49वीं अखिल भारतीय पुलिस विज्ञान कॉंग्रेस का भव्य आयोजन 07/08 अक्टूबर देहरादून में..केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह होंगे मुख्य अतिथि..”Policing in Amrit Kaal” पर चर्चा कर मंथन…

देहरादून: उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा  07/08 अक्टूबर, 2023 को दो दिवसीय 49वीं अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस (AIPSC) का आयोजन वन अनुसंधान संस्थान (FRI) देहरादून में किया जायेगा.. “Policing in Amrit Kaal” थीम पर गृह मंत्रालय,भारत सरकार की संस्था पुलिस विकास एवं अनुसंधान ब्यूरो (BPR&D) के तत्वावधान में इसे आयोजित कराया जा रहा है..इससे पूर्व उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा 41वें AIPSC का आयोजन 21 से 23 जून, 2011 के मध्य वन अनुसंधान संस्थान देहरादून में ही कराया गया था..

बाइट:अशोक कुमार,DGP, उत्तराखंड..

बता दें कि 49वीं अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस का उद्घाटन शनिवार, 07 अक्टूबर, 2023 को वन अनुसंधान संस्थान के दीक्षांत हॉल में आयोजित किया जाएगा. इस अवसर पर भारत सरकार के गृह मंत्री अमित शाह कार्यक्रम के बतौर मुख्य अतिथि होंगे.जबकि अतिविशिष्ट अतिथि के रूप में  उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सम्मिलित होंगे.

समापन समारोह रविवार, 08 अक्टूबर, 2023 को भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद (ICFRE) सभागार में होगा. इस अवसर पर उत्तराखंड के मौजूदा राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (से.नि.) गुरमीत सिंह मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे..

पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो (BPR&D): पुलिस अनुसंधान और विकास ब्यूरो नई दिल्ली की स्थापना 1970 में की गई थी.ऐसे में BPR&D देश की सभी पुलिस एजेंसियों को उनके बुनियादी ढांचे, मानव संसाधनों और प्रक्रियाओं को उन्नत और आधुनिक बनाने में मदद करती है.वही राज्य पुलिस बलों के लिए एक थिंक टैंक होने के नाते BPR&D अपनी वार्षिक गतिविधियों में से एक के रूप में ऐसी कांग्रेस का आयोजन करती है. BPR&D के महानिदेशक

यह भी पढ़ें 👉  चारधाम यात्रा मार्ग में खाद्य वस्तुओं की गुणवत्ता की जांच के लिए बुद्धवार 10 मई से मोबाइल लैब संचालित.

बालाजी श्रीवास्तव  इस कांग्रेस के संयोजक हैं.ऐसे में सभी रैंकों के पुलिस अधिकारी,तकनीकी विशेषज्ञ और फारेसिंक विशेषज्ञ प्रतिष्ठित लोग 49वीं अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस के विचार-विमर्श में सक्रिय होकर भाग ले रहे हैं.

49वीं अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस में मुख्यतः 5 विषयों (Themes) को चयनित किया गया है..

1. 5जी युग में पुलिस व्यवस्था (Policing in 5G Era)

2. नारकोटिक्स: एक अभूतपूर्व दृष्टिकोण (Narcotics : A Game Changing Approach)

3. पुलिस और सीएपीएफ के बीच समन्वय (Coordination between Police and CAPFs)

4. आंतरिक सुरक्षा और सोशल मीडिया की चुनौतियां (Internal Security & Social Media Challenges)

5. सामुदायिक पुलिसिंग (Community Policing)

 प्रधानमंत्री मोदी द्वारा DGsP/IGsP सम्मेलन 2022 में दिए गए निर्देशों के अनुपालन में दो ब्रेकआउट सेशन भी आयोजित किये जाएंगे..

Parliamentary Standing Committee No. 237 के निर्देशों के अनुपालन में ग्राम पुलिस प्रणाली एवं पुलिस शिकायत प्रधिकरण की प्रभावशीलता पर दो ब्रेकआउट सेशन भी आयोजित किये जाएंगे.प्रत्येक सेशन के Outcomes गृह मंत्रालय को Policy बनाने के लिए प्रेषित किये जाएंगे..

उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय के अनुसार 49वीं अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस (AIPSC) के आयोजन में उत्तराखण्ड पुलिस की तैयारियों को अत्यन्त उत्साहपूर्ण रिस्पांस मिला है. अब तक पुलिस अधिकारियों,तकनीकी विशेषज्ञों, फारेसिंक विशेषज्ञों आदि द्वारा पेपर प्रेषित किये गये हैं. जिनका BPR&D की एक विशेष समिति द्वारा आंकलन कर 49वीं अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस में प्रस्तुत करने हेतु चयनित किये गये हैं.वही अब तक लगभग 106 प्रतिभागियों का नामांकन प्राप्त हो चुका है,साथ ही 19 विषय विशेषज्ञों द्वारा सत्र स्पीकर के लिए स्वीकृति प्रदान की गयी है..

यह भी पढ़ें 👉  चार-धाम यात्रा सुरक्षा भगवान भरोसे,पैदल श्रद्धालुओं के साथ सरेआम लाठी डंडों से मारपीट !. वायरल वीडियो चर्चाओं में, मुकदमा दर्ज..4 आरोपी गिरफ्तार.. देखिए वीडियो..

 कार्यक्रम का यह प्रारूपः

प्रत्येक विषय (Theme) पर एक सेशन,ब्रेकआउट सेशन और उससे सम्बन्धित प्रस्तुतिकरण होगा. इस प्रकार 07 एवं 08 अक्टूबर को मिलाकर कुल 09 सत्र होंगे. प्रत्येक सत्र में पेपर प्रस्तुुत किये जायंगे. तत्पश्चात् माडरेटर द्वारा विषय के सभी आयामों को सम्मिलित करते हुये अपना पक्ष रखा जायगा. सत्र में 48वीं अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस के ATR पर भी चर्चा होगी.अंत में सदन द्वारा सम्बन्धित विषय पर खुली चर्चा होगी और 49वीं अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस के नये संकल्प पारित किये जायेंगे. यह संकल्प पुलिसिंग के लिये मार्गदर्शक बिन्दु होंगे. इस अवसर पर चयनित पेपरों का एक कम्पेडियम भी विमोचित किया जायेगा.

49वीं अखिल भारतीय पुलिस विज्ञान कांग्रेस में डिजिटलाइजेशन का उपयोग किया जा रहा है. कार्यक्रम के प्रबन्धन के लिए उत्तराखंड पुलिस इवेंट इनविटेशन मैनेजमेंट सिस्टम बनाया गया है, जिसमें इवेंट डेटा की सुरक्षा और गोपनीयता बनाए रखने के लिए कई सुरक्षा उपाय भी किए गए हैं.

यह भी पढ़ें 👉  उधमसिंह नगर: थाना ITI क्षेत्र के ग्राम अजीतपुर में हुए गोली कांड प्रकरण की वास्तविकता बता SSP डॉ मंजुनाथ टीसी की सख़्त कार्यवाही..त्वरित संगीन धाराओं में मुक़दमा दर्ज कर 24 घंटों के अंदर 04 नामज़द अभियुक्त गिरफ़्तार..सभी दोषियों को गिरफ़्तार कर गैंगस्टर एक्ट के तहत संपत्ति ज़ब्तीकरन एवं कड़ी  कार्यवाही की जाएगी:SSP.....अपराधियों के खिलाफ़ कड़ी से कड़ी कार्यवाही जारी रहेगी...SSP,UDN

एग्जीबिशन में बेहतर पुलिसिंग के लिए विभिन्न नवीनतम उपकरण प्रदर्शित किए जांएगे: आम लोगों के लिए भी एग्जीबिशन : DGP  

उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार के मुताबिक 49वीं अखिल भारतीय पुलिस विज्ञान कांग्रेस के दौरान एक Police Tech एग्जीबिशन का भी आयोजन किया जाएगा.इस एग्जीबिशन के उद्घाटन में आधुनिक तकनीक का प्रयोग किया जाएगा. एग्जीबिशन में 30 स्टॉल लगाये जाएंगे,जिसमें बेहतर पुलिसिंग के लिए विभिन्न नवीनतम उपकरण प्रदर्शित किए जांएगे. उत्तराखण्ड पुलिस की ओर से साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन और एसडीआरएफ द्वारा अपने-अपने स्टॉल लगाये जा रहे हैं. टेक्निकल एग्जीबिशन में देहरादून के विभिन्न स्कूल एवं कॉलेजों के छात्रों को भी आमंत्रित किया गया है. वही 08 अक्टूबर, 2023 को समस्त लोगों के लिए एग्जीबिशन खुली रहेगी..

49वीं अखिल भारतीय पुलिस विज्ञान कांग्रेस के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा 3 प्रकाशनों का डिजिटल विमोचन किया जाएगा.

1. 49वीं अखिल भारतीय पुलिस विज्ञान कांग्रेस का सार संग्रह (कम्पेडियम).

2. पुलिस अनुसंधान और विकास ब्यूरो द्वारा प्रकाशित पुलिस विज्ञान पत्रिका.

3. टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप द्वारा प्रकाशित उत्तराखण्ड पुलिस मार्चिंग विद द टाइम्स.

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें