सावधान: चारधाम यात्रा में देशभर से आने वाले श्रद्धालुओं के साथ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन ठगी का सिलसिला जारी.. दिल्ली,NCR और हरिद्वार की ट्रैवल एजेंसियों पर मुक़दमा दर्ज..दिल्ली से ट्रैवल एजेंसी का संचालक गिरफ्तार…

पीड़ित श्रद्धालुओं के लिए देहरादून पुलिस और प्रशासन ने कराई यात्रा की व्यवस्था..

ऑनलाइन फर्जी रजिस्ट्रेशन करने वाली दिल्ली की ट्रैवल एजेंसी legend India holidays, का संचालक जनकपुरी दिल्ली से गिरफ्तार

यात्रियों ने गूगल के माध्यम से ट्रेवल कंपनी से संपर्क कर कराया था केदारनाथ धाम का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन…

एसएसपी देहरादून के निर्देशों पर यात्रियों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन चैक करने के लिए लगातार चलाया जा रहा चैकिंग अभियान..

 देहरादून/ ऋषिकेश : उत्तराखंड में चारधाम यात्रा पूरे चरम पर हैं.देश के अलग-अलग राज्यों से भारी संख्या में श्रद्धालु चारधाम यात्रा के लिए पहुंच रहे हैं..लेकिन दूसरी तरफ देशभर से आने वाले श्रद्धालुओं के साथ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व होटल बुकिंग के नाम लाखों रुपए वसूल कर धोखाधड़ी का खेल भी बदस्तूर जारी हैं..21 मई 2024 को आंध्र प्रदेश-तेलंगाना के बाद बुद्धवार 22 मई 2024 को झारखंड,हैदराबाद,पश्चिम बंगाल, कोलकाता, दिल्ली व कर्नाटका जैसे राज्यों से आने वाले अब तक 05 दर्जन से अधिक श्रद्धालुओं के साथ दिल्ली,नोएडा,गाजियाबाद व हरिद्वार की ट्रैवल कंपनियों द्वारा धोखाधड़ी का मामला सामने आया है.इसी बीच दून पुलिस ने 21 में 2024 को हैदराबाद के 11 यात्रियों के साथ ऑनलाइन फ़र्ज़ी रजिस्ट्रेशन व होटल बुकिंग ठगी करने वाले दिल्ली की ट्रैवल एजेंसी “legend India holidays” के संचालक को जनकपुरी दिल्ली से गिरफ्तार किया हैं..

दिल्ली से गिरफ्तार ट्रैवल एजेंसी संचालक

पुलिस व प्रशासन ने मद्दत पाकर श्रद्धालुओं ने फिर धामी सरकार को धन्यवाद कहा..

दून पुलिस के अनुसार 22 मई 2024 को भी ऋषिकेश स्थित अस्थाई चेकिंग सेंटर में एसएसपी देहरादून अजय सिंह द्वारा जांच के दौरान अलग-अलग राज्यों से आये यात्रियों के दलों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फ़र्जी पाया गया..धोखाधड़ी के शिकार हुए अलग-अलग राज्यों से आये यात्रियों ने बताया नोएडा-गाजियाबाद और हरिद्वार स्थित ट्रैवल एजेंसी द्वारा उन लोंगो ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व होटल बुकिंग कराया था.लेकिन ऋषिकेश जाकर पता चला कि उनका रजिस्ट्रेशन फर्जी है,और उनके साथ ठगी हुई है. एसएसपी देहरादून अजय सिंह के आदेश पर प्रारंभिक जांच में पता चला कि आरोपित ट्रैवल एजेंसियों द्वारा कुत्रचित तरीके से यात्रियों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन को चेंज किया गया हैं. ऐसे में एसएसपी के आदेश पर तत्काल नोएडा-गाजियाबाद और हरिद्वार से संचालित होने आरोपित ट्रैवल एजेंसियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है. वही दूसरी तरफ देहरादून पुलिस और प्रशासन द्वारा ठगी का शिकार हुए सभी श्रद्धालुओं की चारधाम यात्रा और ठहरने की व्यवस्था कराई गई...पुलिस एंव प्रशासन से मिले सहयोग व यात्रा के लिए उत्तराखंड सरकार की व्यवस्थाओं को लेकर राहत पाने वाले यात्रियों के दलों ने धामी सरकार का फिर शुक्रिया किया हैं..

यह भी पढ़ें 👉  जबरदस्त धमाके से देहरादून की धरती थर्र-थर्राई.. विस्फ़ोट की गूंज से चारों तरफ दहशत में आए लोग.. जनहानि की कोई सूचना नहीं..पुलिस जांच-पड़ताल में जुटी..
बाईट-श्रद्धालु
बाईट-श्रद्धालु

धोखेबाज ट्रेवल एजेंसी पर दर्ज अलग-अलग मुकदमों की जानकारी:

केस नम्बर -1

22 मई 2024 को ऋषिकेश क्षेत्र में स्थित रजिस्ट्रेशन चैकिंग सेन्टर में चारधाम यात्रा में आने वाले यात्रियों/वाहनो की चैकिंग के दौरान झारखंड व अलग-अलग स्थानों से आये यात्रियों के 06 सदस्यीय दल के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन चैक करने पर उनके ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फर्जी पाये गये.जांच में पाया गया कि रजिस्ट्रेशन की तारिखों में कूटरचना कर उन्हें बदला गया हैं.ठगी के शिकार हुए दल के साथ आयी प्रिया कुमारी सिंह,निवासी मल्टी लक्सेरिया सिटी, बोकारो झारखण्ड से जानकारी करने पर उनके द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा अपने 06 सदस्यीय दल का एक धाम की यात्रा के लिये नोयडा स्थित Explore Raahein Travel  एजेन्सी के माध्यम से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करावाया गया था,जिसके एवज में उनके द्वारा ट्रैवल एजेंसी को 65 हजार रू का भुगतान किया गया था. ट्रैवल एजेन्सी में कार्यरत मोहित रोहिला व अन्य लोगो द्वारा उन्हें एक धाम दर्शन के लिये दिनांक 22-05-2024 से 25-05-2024 के बीच का रजिस्ट्रेशन करवाने की बात बताते हुए दिनांक 21-05-2024 की रात्री में दिल्ली से वाहन के माध्यम से ऋषिकेश भिजवाया गया था.वही मोहित रोहिला द्वारा उन्हें व्हाटशएप के माध्यम से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की कॉपी उपलब्ध करायी गयी थी.लेकिन ऋषिकेश आकर उन्हें जानकारी मिली कि उनके द्वारा फर्जी तरीके से हमारे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन बनाया गया हैं.शिकायतकर्ता प्रिया कुमारी द्वारा थाना ऋषिकेश में सम्बन्धित ट्रेवल एजेंसी के विरूद्व दी गई तहरीर के आधार पर कोतवाली ऋषिकेश में  धारा 420,468,120 बी IPC के तहत मुक़दमा पंजीकृत किया गया है.वही पुलिस द्वारा अग्रिम कार्यवाही के लिए तत्काल टीम गठित कर नोयडा रवाना किया गया हैं.. 

केस नम्बर-02

 22-05-2024 को ऋषिकेश क्षेत्र में बनाये गये अस्थाई चैकिंग सेन्टर में चारधाम यात्रा में आने वाले यात्रियों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन चैक करने के दौरान हैदराबाद, पश्चिम बंगाल,कोलकाता, दिल्ली, कर्नाटका व अन्य राज्यो से आये यात्रियों के 19 सदस्यीय दल के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन भी फर्जी पाया गया.यात्रियों से जानकारी करने पर यात्रियों द्वारा गूगल के माध्यम से ऑनलाइन Trippy Baba टूर कम्पनी के जरिये केदारनाथ धाम के दर्शन के लिए 19 लोगो का टूर बुक कराया.बुकिंग के एवज में उनके द्वारा 01 लाख 70 हजार रू का भुगतान ऑनलाइन माध्यम से कम्पनी को किया गया था.कम्पनी के अलग-अलग प्रतिनिधियों तरूण वशिंका, श्रुति व अन्य के द्वारा उनसे सम्पर्क कर धाम के दर्शन के लिए रजिस्ट्रेशन की 23 मई 2024 बतायी गई.वही सम्बन्धित पी0डी0एफ0 उन्हें व्हाटश्एप के माध्यम से उपलब्ध करायी गयी,परन्तु ऋषिकेश पहुंचने पर उन्हें उक्त ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के फर्जी होने की जानकारी मिली, इस सम्बंध में दल के सदस्य सिन्चन भट्टाचार्य द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर Trippy Baba  टूर कम्पनी, गाजियाबाद के विरूद्व धारा 420, 468, 120 बी IPC के तहत मुकदमा पंजीकृत करते हुए संबंधित टूर एजेंसी के विरुद्ध कार्यवाही के लिए पुलिस टीम गाजियाबाद रवाना की गई हैं.. 

यह भी पढ़ें 👉  फर्जी डॉक्टर की डिग्री देने वाले यूपी के हिस्ट्रीशीटर इमलाख की संपत्ति कुर्क करेगी उत्तराखंड पुलिस,गैंगस्टर सहित 1 लाख इनाम की तैयारी..

केस नम्बर-03

फर्जी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की आँच पहुँची हरिद्वार की ट्रेवल एजेंसी तक..

 22 मई 2024 को ही ऋषिकेश क्षेत्र में स्थित रजिस्ट्रेशन चैकिंग सेन्टर में चारधाम यात्रा में आने वाले यात्रियों/वाहनो की चैकिंग के दौरान महाराष्ट्र से आये यात्रियों के 30 सदस्यीय दल (16 पुरुष, 14 महिलाएं) के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन  चैक करने पर उनके ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन भी फर्जी पाये गये.जांच में पता चला कि रजिस्ट्रेशन की तारिखों में कूटरचना कर उन्हें बदला गया हैं.इस सम्बंध में दल के साथ आये यात्री सागर नेमिनाब मगड़म, निवासी कोल्हापुर महाराष्ट्र से जानकारी करने पर उनके द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा अपने 30 सदस्यीय दल का चारधाम की यात्रा के लिये हरिद्वार की कोनार्क ट्रैवल्स से बीते 21 मई 2024 से 30 मई 2024 तक दो धामों की यात्रा के लिए सम्पर्क किया था. कोनार्क ट्रैवल्स की ओर से अभि नाम के व्यक्ति से उक्त तिथि को यात्रा के लिए वार्ता कर रजिस्ट्रेशन करवाया गया था.बुकिंग के एवज में उनके द्वारा अभि को 1500/- रू० और कोनार्क ट्रैवल्स को 01 लाख 65 हजार रू० का भुगतान किया गया था. ट्रैवल एजेन्सी की ओर से अभि द्वारा उन्हें दो धाम दर्शन के लिये व्हाटशएप पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की पी0डी0एफ0 उपलब्ध करायी गयी थी.लेकिन ऋषिकेश आकर उन्हें जानकारी मिली कि उनके द्वारा फर्जी तरीके से उन लोगों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन बनाया गया था. उक्त सम्बंध में सागर नेमिनाब मगड़म द्वारा थाना ऋषिकेश में सम्बन्धित ट्रैवल्स एजेन्सी के विरूद्व दी गई तहरीर के आधार पर कोतवाली ऋषिकेश में धारा 420, 468, 120 बी IPC के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है.वही पुलिस द्वारा अग्रिम कार्यवाही के लिए तत्काल टीम गठित कर कार्रवाई के लिए रवाना किया गया हैं. 

केस नम्बर: 04

चैकिंग के दौरान चारधाम यात्रा पर हैदराबाद से आये 11 सदस्यीय दल का Online Registration मिला था फर्जी

21 मई 2024 को ऋषिकेश क्षेत्रान्तर्गत खांड गांव में बनाये गये रजिस्ट्रेशन चैकिंग सेन्टर का एसएसपी देहरादून द्वारा निरीक्षण किया गया था, इस दौरान एसएसपी देहरादून द्वारा अधीनस्थ अधिकारियों के साथ चारधाम यात्रा पर आये यात्रियों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन चैक करने के दौरान हैदराबाद से चारधाम यात्रा पर आये 11 सदस्यीय यात्रियों के दल के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में कूटरचना कर व तारिखो में हेरफेर किया जाना प्रकाश में आया था.इस सम्बंध में दल की एक सदस्य मुक्कावली साई भ्रमर मधुरिया, निवासी श्रीनिवासा नगर बैंक कॉलोनी, विजयवाडा आंध्र प्रदेश से जानकारी करने पर उसके द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा चारधाम यात्रा हेतु कुल 11 लोगों का legend India holidays, address 823 jaina tower 2 district centre, Janakpuri Delhi से ऑनलाइन पैकेज बुक किया गया था.इस संबंध में उनके द्वारा कंपनी के कर्मचारी कुमकुम वर्मा व डायरेक्टर ऋषि राज से फोन के माध्यम से वार्ता की गई थी,जिनके द्वारा उनके 11 सदस्यीय दल का चारधाम यात्रा के लिये रजिस्ट्रेशन एवं ठहरने आदि की व्यवस्था करने का आश्वासन देते हुए उसके एवज में उनसे 02 लाख 33 हजार रूपये लिये गये थे.वही बताया गया था कि चारधाम यात्रा के लिये उन सभी का दिनांक 25 मई 2024 से 30 मई 2024 के बीच का रजिस्ट्रेशन उनके द्वारा कराया जायेगा.इसके बाद आज उन लोगों को कुमकुम वर्मा द्वारा व्हाट्सएप के माध्यम से रजिस्ट्रेशन की पीडीएफ भेजी गई थी, जिसे लेकर वे सभी चारधाम यात्रा के लिये आज ऋषिकेश आये थे.लेकिन उक्त यात्रियों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन चैक करने पर उनके रजिस्ट्रेशन की वास्तविक दिनांक 01-06-2024 से 10-06-2024 के बीच होनी पायी गई. यात्रियों के साथ हुई धोखधडी के सम्बंध में एसएसपी देहरादून द्वारा तत्काल सम्बन्धित ट्रैवल एजेंसी संचालक के विरूद्व वैधानिक कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये. वही यात्रियों के दल की सदस्य मुक्कावली साई भ्रमर मधुरिया, निवासी श्रीनिवासा नगर बैंक कॉलोनी, विजयवाडा आंध्र प्रदेश की ओर से धोखाधडी के सम्बंध में दी गई तहरीर पर कोतवाली ऋषिकेश में सम्बन्धित ट्रैवल एजेंसी के विरुद्ध धारा 420 468, 120 बी भादवि के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत किया गया है.इसके बाद एसएसपी देहरादून के निर्देश पर ऋषिकेश पुलिस की एक टीम गठित कर अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली रवाना की गई थी.इसी गठित टीम में आज 22 मई 2024 को ऑनलाइन ट्रैवल एजेंसी legend India holidays को संचालित करने वाले व्यक्तियों के संबंध में महत्वपूर्ण तथ्य जुटाकर ट्रेवल एजेंसी के संचालक को बुद्ववार जनकपुरी दिल्ली से गिरफ्तार किया हैं..

यह भी पढ़ें 👉  भारत के उपराष्ट्रपति के दौरे को लेकर दून पुलिस की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था..आलाधिकारियों के नेतृत्व में देहरादून एसएसपी ने सँभाली कमान..ज़मीन से लेकर आसमा तक सुरक्षा की पैनी नजर..ड्यूटी के दौरान लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के विरुद्ध की जाएगी सख्त करवाई: SSP

गिरफ्तार ट्रैवल एजेंसी अभियुक्त
ऋषि राज पुत्र सुरेश कुमार निवासी K10 गली नंबर 13 कृष्णा पार्क दिल्ली उम्र 35 वर्ष

बरामदगी
एक मोबाइल फोन (जिस से ऑनलाइन फर्जी रजिस्ट्रेशन किया गया था)

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें