चाचा की हत्या कर 14 साल से फरार चल रहे 01 लाख के इनामी अपराधी को उत्तराखंड STF ने हरियाणा से दबोचा..पहचान छुपाकर देश के कई राज्यों में पनाह..

देहरादून: नैनीताल जनपद के लालकुआं में अपने चाचा की हत्या कर 14 साल फ़रार चल रहे एक शातिर अपराधी को उत्तराखंड STF ने हरियाणा के बल्लभगढ़ से गिरफ्तार किया हैं..STF के गिरफ्त में आये हत्यारे प्रकाश पंत पर 01 लाख का ईनाम घोषित था.. गोली मारकर हत्या की ये घटना 10 दिसम्बर 2009 में नैनीताल जनपद के अंतर्गत थाना लालकुआं इलाकें की हैं. आरोप अनुसार लालकुआं स्थित एक पारिवारिक जमीन बटवारें के विवाद में अपने चाचा दुर्गा दत्त पंत को गोली मारकर प्रकाश पंत फ़रार था.STF एसएसपी आयुष अग्रवाल के अनुसार हत्यारोपी अभियुक्त प्रकाश पंत अपनी पहचान बदलकर ओम प्रकाश के नाम से घटना कारित करने के बाद से दिल्ली,बेंगलुरु, तमिलनाडु गुजरात,पुणे व हरियाणा जैसे शहरों में पनाह लेकर 14 वर्षो से छिपता रहा. जांच पड़ताल में  पता चला कि अभियुक्त वेल्डिंग  काम मास्टर कारीगर है.इसी हुनर के चलते उसे अपनी जीविका चलाने में वर्षो तक दिक्कत नहीं हुई.इसी के चलते वह आसानी से देश के कई राज्यों में वेल्डिंग फेब्रिकेशन फीटर के कार्य में अपनी पहचान छुपा अलग-अलग वर्कशॉप और फैक्ट्रीयों में काम करता रहा..

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून: त्योहारी सीजन के मध्यनजर ट्रेफ़िक व्यवस्था को सुचारू करने के लिए एसएसपी ने खुद संभाला मोर्चा... देहरादून शहर के कई स्थानों का निरीक्षण कर परखीं यातायात व्यवस्थाएं..आमजन की तरह 02 प्राइवेट वाहन से अधिकारियों के साथ किया शहर का भ्रमण..
बाइट:आयुष अग्रवाल, एसएसपी, STF उत्तराखंड..

जमीन बटवारें में चाचा की मनमानी बढ़ने से हुई घटना: आरोपी

एसटीएफ एसएसपी आयुष अग्रवाल के मुताबिक गिरफ्तार अभियुक्त प्रकाश पंत ने पूछताछ ने बताया कि हत्या की घटना से पूर्व वह फरीदाबाद में वेल्डिंग फेब्रिकेशन फ़ीटर का काम करता था.चंपावत में उनकी पैतृक जमीन थी.लेकिन प्रोपर्टी बटवारें को लेकर उसके पिता और लालकुआं निवासी चाचा दुर्गा प्रकाश पंत के बीच लंबे समय तनावपूर्ण विवाद चल रहा था. इसी बीच घटना वाले दिन 10 दिसंबर 2009 को प्रकाश के मुताबिक वह दिल्ली से अपने चाचा के पास लालकुआं (बिंदुखाता) में जमीन के संबंध में बात करने आया था. उसने अपने चाचा को खूब समझाया.परंतु वह नहीं माने.इसी दौरान उसने आक्रोश में आकर तमंचे से गोली मारकर उनकी हत्या कर दी.. घटना कारित करने के बाद वह बेंगलुरु,तमिलनाडु,दिल्ली गुजरात व पुणेआदि स्थानों में पहचान छुपा रहा.. वर्ष 2016 में उसने उन्नाव उत्तर प्रदेश में रहने वाले एक परिवार की लड़की पूजा से शादी कर ली.. पारिवारिक जीवन चलाने के लिए एक बार फिर वह गुपचुप तरीके से हरियाणा के बल्लभगढ़ आ गया.यहाँ आकर उसने मशीनें व अन्य सामान ख़रीदकर अपनी वेल्डिंग की दुकान खोल ली.. पिछले 7 साल से हरियाणा में जीवन व्यापन के दौरान वर्तमान समय में प्रकाश के तीन बेटे हैं.

यह भी पढ़ें 👉  गणतंत्र दिवस सम्मान: देहरादून DIG सहित इन 6 अधिकारियों को राज्यपाल उत्कृष्ट व सराहनीय सेवा मेडल.

पुलिस से बचने के लिए नेपाल में बसने की अफवाह फैलाई

हत्या के आरोप में गिरफ्तार प्रकाश पंत ने एसटीएफ की पूछताछ में यह भी बताया कि हत्या की घटना कारित करने के बाद उसने अपने रिश्तेदार और पुराने लोगों द्वारा नेपाल में जाकर वही बसने की अफवाह फैला दी.. ताकि पुलिस की कार्यवाही बच सके.. प्रकाश की यह चालबाजी काफी समय तक पुलिस को चकमा देता रही..

यह भी पढ़ें 👉  ग्लोबल इन्वेस्टर समिट के सम्बन्ध में सोशल मीडिया पर भ्रामक मैसेज प्रसारित करने वालों के खिलाफ दून पुलिस की सख़्ती..अराजक तत्वों पर मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू…

 जनवरी 2023 से वर्तमान तक  STF 50 इनामी अपराधियों को सलाखों के पीछे भेज चुकी: एसएसपी STF

उत्तराखंड एसटीएफ एसपी आयुष अग्रवाल के मुताबिक ऑपरेशन प्रहार के तहत एसटीएफ जनवरी 2023 से वर्तमान समय तक 50 इनामी अपराधियों को देश के अलग-अलग हिस्सों से गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है. इस कार्यवाही के दौरान में अब तक 01 लाख के 05 ईनामी अपराधी गिरफ्तार हो चुके हैं..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें