध में देशभर में 90 शिकायतों में से 14 तेलंगाना और एक आंध्र प्रदेश में मुक़दमे दर्ज है.

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग्: उत्तराखंड भाजपा ने जारी की प्रत्याशियों की दूसरी लिस्ट *जानिए किसे कहां से मिला टिकट*

गिरफ्तार साइबर ठग  

1- सनी कुमार वर्मा पुत्र गोपाल प्रसाद वर्मा निवासी न्यू कॉलोनी थाना मालसलामी पटना बिहार उम्र 19 वर्ष.

2- सूरज कुमार वर्मा पुत्र वकील प्रसाद वर्मा निवासी न्यू कॉलोनी थाना मालसलामी पटना बिहार उम्र 34 वर्ष.

3- सनी कुमार पुत्र कृष्ण कुमार जयसवाल निवासी गुल मैया चौक सबलपुर थाना नदी मोजीपुर पटना बिहार उम्र 19 .

4- चन्दन कुमार उर्फ विकास पुत्र रामबाबू शाह निवासी जमुनापुर चाईटोली पटना बिहार उम्र 19 वर्ष.. 

बरामदगी:

1. मोबाईल फोन – 04

2. सिम कार्ड- 12

3. डेबिट कार्ड- 2

4. आधार कार्ड- 2

5. पेन कार्ड- 1

6. धनराशि – 6.5 लाख रुपये ( बैक खाते में रोकी गयी)

गूगल में फर्जी फोन नम्बर और वेबसाइट प्रसारित कर देशभर में धोखाधड़ी का गोरख धंधा:STF

एसटीएफ की जांच पड़ताल में इस बात की जानकारी सामने आई की गूगल में मैकडोनाल्ड और केएफसी जैसे कंपनियों के फर्जी नंबर प्रसारित करने और हुबहू मिलती जुलती फर्जी वेबसाइट बनाकर इन कंपनियों के फ्रेंचाइजी दिलाने का यह गोरखधंधा संचालित है.साइबर ठगों द्वारा फ्रैन्चाईजी दिलाने के नाम पर फर्जी साइट तैयार कर आम जनता से ई-मेल व दूरभाष व अन्य सोशल साईटों के माध्यम से सम्पर्क कर स्वयं को विभिन्न नामी-गिरामी कम्पनियों (Mc Donald’s, KFC आदि) से बताते हुये कम्पनी की फ्रैन्चाईजी देने के नाम पर सम्पूर्ण भारत के भिन्न-भिन्न राज्यों में लाखों रुपये की धोखाधडी की जा रही है. गिरफ्तार अभियुक्तों के कब्जे से कई फर्जी  सिम मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स बरामद किए गए हैं जिनके जांच पड़ताल से पता चला कि इनके द्वारा देश भर में 100 से अधिक लोगों से फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर ठगी की गई है उत्तराखंड में यह पहला मामला है जहां मल्टीनेशनल कंपनी केएफसी और मैकडोनाल्ड के नाम पर फर्जी वेबसाइट बनाकर पंचायती दिलाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी की गई..

यह भी पढ़ें 👉  A.T.M. लूटने आए बदमाशों पर भारी पड़ी हरिद्वार पुलिस,घेराबंदी कर 05 हथियारबंद बदमाशों को दबोचा,पुलिस सफलता में इनकी मुस्तेदी आयी काम...

अपराध का तरीका

देहरादून साइबर क्राईम पुलिस के अनुसार ऋषिकेश निवासी शिकायतकर्ता प्रशान्त जमदग्नि ने पहले अनजाने में मैकडोनल्ड की फ्रैन्चाईज़ी लेने के लिए गूगल पर सर्च से ऑनलाईन वैबसाईट www.mcdonaldspartner.com की जानकारी प्राप्त की.इसके बाद शिकायतकर्ता ने मैकडोनल्ड रैस्टोरैन्ट की फ्रैन्चाईजी के लिए ऑनलाइन भी आवेदन किया.इसके पश्चात कुछ अज्ञात लोगों द्वारा शिकायतकर्ता को कॉल कर स्वंय को मैकडौनल्ड का कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजर बताकर मौकडोनल्ड कम्पनी द्वारा आवेदन स्वीकार करने की बात कहकर शिकायतकर्ता को मैकडोनल्ड का हेड ऑफ वैरिफिकेशन टीम का बताकर [email protected] से मेल कर कम्पनी में रजिस्ट्रेशन,एनओसी और लाईसेन्स फीस आदि के नाम पर 8 अलग-अलग बैंक एकाउंट से ऑनलाइन 35,40,000/- रुपये की धोखाधड़ी की. हालांकि एसटीएफ शिकायतकर्ता के अभी तक 6 लाख 50 हजार रुपए गिरोह से वापस करा चुकी हैं.

यह भी पढ़ें 👉  आज फिर दून पुलिस ने बजवाए अपराधियों के खिलाफ़ ढोल.. वांटेट चल रहे अभियुक्तों की संपत्ति कुर्क उद्घोषणा के समय ढोल-नगाड़ों के साथ पहुँची दून पुलिस..अपराधियों का ढोल बजाकर उनके काले कारनामों की पोल खोलेगी दून पुलिस : SSP देहरादून

बाइट:आयुष अग्रवाल, SSP, STF, उत्तराखंड

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें