हत्या कर 09 वर्षो से फरार चल रहे अभियुक्त को दून पुलिस ने किया गिरफ्तार..प्रॉपर्टी विवाद के चलते अपने साथी के साथ मिलकर वर्ष 2014 में जाखन निवासी व्यक्ति की गई थी निर्मम हत्या..

गिरफ्तारी से बचने के लिए अभियुक्त 09 वर्षो से अपना ठिकाना और पहचान बदलकर पुलिस को दे रहा था चकमा ..

घटना में पुलिस द्वारा दोनों अभियुक्तो को किया था गिरफ्तार, वर्ष 2015 में न्यायालय से जमानत लेने के बाद से ही अभियुक्त लगातार चल रहा था फरार.. 

अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम द्वारा लगातार दी जा रही थी दबिशें…

देहरादून: वर्ष 2014 में हत्या करने के बाद 2015 में जमानत लेने के बाद से फरार चल रहे अभियुक्त को दून पुलिस ने 09 साल बाद गिरफ्तार किया है.. गिरफ्तार अभियुक्त ने अपने साथियों के साथ मिलकर एक प्रॉपर्टी विवाद में थाना राजपुर के अंतर्गत जाखन निवासी एक युवक की हत्या की थी.. घटना के उपरांत सभी आरोपियों को  गिरफ्तार कर लिया गया था.. लेकिन अभियुक्त दीपक पवार 2015 में कोर्ट से जमानत लेने के बाद से फरार हो गया. अभियुक्त के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी थे.इसी क्रम वारंटियों की धरपकड़ कार्यवाही में 09 साल फ़रार हत्यारोपी दीपक पंवार को राजपुर पुलिस ने जाखन के दून विहार से गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया,जहाँ से अभियुक्त को जेल भेज दिया गया हैं..

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग: इगास बग्वाल की 15 नवम्बर को छुट्टी ,आदेश हुए जारी..

 थाना राजपुर पुलिस के अनुसार  न्यायालय से प्राप्त गैर जमानती वारण्टो की शत प्रतिशत तामील किये जाने SSP देहरादून द्वारा सभी अधीनस्थों को कडे निर्देश निर्गत किये गये हैं..इन्हीं निर्दशों के क्रम में थाना राजपुर पुलिस द्वारा अभियान चलाकर वारण्टियों की गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग पुलिस टीम का गठन किया गया.इसी कार्यवाही के अंतर्गत थाना राजपुर पर गठित टीम द्वारा वर्ष 2015 से फरार चल रहे वारेंटी अभियुक्त दीपक पवांर को जाखन के दून विहार से गिरफ्तार किया गया..

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी ख़बर:देहरादून रिलायंस डकैती कांड में दून पुलिस को मिली बड़ी सफलता: SSP के नेतृत्व में मुख्य लुटेरा बिहार के सुदूर इलाकें से गिरफ्तार..ऑपरेशन फाइव स्टार के तहत फ़रार अन्य 04 लुटेरों की तलाश तेज़…

वर्ष 2014 में प्रॉपर्टी विवाद हुआ था हत्याकांड..

राजपुर पुलिस के मुताबिक हत्यारोपी अभियुक्त दीपक पंवार द्वारा वर्ष 2014 में जाखन निवासी राहुल देवगन व उसके साथी फिरोज जो की रुड़की का रहने वाला था.उस पर अपने साथी दिगपाल सिरोही उर्फ बॉबी सिरोही के साथ प्रॉपर्टी के विवाद मे जानलेवा हमला किया गया था.इस घटना में फिरोज की मौके पर मौत हो गई थी.जबकि  राहुल देवगन द्वारा किसी प्रकार भाग कर अपनी जान बचाई गई थी..इस हत्याकांड के सम्बन्ध में थाना राजपुर पर धारा 302/120बी IPC व 25 आर्म्स एक्ट के तहत मुक़दमा पंजीकृत किया गया था..इस घटना में शामिल दोनों हत्यारोपियों को 2014 में ही गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था.इसी बीच वर्ष 2015 में जेल भेजे गए अभियुक्त द्वारा कोर्ट से जमानत ली गयी थी.लेकिन इसके पश्चात से ही अभियुक्त दीपक पवांर लगातार फरार चल रहा था..

यह भी पढ़ें 👉  मुसीबत: कल्याणी नदी का बढ़ा जलस्तर , बाढ़ जैसे हालात, घरों में घुसा पानी .पुलिस ने किया रेस्क्यू.

गिरफ्तारी से बचने के लिए अभियुक्त 09 वर्षो से अपना ठिकाना और पहचान बदलकर पुलिस को दे रहा था चकमा ..

राजपुर पुलिस के अनुसार गिरफ्तार अभियुक्त के विरुद्ध  न्यायालय द्वारा पूर्व में गैर जमानती वांरट जारी किये गए थे. ऐसे में अभियुक्त की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस द्वारा उसके घर एलम थाना कांधला जनपद शामली उत्तर प्रदेश में कई बार दबिश दी गई थी.लेकिन वह  लगातार अपने ठिकाने व पहचान बदलकर गिरफ्तारी से बच रहा था. 

गिरफ्तार अभियुक्त.

दीपक पवार पुत्र सत्येंद्र सिंह निवासी ग्राम अलम,थाना कांधला जनपद शामली उत्तर प्रदेश, हाल पता दून विहार थाना राजपुर जनपद देहरादून, उम्र 32 वर्ष..

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें