सावधान: अब लापरवाही से लेन परिवर्तन करने वाले वाहनों पर होगी MV एक्ट के तहत वैधानिक कार्यवाही.DGP ने समीक्षा बैठक कर दिए दिशा-निर्देश.

देहरादून: राज्य में नये हाईवे के निर्माण के बाद चार बड़े जनपदों देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंहनगर एवं नैनीताल की यातायात व्यवस्था एवं सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम के दृष्टिगत आज 01 अप्रैल 2023 को उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक  अशोक कुमार द्वारा वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा की गयी. DGP ने कहा कि चार बड़े जनपदों में हाईवे बन जाने के बाद यातायात की ड्यूटियों में परिवर्तन होने के साथ ही नयी चुनौतियां सामने आयी हैं.ऐसे में इन चुनौतियों का हमें जनता के साथ संवाद स्थापित करते हुए नई पहलों के साथ समाधान निकालना है.

यह भी पढ़ें 👉  चमोली में दर्दनाक हादसा,शादी समारोह से लौट रहा वाहन खाई में गिरा,02 लोगों की मौत,10 को SDRF ने बमुश्किल किया रेस्क्यू..

DGP ने सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम एवं यात्रा प्रबंधन के लिए निम्नलिखित निर्देश निर्गत किये गए..

1- हाईवे पर लापरवाही से लेन परिवर्तन एवं भारी वाहनों के सड़क के दाहिनी ओर चलने पर एमवीएक्ट के तहत सख्त कार्यवाही की जाये.. उपरोक्त लेन ड्राईविंग एवं भारी वाहनों के लिए निर्धारित लेन के सम्बन्ध में सोशल मीडिया के माध्यम से जागरुकता अभियान चलाया जाये.

2- नो-पार्किंग में वाहन खड़ा करने वालों के विरुद्ध पीपीपी मोड पर आधारित देहरादून में संचालित टोइंग क्रेन सेवा को अन्य जनपदों में भी लागू किया जाये.

यह भी पढ़ें 👉  दुःखत:पिथौरागढ़ के होकरा में सवारियों से भरी बोलेरो खाई में गिरी,10 लोगों का शव बरामद.

3- यात्रा सीजन-2023 के लिए पर्याप्त संख्या में पी.आर.डी. जवानों की मांग कर ली जाए, साथ ही उन्हें यातायात प्रबंधन की ट्रेनिंग कर शत प्रतिशत यातायात ड्यूटी पर लगाया जाये.

4- मसूरी एवं नैनीताल में 02-02 सीपीयू हॉक मोबाईल स्थाई रूप से तैनात की जाये.

5- हाईवे पर ओवरस्पीड की घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस अधीक्षक यातायात एआरटीओ से समनव्य स्थापित कर स्पीड निर्धारित करालें. संशोधित अधिसूचना जारी कर हाईवे पर साईन बोर्ड लगाये जायें.

6- हाईवे पर अतिक्रमण न हो,आम जनता के सुचारू आवागमन के लिए ऐसा सुनिश्चित किया जाए.

यह भी पढ़ें 👉  पर्यटन नगरी मसूरी मे सीजन का तीसरा हिमपात, झूम उठे सैलानी.. जबरदस्त बर्फबारी जारी... *देखे वीडियो*

7- चारधाम यात्रा-2023 में वापसी के लिए गरुड़चटी से बैराज होते हुए चीला मार्ग का उपयोग किया जाये. गरुड़चटी से बैराज तक वन-वे व्यवस्था लागू करने के लिए अपर पुलिस अधीक्षक कोटद्वार, पुलिस उपाधीक्षक टिहरी एवं पुलिस उपाधीक्षक ऋषिकेश को निर्देशित किया गया.चारधाम यात्रा के दृष्टिगत यातायात प्लान में ए.आई. तकनीक का भी प्रयोग किया जाय.

8- चीला मार्ग पर बीन नदी पर बने रपटे के दोनो तरफ वायरलेस सेट के साथ पुलिस कर्मी को नियुक्त किया जाये.

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें