रिलायंस लूट कांड: जो देश के कई राज्यों की पुलिस ना कर सकी..उसे देहरादून पुलिस ने कर दिखाया..SSP ने खुद कई रातें काली कर मोस्टवांटेड डकैत सहित 07 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर देहरादून लाये…मुख्य अभियुक्त अभिषेक से पूछताछ में मिली अहम जानकारियां..फ़रार अन्य अभियुक्तों की धरपकड़ युद्स्तर पर…रिकवरी को लेकर भी बड़ी चुनौती..SSP

देहरादून: बीते 09 नवंबर 2023 को देहरादून के राजपुर रोड़ स्थित रिलायंस गोल्ड शोरूम में हुई करोडों की डकैती मामलें में दून पुलिस ने वह कर दिखाया जो देश के कई राज्यों की पुलिस कर नहीं पायी.. पश्चिम बंगाल से लेकर देहरादून तक देश भर में लूट-डकैती में आतंक मचाने वाले गैंग को ध्वस्त करने के लिए देहरादून एसएसपी अजय सिंह खुद दीपावली से लेकर अब तक कई रातें अपनी काली कर मुख्य अभियुक्त अभिषेक उर्फ गाँधी को बिहार के वैशाली सुदूर व खतरनाक इलाकें से न सिर्फ गिरफ्तार करने में सफल रहे.बल्कि इस राष्ट्रीय स्तर के गैंग को फंडिग करने के साथ ही लॉजिस्टिक सहित अन्य तरह की मद्दत करने वाले 06 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया हैं..मुख्य अभियुक्त से गैंग विषय मे महत्वपूर्ण जानकारी हाथ लगी हैं. हालांकि अभी देहरादून रिलायंस ज्वैलरी शोरूम में 14 करोड़ के जेवरात लूटने वाले 04 अन्य लुटेरे-प्रिंस,विक्रम, अविनाश और राहुल फ़रार चल रहे हैं.लेकिन अच्छी बात यह हैं कि डकैती कांड के मुख्य अभियुक्त अभिषेक उर्फ गाँधी को पकड़ने के बाद बाक़ी फ़रार बदमाशों की गिरफ्तारी और उससे पूछताछ में महत्वपूर्ण जानकारीयां मिलने से उम्मीद बढ़ गई हैं..दून एसएसपी अजय सिंह के अनुसार देश भर में रिलायंस ज्वैलरी शोरूम में सिलसिले वार डकैती डालने वाले इस गैंग से लूट का माल रिकवरी करना अपराधियों को पकड़ने से भी बड़ी चुनौती हैं..लेकिन इसके बावजूद इस सनसनीखेज घटना  को दून पुलिस ने एक बड़ी चुनौती के रूप में स्वीकारा हैं.ऐसे में गिरोह को ध्वस्त कर फ़रार बदमाशों की धरपकड़ में हर मुमकिन कोशिशें जारी हैं.. 

यह भी पढ़ें 👉  भारी बारिश के बीच देहरादून DM- सोनिका सुबह-सुबह आपदा परिचालन केंद्र पहुँची,सड़क सुधार,जलभराव जैसे शिकायतों पर ख़ुद सुनवाई कर निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को दिए कड़े निर्देश.
बाईट-अजय सिंह ,एसएसपी देहरादून..

हमारी टीमें दिन-रात एक कर लुटेरों की धरपकड़ में अलग-अलग राज्यों में दबिश दे रही हैं: एसएसपी

एसएसपी के अनुसार बिहार मध्य प्रदेश,उत्तर प्रदेश जैसे तमाम राज्यों में उनकी कई पुलिस टीमें में दिन-रात एक कर देहरादून में डकैती डालने वाले इस राष्ट्रीय गिरोह को दबोचने में जुटी हैं.. फ़रार बदमाशों में से प्रिंश और विक्रम की गिरफ्तारी को लेकर 02-02 लाख इनाम घोषित कर मुखबिर तंत्र की मद्दत से युद्स्तर पर छापेमारी जारी हैं ..जबकि मुख्य अभियुक्तों में शामिल राहुल और अविनाश की गिरफ्तारी को लेकर भी सभी तरह से प्रयास जारी हैं..एसएसपी के अनुसार अभी तक जांच-पड़ताल सभी बदमाशों का देशभर में बड़ा संगीन आपराधिक इतिहास हैं. इस गैंग ने देश कई राज्यों में करोड़ों की डकैती को अंजाम दिया हैं.. एसएसपी अजय सिंह के मुताबिक यह पूरा गैंग बड़े ही सुनियोजित तरीके से महीनों पहले से लूट/ डकैती की घटनाओं को अंजाम देता है,इसमें गैंग अपनी पहचान मास्क हेलमेट और अन्य तरीके से छुपाते हैं. राष्ट्रीय स्तर का ये गिरोह जहां भी डकैती/लूट की घटना को अंजाम देता है,उसका माल नेपाल जैसे अन्य देशों में बड़े नेटवर्क के जरिए ठिकाने लगाते है..ऐसे में लूट के माल की रिकवरी करना एक वास्तविक बड़ी चुनौती है…इसके बावजूद देहरादून पुलिस की लंबी चौड़ी टीमें में इस पूरे गैंग को ध्वस्त करने के साथ ही देहरादून रिलायंस ज्वैलरी लूट के माल की बरामदगी के लिए हर संभव प्रयास युद्स्तर पर कर रही है..

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग: उत्तराखंड में आज से लागू होगा "नाईट कर्फ्यू" आदेश हुए जारी *देखिये पूरी डिटेल..*

 बिहार से गिरफ्तार मुख्य अभियुक्त अभिषेक से पूछताछ में पुलिस को मिली अहम जानकारियां..

पुलिस के अनुसार देहरादून रिलायंस गोल्ड लूट कांड के मुख्य अभियुक्त अभिषेक से पूछताछ में पुलिस को लूट की घटना में उसके साथ प्रिंस और विक्रम कुशवाहा के अतिरिक्त दो अन्य अभियुक्तो अविनाश के साथ ही राहुल के शामिल होने की जानकारी मिली है. घटना में शामिल उक्त सभी अभियुक्त बिहार में पटना व उसके आसपास के क्षेत्र के रहने वाले हैं.. 

 घटना के तुरंत बाद अपना हुलिया बदलने के सभी अभियुक्तो को घटना से पूर्व गैंग लीडर द्वारा दिए गए थे निर्देश..

मुख्य अभियुक्त अभिषेक ने पूछताछ में बताया गया कि घटना से पूर्व गैंग लीडर द्वारा उन्हें घटना के तुरंत बाद अपना हुलिया बदलने के निर्देश दिए गए थे. ताकि उनकी पहचान ना हो पाए.यही कारण रहा कि अभियुक्तों की पूर्व में प्राप्त वीडियो फूटेज/ फोटोग्राफ्स से उनके वर्तमान हुलिये का मिलान करने पर उनकी पहचान हो पाना लगभग नामुमकिन सा है..पूछताछ में घटना में अभिषेक, प्रिंस और विक्रम के साथ शामिल 02 अन्य अभियुक्तों की भी पहचान हुई हैं…

यह भी पढ़ें 👉  थाने में सिपाही की दबंगई..देशी तमंचे से फायर.. एसएसपी ने तत्काल मुकदमा दर्ज कर 02 जवानों को किया निलंबित..जांच के आदेश..

देहरादून व अन्य प्रान्तों में हुई घटनाओं की वीडियो फुटेजों/ फोटोग्राफ्स से प्राप्त अभियुक्तों के हुलिये से उनके वर्तमान हुलिये का मिलान करने पर भी उन्हें पहचान पाना था लगभग नामुमकिन..

घटना में शामिल एक अभियुक्त अविनाश बिहार से भी है वांटेड, अभियुक्त के विरुद्ध बिहार में आपराधिक मामलों के दर्जनों अभियोग है दर्ज..

पूछताछ में घटना से पूर्व अभियुक्तो को चोरी के वाहन उपलब्ध कराने वाले एक अन्य गैंग के बारे में भी पुलिस को मिली जानकारी..

घटना में शामिल अन्य अभियुक्त अविनाश बिहार से भी वांछित चल रहा है,जिसके विरुद्ध बिहार के विभिन्न जिलों में आपराधिक मामलों के दर्जनों अभियोग पंजीकृत है.. 

 दून पुलिस के अनुसार गिरफ्तार मुख्य अभियुक्त अखिलेश उर्फ गांधी  से पूछताछ में पुलिस को एक अन्य गैंग के संबंध में जानकारी मिली है,जो घटना से पूर्व गैंग को चोरी के वाहन उपलब्ध कराता था.ऐसे में प्राप्त जानकारी के आधार पर पुलिस द्वारा उक्त गैंग की धरपकड़ हेतु अन्य प्रांतों में दबिशें दी जा रही है..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें