कस्टम डिपार्टमेंट-मुंबई क्राइम ब्रांच के नाम से देहरादून निवासी से 1 करोड़ 13 लाख ठगने वाले साइबर क्रिमिनल को उत्तराखंड STF ने यूपी ने दबोचा..गिरोह के 03 सदस्यों को पूर्व किया जा चुका हैं गिरफ्तार…

देहरादून: कस्टम डिपार्टमेंट व मुंबई क्राइम ब्रांच के नाम से देहरादून निवासी एक सीनियर सिटीजन से एक करोड़ 13 लख रुपए की ठगी करने वाले साइबर क्रिमिनल को उत्तराखंड एसटीएफ/साइबर पुलिस ने बहराइच (उत्तर प्रदेश) से गिरफ्तार किया है.अभियुक्त कब्जे से मोबाईल फोन, सिम कार्ड, 06 एटीएम कार्ड, चैक बुक,पैन कार्ड व आधार कार्ड बरामद किये गए है.. बता दें कि इससे कुछ दिन पूर्व देहरादून साइबर पुलिस ने इसी गिरोह जुड़े 03 सदस्यों को राजस्थान से कोटा से गिरफ्तार किया था.अब तक ये साइबर गैंग देशभर में करोड़ों रुपए की साइबर ठगी कर चुका हैं.. उत्तराखंड एसटीएफ के अनुसार यूपी बहराइच से गिरफ्तार किया गया अभियुक्त इसी तरह के बड़े साइबर अपराधों की ठगी में अन्य राज्यों में वांटेड है..

1 करोड़ 13 लाख ठगने के लिए अपराध का तरीका..

उत्तराखंड STF एसएसपी आयुष अग्रवाल ने जानकारी देते हुये बताया कि एक प्रकरण कुछ दिवस पूर्व साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड को देहरादून निवासी का प्राप्त शिकायती पत्र प्राप्त हुआ था हुआ.जिसमें एक वरिष्ठ नागरिक द्वारा सूचना दर्ज कराई कि अज्ञात साइबर अपराधियों द्वारा वादी के  मोबाईल पर सम्पर्क कर स्वंय को FEDEX कोरियर कम्पनी व CRIME BRANCH MUMBAI अन्धेरी से बताकर मुम्बई कस्टम द्वारा वादी के नाम से अवैध पासपोर्ट,क्रेडिट कार्ड आदि सीज करने की जानकारी दी गई.इसके बाद साइबर ठगों ने मुम्बई क्राईम ब्रॉच अंधेरी से सम्पर्क करवाकर व आवेदक को स्काईप ऐप पर जोडकर वीडियो कॉल पर पुलिस थाना दर्शाकर पार्सल के सम्बन्ध में पूछताछ की.इतना ही नहीं आवेदक को मनीलान्ड्रिंग,ड्रग्स तस्करी व पहचान छुपाने का संदिग्ध बताकर फर्जी नोटिस भेजकर शिकायकर्ता के नाम से चल रहे खातो में 38 मिलीयन का अवैध ट्रांजैक्शन होना बताया.यही नहीं पासपोर्ट कार्यालय व मुम्बई क्राइम ब्रॉच से किल्यरेन्स प्रदान करने का झांसा देकर व जॉच के नाम पर आवेदक से धोखाधडी से 1,13,00,000/- (1 करोड़ 13 लाख रू) अलग-अलग बैंक खातों में रुपए ट्रांसफर करवाये गये.. शिकायत के आधार पर साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून पर धारा 420,120 बी IPC व 66(डी) आईटी एक्ट बनाम अज्ञात पर मुकदमा पंजीकृत किया गया.. एसटीएफ ने पूर्व में इसी गिरोह के तीन सदस्यों को राजस्थान के कोटा से गिरफ्तार किया था. जिनके मोबाइल फोन व अन्य जानकारी से इसी गिरोह के एक और सदस्य को उत्तर प्रदेश के बहराइच से गिरफ्तार किया गया.

यह भी पढ़ें 👉  देर रात कांग्रेस ने घोषित की 53 प्रत्याशियों की सूची. 17 सीटो पर मंथन जारी. *देखिए पूरी लिस्ट बस एक cilck*

पुलिस का फर्जी नोटिस भेज कर  जांच के नाम पर होती है करोड़ों की ठगी..

एसटीएफएसएसपी आयुष अग्रवाल के मुताबिक गिरफ्तार इस गिरोह अभियुक्त ने बताया गया कि उनके द्वारा कुरियर कम्पनी, कस्टम डिपार्टमेन्ट व मुम्बई क्राईम ब्रांच का अधिकारी बनकर भोली भाली जनता से मुम्बई कस्टम द्वारा अवैध पासपोर्ट, अवैध ड्रग्स, क्रेडिट कार्ड सीज करने की जानकारी देकर जनता के लोगों को मनीलांड्रिंग, ड्रग्स तस्करी का संदिग्ध बताकर व लोगों को फर्जी नोटिस भेजकर केस का निपटारा करने के नाम पर धोखाधड़ी की जाती है. जिसके लिये उनके द्वारा स्वयं को मुम्बई क्राईम ब्रांच का अधिकारी बनकर लोगों को झांसा देकर अलग-अलग बैंक एकाउन्ट में धनराशि जमा कराकर ठगी की जाती हैं. उक्त अपराधियों द्वारा देश के विभिन्न हिस्सों से लोगों को मनीलांड्रिंग, ड्रग्स तस्करी का संदिग्ध बताकर व लोगों को फर्जी नोटिस भेजकर धोखाधड़ी की जाती है..

यह भी पढ़ें 👉  फर्जी इनकम टैक्स रेड का हरिद्वार पुलिस ने किया खुलासा,फिल्म स्पेशल "26" की तर्ज पर गिरोह ने 20 लाख ठगी वारदात को दिया था अंजाम..

गिरफ्तार अभियुक्त अन्य राज्यों में दर्ज निम्न शिकायतों में भी वांछित है..

1. FIR-382/24 Patna Cyber PS में 13 lakh की धोखाधड़ी.

2. NCRP-31604240028633 Southeast CEN CRIME PS Bangalore City में 87 lakh की धोखाधड़ी fraud.

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून: IMA पासिंग आउट परेड़,देश को मिले 331 नए जांबाज सैन्य अधिकारी,देश को गौरवान्वित करने वाली तस्वीरें.

3.  NCRP- 32904240012572 Tiruchirapalli City, Tamil Nadu में 24 lakh की धोखाधड़ी.

बरामदगी

1- 01 अदद मोबाईल फोन, 

2- 02 सिम कार्ड, 

3- 06 एटीएम कार्ड, 

4- 01 चैक बुक, 

5- पैन कार्ड 

6- आधार कार्ड ..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें