दून पुलिस को होशियारी दिखानी पड़ गयी भारी..अब आयी जेल जाने की बारी..पुलिस कप्तान की सख्ती से बंद हुए अवैध खनन से परेशान होकर IPS अधिकारी बनकर दबाव बनाने वाला गिरफ्तार.. 

IPS अधिकारी बनकर चौकी प्रभारी पर अवैध काम के लिये दबाव डालने की योजना ने अभियुक्त को पहुँचाया सलाखों के पीछे..

देहरादून: आईपीएस अधिकारी बनकर अवैध खनन का दबाव बना अपने मकान में निर्माण सामग्री पहुँचाने का प्रयास करने वाले अभियुक्त को दून पुलिस ने धर पहुंचा है..मामला कोतवाली विकासनगर क्षेत्र के अंतर्गत हिमाचल बॉर्डर स्थित कुल्हाल चौकी का हैं.. चौकी इंचार्ज प्रवीण सैनी को एक फोन आया जिसमें अज्ञात व्यक्ति द्वारा खुद को आईपीएस अधिकारी बताकर अपने यहां 5 से 6 डंपर निर्माण सामग्री डरने का दबाव बनाया गया. पुलिस ने मोबाइल नंबर की आईडी चेक की तो आईडी किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर पाई गई.. मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल चौकी कुल्हाल पुलिस ने संदिग्ध व्यक्ति के खिलाफ धारा 419 में मुकदमा दर्ज कर चार्ज पड़ताल शुरू की.. मोबाइल नंबर की लोकेशन ट्रेस करने पर नंबर देहरादून के कैनल रोड में ट्रैक हुआ. ऐसे में पुलिस ने परित कार्रवाई करते हुए आईपीएस अधिकारी बनकर पुलिस पर दबाव बनाने वाले बिहार चंपारण निवासी अभियुक्त तारिक अनवर पुत्र स्व० जयाउद्दीन गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया. बता दे की देहरादून के एसएसपी अजय सिंह द्वारा हिमाचल बॉर्डर से आने वाले अवैध खनन को प्रतिबंधित किया गया है. इसी कारण गिरफ्तार अभियुक्त तारीख अनिवार द्वारा फर्जी आईपीएस अधिकारी बनकर अपराध कारित करने का मामला सामने आया..

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून: फर्जी अभ्यर्थी बनकर सरकारी नौकरी की परीक्षा देने आये मुन्नाभाई को दून पुलिस ने दबोचा..

पुलिस जानकारी के अनुसार 12 अक्टूबर 2023 को चौकी कुल्हाल   प्रभारी प्रवीण सैनी के मोबाइल पर एक व्यक्ति द्वारा अपने मोबाइल नंबर 9599…….. से कॉल कर अपने आपको एक आई०पी०एस० अधिकारी बताकर पोंटा साहिब, हिमाचल की ओर से 05-06 डंफर अवैध प्रतिबंधित खनन सामग्री धुली बजरी भिजवाने के लिए कहा गया.. उक्त अज्ञात व्यक्ति के मोबाइल नम्बर की आईडी चैक की गई तो आईडी किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर पाई गई..ऐसे में उक्त व्यक्ति पर संदेह होने पर चौकी कुल्हाल पर धारा 419 आई०पी०सी० के अंर्तगत मुकदमा पंजीकृत कर अभियुक्त को उसके मोबाइल नंबर की लोकेशन के आधार पर देहरादून स्थित केनाल रोड से गिरफ्तार किया गया. इतना ही नहीं गिरफ्त में अभियुक्त से बरामद आई-10 कार नंबर: डीएल-10सीएच-5770  को सीज कर कब्जे पुलिस लिया गया.वही कार्यवाही के दौरान अभियुक्त की तलाशी में उसके पास से 02 मोबाइल फोन बरामद हुए जिनमें से एक फोन के माध्यम से अभियुक्त द्वारा स्वंय को आई0पी0एस0 अधिकारी बताकर कॉल किया गया था..अभियुक्त से पूछताछ में उसने अपना नाम तारिक अनवर पुत्र स्व० जयाउद्दीन निवासी ग्राम फेनारा, थाना फेनारा, जिला ईस्ट चंपारण, बिहार हाल पता मकान नंबर 209/16 शाहीनबाग, दिल्ली उम्र 39 वर्ष बताया..

यह भी पढ़ें 👉  साइबर क्राइम रोकने एवं जन-जागरूकता अभियानों को आंदोलन में बदलने पर आधारित उत्तराखंड DGP की बहुप्रतीक्षित पुस्तक "Cyber Encounters"का अंग्रेजी संस्करण IIT दिल्ली में लांच.

पत्नी के नाम पर कुछ दिन पहले खरीदी थी जमीन

आईपीएस अधिकारी बनकर पुलिस पर दबाव बनाने वाले गिरफ्तार अभियुक्त तारीख अनवर ने पूछताछ में बताया गया कि वह दिल्ली में गारमेंट व हैंडीक्राफ्ट का व्यवसाय करता हैं..कुछ समय पहले उसने देहरादून के केनाल रोड स्थित चालांग में अपनी पत्नी के नाम पर जमीन खरीदी है. उक्त जमीन पर निर्माण कार्य के लिए हिमांचल से आने वाली धुली बजरी की जरूरत थी.लेकिन बार्डर पर पुलिस की बहुत ज्यादा सख्ती/चैकिंग होने के कारण पोंटासाहिब हिमाचल की और से आने वाली धुली बजरी नहीं मिल पा रही थी.ऐसे में अपना काम निकाले जाने की योजना बनाकर  स्वंय को आईपीएस अधिकारी बताकर 05-06 डंफर अवैध प्रतिबंधित खनन सामग्री धुली बजरी सस्ते दाम पर भिजवाने के लिए चौकी प्रभारी कुल्हाल को अपने मोबाइल नंबर से कॉल कर दबाव डाला गया..

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग: भाजपा को बड़ा झटका, 34 में से 24 जिलापंचायत सदस्यो ने थामा कांग्रेस का दामन. BJP छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए सुरेश गंगवार व जिलापंचायत अध्यक्ष रेनू गंगवार..

 गिरफ्तार अभियुक्त

तारिक अनवर पुत्र स्व० जयाउद्दीन निवासी ग्राम फेनारा, थाना फेनारा, जिला ईस्ट चंपारण, बिहार हाल पता मकान नंबर 209/16 शाहीनबाग, दिल्ली, उम्र 39 वर्ष..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें