बुजुर्ग महिला से जेवरातों की ठगी करने वाले गिरोह का दून पुलिस ने 48 घंटे में किया खुलासा…दिल्ली-गाजियाबाद से महिला सहित 04 शातिर ठग गिरफ्तार..ठगी के आभूषणों से लिया गोल्ड लोन..

बुजुर्ग महिलाओं/सीनियर सिटीजन और बच्चों की सुरक्षा दून पुलिस की प्राथमिकता में: एसएसपी देहरादून..

देहरादून: थाना नेहरू कॉलोनी के अंतर्गत शांति विहार (अजबपुरकला) निवासी बुजुर्ग महिला से जेवरातों की ठगी करने वाले गिरोह का 48 घण्टो में खुलासा करते हुए दून पुलिस में वारदात को अंजाम देने वाले मामलें में 01 महिला सहित 04 शातिर ठगों को गाजियाबाद और दिल्ली से गिरफ्तार किया है.. पुलिस ख़ुलासे के अनुसार वारदात में संलिप्त मुख्य अभियुक्त इन्द्रजीत सिंह पुत्र रघुवीर सिंह को घटना में प्रयुक्त वाहन संख्या: डीएल-04-सीएएफ-6256 के साथ गाजियाबाद से गिरफ्तार करने में सफलता मिली.इसके बाद पूछताछ में इंद्रजीत ने अपने साथियों अमन कुमार पुत्र सुरेश कुमार,कमल पुत्र रामकिशन और तमन्ना पत्नी मोहम्मद जावेद के साथ मिलकर ठगी की घटना को अंजाम देना स्वीकार किया गया..ऐसे में धरपकड़ में जुटी पुलिस टीम द्वारा घटना में संलिप्त अन्य तीनों अभियुक्तों को दिल्ली में अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार किया..पूछताछ के आधार पर जांच में पता चला कि बुजुर्ग महिला से ठगी गयी ज्वैलरी को बैंक में गिरवी रख अभियुक्तों ने गोल्ड लोन लिया.और फिर लोन में मिले नकदी रकम को आपस में बाँट लिया..पुलिस ने गिरफ्तार ठगों के कब्जे से लोन में मिले नगदी रकम को भी बरामद किया हैं

यह भी पढ़ें 👉  आगामी लोकसभा निर्वाचन की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी देहरादून और एसएसपी दून ने किया महाराणा प्रताप स्पोर्टस कॉलेज का निरीक्षण…कॉलेज परिसर में बनाये जाने वाले स्ट्रांग रूम व मतगणना स्थल की कड़ी सुरक्षा पर आवश्यक दिशा-निर्देश..

  पुलिस ख़ुलासे के अनुसार बुजुर्ग महिला से ठगी का मामला 07 अक्टूबर 2023 का हैं.. शिकायतकर्ता नवीन सिंह गुसांई पुत्र सरोजनी देवी,निवासी: शान्तिविहार फेज 3 अजबपुरकला द्वारा थाना नेहरू कॉलोनी में लिखित तहरीर दी गई.. शिकायतकर्ता ने प्रार्थना पत्र में बताया कि उनकी माता 7 अक्टूबर 2023 को मोथोरावाला चौक पर देहरादून से चम्बा जाने के लिये बस का इन्तेजार कर रही थीं. तभी वहां एक कार सवार व्यक्ति आकर रूका जिसने उनसे ऋषिकेश जाने के लिये सवारी के रूप में पूछा..हाँ, करने पर बुजुर्ग माताजी व दो अन्य सवारियां (एक महिला व पुरूष) कार में बैठ गये..रिस्पना पुल पहुंचने पर कार चालक द्वारा आगे चैकिंग की बात कहते हुए पीछे बैठी सवारियों से अपने समस्त आभूषण  एक लिफाफे में रखने को कहा गया.ऐसे में माताजी व उनके साथ बैठी एक महिला ने अपने आभूषण उतारकर उस लिफाफे में रख दिए. कुछ देर आगे जाने पर बुजुर्ग माताजी को कोई अन्य लिफाफा पकडाकर कार चालक ने उन्हें मोहकमपुर के पास उतार दिया..इधर जब माताजी द्वारा उस लिफाफे को खोला गया तो उसमें अखबार के टुकडे भरे मिले.. मामले की गंभीरता को देखते हुए तहरीर के आधार पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर नेहरू कॉलोनी पुलिस द्वारा कार्रवाई शुरू की गई वादी द्वारा दी गयी..  पीडित महिला से जानकारी करने पर ठगी की घटना में 04 लोगों के संलिप्त की जानकारी मिली.. घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फ़ुटेज जांच करने पर घटना में एक दिल्ली नम्बर की कार का प्रयुक्त होना प्रकाश में आया..बस इसी जानकारी के आधार पर मुखबिर तंत्र को भी सक्रिय किया गया..48 घण्टों तक  अथक प्रयासों के परिणाम स्वरूप पुलिस टीम को घटना में संलिप्त मुख्य अभियुक्त इन्द्रजीत सिंह पुत्र रघुवीर सिंह को घटना में प्रयुक्त वाहन संख्या: डीएल-04-सीएएफ-6256 के साथ गाजियाबाद से गिरफ्तार करने में सफलता मिली.और उसके बाद गिरफ्तार इंद्रजीत से पूछताछ कर उसके अन्य साथियों को दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से गिरफ्तार किया..

यह भी पढ़ें 👉  भगवानपुर क्षेत्र में हुई सनसनीखेज मौत का खुलासा,प्रेमिका से शादी न होने के चलते आत्मघाती कदम..

पूछताछ का विवरण:

 पूछताछ में अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि उन लोगों ने 7 अक्टूबर 2023 को योजनाबद्ध तरीके से देहरादून में बुजुर्ग महिला से धोखाधडी कर 01 मंगलसूत्र, 02 कान की एयर रिंग और 01 अंगूठी  को ठग लिया.. ठगी के गहनों को अभियुक्ता तमन्ना द्वारा नई दिल्ली मयूर विहार फेज 1 स्थित आईआईएफएल फाइनेंस कम्पनी में गिरवी रख गोल्ड लोन के एवज में 67000 रू-का लोन प्राप्त किया था.. प्राप्त रकम में से सभी के हिस्से में 15-15 हजार रू- आये.. कुछ पैसे आने-जाने में खर्च हो गये .

यह भी पढ़ें 👉  सावधान: कही आपके नाम वाले फ़र्जी आधार कार्ड से बैंक लोन तो नहीं..दून पुलिस ने उत्तराखंड में सक्रिय नटवरलाल को दबोचा.. अलग-अलग नाम वाले आधार कार्ड से लाखों के कई बैंक लोन..

गिरफ्तार अभियुक्त हत्या के प्रयास और ठगी में पहले जेल जा चुके हैं:पुलिस

पुलिस पूछताछ में यह पता चला कि अभियुक्त इन्द्रजीत सिंह वर्ष 2017 में ठगी के मामले में थाना मसूरी,जिला गाजियाबाद से जेल जा चुका हैं.जबकि अभियुक्त कमल थाना मधु विहार (दिल्ली) से हत्या के प्रयास में जेल की सजा काट चुका है..फ़िलहाल गिरफ्तार कर जेल भेजे गए अभियुक्तों के अन्य आपराधिक इतिहास के विषय में दून पुलिस जानकारी जुटा रही हैं.. 

 गिरफ्तार ठग अभियुक्त:

01: इन्द्रजीत सिंह पुत्र रघुवीर सिंह निवासी: 19/269 त्रिलोकपुरी दिल्ली 35 वर्ष ..

02: कमल पुत्र राम किशन निवासी: 33/210 त्रिलोकपुरी थाना मयूर विहार फेेज 1 दिल्ली 35 वर्ष.. 

03: अमन कुमार पुत्र सुरेश कुमार निवासी: 29/285 त्रिलोकपुरी दिल्ली 26 वर्ष.

04: तमन्ना पत्नी मौ0 जावेद निवासी: ई-36 बी/136 अम्बेडकर कैम्प त्रिलोकपुरी, चिल्ला सरोदा खादर, पूर्वी दिल्ली उम्र 20 वर्ष.

विवरण बरामदगी:

01: बरामदगी: 40,000 रू0 नगद (ठगी गयी ज्वैलरी को गिरवी रखकर प्राप्त धनराशि में से) 

02: घटना में प्रयुक्त वाहन संख्या: डीएल-04-सीएएफ-6256

03: मोबाइल फोन: 04

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें