देहरादून रिलायंस डकैती कांड: चिन्हित लुटेरों का दिल्ली रोहिणी सेक्टर 24 ठिकाना..दून पुलिस का बना निशाना..अभियुक्तों के ठिकाने से दून पुलिस को मिले महत्वपूर्ण साक्ष्य..बदमाशों की धरपकड़ में खुद एसएसपी जुटे..

देहरादून: बीते 09 नवंबर 2023 को राजपुर रोड़ स्थित रिलाइंस गोल्ड शोरूम में हुई 14 करोड़ की डकैती मामलें में खुद एसएसपी देहरादून अजय सिंह चिन्हित बदमाशों की धरपकड़ के लिए मोर्चा संभाल जुटे हुए हैं..अपनी अलग-अलग पुलिस टीमों के साथ एसएसपी बिहार,मध्य प्रदेश,दिल्ली जैसे राज्यों में ताबड़तोड़ दबिश देकर लुटेरों की तलाश में हैं..पुलिस के अनुसार देहरादून रिलायंस गोल्ड शोरूम डकैती घटना में चिन्हित 02 अभियुक्त प्रिंस कुमार पुत्र शिवनाथ सिंह और विक्रम कुशवाहा पुत्र राम प्रवेश का सेक्टर 24 रोहिणी दिल्ली में एक फ्लैट होने के संबंध में जानकारी मिली थी.इस सूचना के आधार पर पुलिस टीम द्वारा अभियुक्तों के रोहिणी स्थित फ्लैट पर दबिश दी गयी.इस दौरान पुलिस टीम को फ्लैट की तलाशी में लूट की घटना से संबंधित महत्वपूर्ण साक्ष्य मिले है.. 

फ़रार दोनों अभियुक्त महाराष्ट्र सांगली डकैती के भी वांटेड..

पुलिस की जांच-पड़ताल में यह भी पता चला कि दोनो अभियुक्त प्रिंस और विक्रम के खिलाफ़ देश के कई राज्यों में हत्या,डकैती,अपहरण के अलावा अन्य सगींन क़िस्म के अपराधों के तहत कई मुकदमें दर्ज हैं.दोनों अभियुक्त जून 2023 में सागंली महाराष्ट्र में रिलायंस ज्वैलरी शोरूम में हुई डकैती की घटना में भी वांटेड चल रहे हैं.बता दें कि देहरादून में रिलायंस शोरूम में हुई लूट की घटना में शामिल 02 अभियुक्तों को दून पुलिस ने किया चिन्हित कर लिया हैं.

घटना से पूर्व गैंग के सदस्यों को एक-दूसरे के नाम व घटना में उनके रोल के अतिरिक्त कोई अन्य जानकारी नहीं दी जाती..

यह भी पढ़ें 👉  देखते देखते ढह गया पहाड़ का बड़ा हिस्सा,बद्रीनाथ हाइवे हुआ अवरुद्ध...राहत कार्य जारी.

वही दूसरी तरफ गैंग लीडर सुबोध से लातूर में हुई पूछताछ के दौरान दून पुलिस को कई महत्वपूर्ण जानकारियां मिली.ऐसे में पुलिस गिरोह से जुड़े सदस्यों की तलाश में दिन-रात एक कर उनकी धरपकड़ में जुटी हैं.. गैंग लीडर सुबोध से मिली जानकारी में पता चला कि किसी भी डकैती-लूट की घटना से पूर्व गैंग के सदस्यों को एक-दूसरे के नाम व घटना में उनके रोल के अतिरिक्त कोई अन्य जानकारी नहीं दी जाती थी.ताकि किसी भी वारदात के बाद पुलिस की पकड़ को कमजोर किया जा सके..पुलिस की जांच-पड़ताल में यह भी पता चला कि देशभर में लूट/डकैती में आतंक मचाने वाला ये शातिर व हाईटेक गिरोह घटना करने से पूर्व गैंग द्वारा योजनाबद्ध तरीके से भागने के मार्गो पर 40 से 50 किलो मीटर की दूरी पर अलग-अलग वाहनों को खड़ा करता हैं.जबकि वाहन चालकों को केवल दो से तीन व्यक्तियों या उनके द्वारा दिये गए सामान को अपने स्थान से दूसरे पूर्व निर्धारित स्थान तक छोडने मात्र की जानकारी दी जाती हैं. इसके अतिरिक्त घटना में शामिल अभियुक्तों को भी एक दूसरे के नाम व घटना में उनके रोल के अलावा और कोई जानकारी नहीं दी जाती.ताकि घटना के दौरान किसी के पकडे जाने पर वह अन्य लोगों के सम्बन्ध में और कोई जानकारी न दे पाये..

यह भी पढ़ें 👉  गणतंत्र दिवस के अवसर पर देहरादून पुलिस कप्तान-अजय सिंह को PM कार्यक्रम से सम्बंधित एक और बड़ा सम्मान…

घटना करने के बाद लूटी गई ज्वेलरी को नेपाल में 70% कीमत में बेचा जाता हैं:पुलिस

देहरादून एसएसपी अजय सिंह के मुताबिक देहरादून रिलायंस ज्वैलरी शोरूम में हुई लूट की घटना में विभिन्न टीमें गैर प्रान्तों में अभियुक्तों की धर पकड के लिए निरन्तर प्रयासरत हैं. इस घटना में अब तक पुलिस द्वारा 02 अभियुक्त प्रिंस कुमार पुत्र शिवनाथ सिंह,निवासी दिलावरपुर गोवर्धन,जिला बिदुपुर, बिहार और विक्रम कुशवाहा पुत्र राम प्रवेश सिंह निवासी दिलावर गोवर्धन,वैशाली जिला वैशाली, बिहार को चिन्हित किया गया है.इन दोनों की धरपकड के लिए पुलिस द्वारा बिहार व अन्य राज्यों में लगातार दबिशें दे रही हैं.. अब तक छानबीन में पता चला कि फ़रार दोनों अभियुक्त बेहद शातिर किस्म के अपराधी हैं.दोनों के खिलाफ  अन्य प्रान्तों में संगीन अपराधों के तहत कई मुकदमें पंजीकृत हैं. अभियुक्त प्रिंस के विरूद्ध जून 2020 में अपने साथियों के साथ मिलकर अपने गांव दिलावरपुर गोवर्धन की मुखिया पूनम देवी के पति लव कुमार सिंह की गोली मारकर हत्या करने के संबंध में थाना बिदुपुर,जिला वैशाली में हत्या का मुक़दमा पंजीकृत है.जबकि  अभियुक्त विक्रम कुशवाह पर थाना सदर हाजीपुर जिला वैशाली में हथियारों के दम पर सुबोध पासवान नाम के व्यक्ति का अपरहण करने और उसे बचाने आये ग्रामीणों पर गोली चलाकर जानलेवा हमला करने के संबंध में अभियोग पंजीकृत है. इसके अतिरिक्त दोनों अभियुक्त 14 जून 2023 को सांगली महाराष्ट्र में रिलायंस ज्वैलरी शोरूम में हुई 14 करोड की लूट में भी सांगली से वांटेड हैं..देहरादून एसएसपी के अनुसार इस बात की भी जानकारी सामने आयी कि देहरादून रिलायंस गोल्ड शोरूम की तर्ज पर ही देश के कई राज्यों में  लूटपाट करने वाला ये गिरोह हर बार घटना कारित करने के बाद लूटा हुआ माल अपने नेटवर्क के द्वारा 70 फ़ीसदी के क़ीमत पर नेपाल में बेच दिया जाता हैं..इसके बाद माल के नगद पैसे प्राप्त कर लिए जाते थे.और फिर घटना के कुछ संमय बाद मामला थोड़ा शांत होने पर उन पैसों को आपस मे बांट लिया जाता था..

यह भी पढ़ें 👉  BSC की डिग्री न काम ने आई तो,नशे की लत ने बनाया वाहन चोर…दून पुलिस ने गिरफ्तार अभियुक्त के कब्ज़े से चोरी के 06 वाहन किये बरामद..

सुबोध गैंग द्वारा डकैती/लूट की घटनाएं..

 1-पश्चिम बंगाल के रायगंज में रिलायंस शोरूम में करोड़ों रुपए मूल्य के आभूषण.

 2-बड़ानगर में मन्नापुरम गोल्ड में 11 करोड़ कीमत के सोने.

3- आसनसोल में मुथूट फाइनेंस में 14 करोड़ कीमत के सोने.

 4-महाराष्ट्र के सांगली में रिलायंस शोरूम में 14 करोड़ के आभूषण. 

5 नागपुर में मन्नापुरम गोल्ड में 15 करोड़ का सोना.

 6 मध्य प्रदेश के कटनी में मन्नापुरम गोल्ड से 08 करोड़ कीमत का सोना.

 7-राजस्थान में उदयपुर में मन्नापुरम गोल्ड से 12 करोड़ कीमत का सोना.

 8-भिवाड़ी में एक्सिस बैंक से 90 लाख कैश तथा 30 लाख का सोना.इसके अलावा गैंग द्वारा अन्य प्रांतों में भी लूट व डकैती की घटनाओं का अंजाम दिया है..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें