आबकारी के शराब डिपो पर FDA की टेड़ी नज़र, इम्पोर्टेड और कंट्री मेड 7 शराब कम्पनियों सेंपल कलेक्ट कर टेस्टिंग के लिए लैब भेजे गए…

उत्तराखंड में बिकने वाली आबकारी की शराब ऊपर अब खाद्य सुरक्षा विभाग (FDA) ने टेढ़ी नजर कर दी है.होली के त्यौहार से पहले लगातार सब्सटेडर्ड शिकायतों के मद्देनजर देहरादून FDA की टीम सहस्त्रधारा स्थित इम्पोर्टेड और कंट्री मेड 7 शराब कंपनियों के FL2 एक्साइज गोदामों में छापेमारी की कार्रवाई की..इस दौरान 4 बियर,2 वाइन और 1 व्हिस्की सहित कुल 7 शराब कंपनियों के सैंपल एकत्र कर टेस्टिंग लिए रुद्रपुर लैब भेजे गए हैं. ऐसे में अगर इन शराब कंपनियों के wine सैंपल सब्सटेंडर्ड या फेल पाए जाते हैं तो आने वाले दिनों में इन कंपनियों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. देहरादून जिला खाद्य सुरक्षा टीम के मुताबिक 2019 में भी इसी तरह कुछ अल्कोहल वाइन कम्पनी के सैंपल लिए गए थे.जिनमें कुछेक सेंपल पूरी तरह से लैब रिपोर्ट में फेल पाए गए थे.अगर इस बार ऐसा कुछ होता है तो संबंधित शराब (wine) कंपनियों के खिलाफ मुकदमा होना निश्चित है.

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर: प्रेमनगर के झाझरा क्षेत्र क्लोरीन गैस लीक होने से इमरजेंसी…आसपास के आवासीय घरों को खाली कर सुरक्षित स्थान में पहुंचाया गया.. मौके पर खुद SSP मोर्चा संभाल SDRF/NDRF सहित फायर सर्विस के साथ Safe Disposal कार्रवाई में जुटे..

होली से पूर्व राज्य की सीमाओं पर भी खाद्य सुरक्षा टीमें कार्रवाई में जुटी:FDA

जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी पीसी जोशी के अनुसार होली पर्व की पूर्व सैंपलिंग की कार्रवाई के तहत सहस्त्रधारा रोड स्थित FL2 वाइन कंपनियों के गोदाम बियर व्हिस्की वाइन के 7 नमूने जांच के लिए राजकीय प्रयोग शाला रुद्रपुर भेजे गए. ऐसे में खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम 2006 एवं खाद्य सुरक्षा मानक एल्कोहलिक बेवरेज रेगुलेशन के तहत सैंपल रिपोर्ट में फेल पाए गए तो विधिक कार्रवाई की जाएगी.वही होली से पूर्व बाहर से आने वाले खाद्य वस्तुओं की जांच के लिए राज्य सीमा पर भी सैम्पलिंग की कार्रवाई के लिए खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया गया है..

यह भी पढ़ें 👉  अलर्ट: प्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट, प्रशासन मुस्तैद । Sdrf की 29 टीमें जिलों में रवाना..

एक्साइज विभाग विरोध के बावजूद FDA ने की कार्रवाई..

जानकारी के अनुसार एक्साइज विभाग के विरोध के बावजूद आज FL2 के wine गोदामों में सेंपलिंग की कार्रवाई की गई.इस कार्यवाही में जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी पीसी जोशी, वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी रमेश सिंह, योगेंद्र पांडेय,  संजय तिवारी सहित वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी ऋषिकेश भी संयुक्त कार्रवाई की टीम में शामिल रहे..

यह भी पढ़ें 👉  28 वर्षों से फरार चल रहा भगोड़ा इनामी अभियुक्त दून पुलिस की गिरफ्त में..1995 में दर्ज हुए मुकदमें में आरोप पत्र दाखिल होने के बाद से  अदालत के समक्ष पेश ना होकर चल रहा था फरार..
बाईट-पी .सी . जोशी, जिला अधिकारी,देहरादून, FDA

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें