प्रेमनगर हत्याकांड: रुपए उधार न देने के कारण 77 वर्षीय महिला को बेहरमी से मौत के घाट उतारा,हत्यारा गिरफ्तार..

देहरादून: मात्र कुछ रुपए उधार न देने के चलते कोई किसी की बेहरमी से गला काट कर हत्या कर सकता है.विश्वास करना मुश्किल होता हैं,लेकिन हत्या की वजह ये भी सामने आई है.थाना प्रेमनगर क्षेत्र के अंतर्गत विंग नंबर 1 में 12 अप्रैल 2023 को 77 साल की वृद्ध महिला मनजीत कौर की इसी मामूली सी बात को लेकर हत्या कर दी गई.पुलिस खुलासे के मुताबिक मृतका ने हत्यारे को उधार में रुपये देने से मना कर दिया तो अभियुक्त पंकज शर्मा ने महिला के घर पर जाकर वही टेबल पर रखे सब्जी काटने वाले चाकू से मनजीत कौर की गला रेत कर बेरहमी से हत्या कर दी. पुलिस ने इस हत्याकांड का खुलासा करते हुए वारदात को अंजाम देने अभियुक्त पंकज शर्मा उर्फ बंटी पुत्र स्व- रमेश चन्द्र शर्मा निवासी 49 A जनरल विंग प्रेमनगर को दशहरा ग्राउण्ड के पास से गिरफ्तार किया हैं. गिरफ्त में आए अभियुक्त के निशानदेही पर हत्या करने वालों को चाकू और खून से सने कपड़े भी सबूत के तौर पर बरामद किये है.

दो बार रुपए उधार मांगने गया जब साफ मना किया तो महिला का गला काट दिया:हत्यारोपी 

पुलिस खुलासे के मुताबिक गिरफ्तार अभियुक्त पंकज शर्मा पूछताछ में बताया कि उसने वर्ष 2010 में मोहल्ले में ही परचून की दुकान खोली थी जो कि कुछ खास नहीं चलती थी.वही कोरोना काल में दुकान पूर्ण रूप से बंद हो गयी थी. ऐसे में आय का साधन खत्म हो गया था.अब मेरे पास अपने पुत्र की स्कूल की फीस जमा करने के पैसे भी नहीं थे.ऐसे में पैसों की सख्त जरूरत के कारण 2022 में बन्धन बैंक से 80 हजार का लोन लिया.इस लोन मेरे पडोस में रहने वाली महिला सीमा लाम्बा द्वारा मेरी मदद करते हुए 10 हज़ार रुपये चुकाये गए थे.क्योंकि सीमा मेरी लोन पार्टनर भी थी.इसके बाद हम दोनों ने बन्धन बैंक के अलावा यूनियन बैंक से भी लोन उठाया गया था. इसके अतिरिक्त अन्य जगहों से लिये गये कर्ज की किस्तें भी मेरे द्वारा चुकाई जा रही थी.अभियुक्त पंकज के अनुसार कर्ज अधिक होने के कारण अब कुछ रुपए उसने अलग से पड़ोसन सीमा से भी उधार लिए. सीमा को वृंदावन जाना था, इसलिये वह लगातार अपना पैसा वापस मांग रही थी. अभियुक्त पंकज शर्मा के मुताबिक अब सीमा को उसके रुपए वापस देने के कारण वह 12 अप्रैल 2023 की सुबह लगभग 09ः30 बजे विंग नंबर 1 में रहने वाली मंजीत कौर के पास रुपये उधार मांगने गया.लेकिन उन्होंने पैसा उधार देने से साफ इंकार कर दिया. पंकज ने बताया कि इसके पश्चात टेंशन में उसने दोपहर में ही शराब पी ली.इसके बाद फ़िर शाम को करीब 06ः30 से 07ः00 बजे के बीच दोबारा मंजीत कौर के घर पैसा मांगने गया.उस समय मंजीत कौर अपने घर में सब्जी काट रही थी. पुन: पैसा मांगने पर उन्होने पैसा देने से साफ तौर पर इंकार कर दिया.बस फिर क्या था आक्रोश में आते ही टेबल पर पडे सब्जी काटने वाले चाकू से 77 वर्षीय मंजीत कौर के गले पर वार कर दिया,जिससे वह मुहं के बल नीचे गिर गयी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई. गिरफ्तार अभियुक्त पंकज शर्मा ने बताया कि हत्या करने के बाद उसे पसीना आने लगा ऐसे में उसने मंजीत कौर की रसोई में जाकर कांच के गिलास में पानी पिया और उनके घर से चुपचाप निकल कर अपने घर आ गया.इसके बाद घटना के समय पहने महरुम कलर की टी-शर्ट, ग्रे कलर की पेंट जींस को छत पर जाने वाली सीढीयों के नीचे छुपा दिया और चुपचाप सामान्य तरीके से रहने लगा.

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून: यातायात नियमों का उल्लंघन व अवैध अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ दून पुलिस के FLYING  HAWK की कड़ी कार्यवाही जारी..ड्रोन के माध्यम से शहर के चप्पे चप्पे पर निगरानी…अब तक सैकड़ों की संख्या में ड्रोन से चालानी कार्रवाई…ड्रोन व्यवस्था से ट्रैफिक संचालन और अतिक्रमण के खिलाफ कार्यवाही में मिल रही है मदद:SSP दून

मृतका के बैंक खाते के लेनदेन और ब्याज के काम से पुलिस को मिला सुराग

12 अप्रैल 2023 की शाम विंग नंबर 1 प्रेम नगर में 77 वर्षीय मनजीत कौर की हत्या के उपरांत जांच में जुटी पुलिस टीमों ने घटनास्थल से लेकर आसपास के लगभग साडे 300 सीसीटीवी कैमरे खंगाले लंबी मशक्कत के बाद मृतका के घर के आस-पास एक संदिग्ध व्यक्ति बार-बार मंडराता दिखा जिसकी पहचान शक के आधार पर पंकज शर्मा के रूप में हुई. उधर दूसरी तरफ विवेचना के दौरान जांच पड़ताल में पता चला कि मृतका 2006 में सरकारी नौकरी से रिटायर्ड हुई थी. 77 वर्षीय मंजीत कौर की दो पुत्रियां जसविंदर कौर और इंदरप्रीत कौर है,जो दिल्ली और फरीदाबाद में रहकर अपना व्यापार करती है. पुलिस के अनुसार जांच में मृतक महिला के कमरे से प्राप्त दस्तावेजों से मृतका का बैंक/ निजी व्यक्तियों से ब्याज पर पैसे देने का व्यवसाय प्रकाश में सामने आया.वही महिला के बैंको में प्रचलित खातों में लाखों रुपयों की धनराशि का निकलना और उसको वितरण भी होना पाया गया. यानी मृतका मनजीत कौर ब्याज पर रुपए देने का काम करती थी. यही कारण रहा की हत्या का अभियुक्त पंकज शर्मा मृतका के पास उधार मांगने गया था जिसे मनजीत कौर ने सिरे से मना कर दिया था.

यह भी पढ़ें 👉  फ़र्जी कागज़ तैयार कर करोडों संपत्ति बेचने वाले गिरोह का मास्टरमाइंड गिरफ्तार,कांग्रेस नेता सहित लगभग एक दर्जन आरोपी रडार पर,इस कारण अब ये बेशकीमती  प्रॉपर्टी होगी सरकार में निहित..

गिरफ्तार हत्यारोपी अभियुक्त:

पंकज शर्मा उर्फ बंटी पुत्र स्व- रमेश चन्द्र शर्मा निवासी 49 ए जनरल विंग प्रेमनगर.

बरामदगी:

01: घटना में प्रयुक्त चाकु , 

यह भी पढ़ें 👉  होली के त्यौहार के मध्यनजर खाद्य सुरक्षा विभाग की सतर्कता फिर बढ़ी…..खाद्य सामग्रियां की टेस्टिंग रिपोर्ट मोबाइल वैन लैब द्वारा मिनटों में.. मिलावटखोरों को ऑन द स्पॉट पक़डने की कवायद..

02: घटना के समय अभियुक्त द्वारा पहने कपडे, 

03: कांच का गिलास   

04: मृतका के घर का खून लगा पर्दा.

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें