उत्तराखंड STF को मिली Cyber Crime में बड़ी सफलता: इंश्योरेंस पॉलिसी के नाम पर देशभर में करोड़ों की ठगी करने वाला मास्टरमाइंड दिल्ली से गिरफ्तार. डेढ़ सौ से अधिक फ़र्जी बैंक खातों के जरिए अनगिनत लोगों से धोखाधड़ी..देहरादून और अंबाला में 5.43 करोड़ की ठगी..

देहरादून: उत्तराखंड STF ने एक ऐसे अंतरराज्यीय Cyber Crime गिरोह के सरगना को दिल्ली से गिरफ्तार किया हैं,जिसके द्वारा देशभर में पिछले 6 साल से इंश्योरेंस पॉलिसी में समस्या बताकर उसे ठीक करा निवेश के नाम पर करोड़ों रुपए की ठगी की जाती थी.. एसटीएफ के गिरफ्त में आए साइबर गिरोह के मास्टरमाइंड अजीत कुमार ने देहरादून निवासी 82 साल के बुजुर्ग को उनकी इंश्योरेंस पॉलिसी कैंसिल होने का डर दिखा कर उसे सही कराने के नाम पर पिछले 5 से 6 वर्षो में 43 लाख 23 हजार 351 रुपए की ठगी को अंजाम दिया गया.STF के अनुसार अभियुक्त अजीत कुमार ने पिछले दिनों हरियाणा के अंबाला में इसी तरह एक इंश्योरेंस बीमा धारक से 5 करोड़ रुपये की ठगी को भी अंजाम दिया था.इस धोखाधड़ी मामले में अभियुक्त गिरफ्तारी के बाद फिलहाल कोर्ट से जमानत पर चल रहा हैं. STF मुताबिक गिरफ्तार अभियुक्त देश के कई राज्यों की पुलिस का वांटेड भी है..

यह भी पढ़ें 👉  मासिक समीक्षा क्राइम मीटिंग में SSP देहरादून ने दिखाये कड़े तेवर....VVIP ड्यूटी के सकुशल उपरांत. पुनः पुलिस द्वारा चलाए जा रहे अभियानों के निर्देशों पर प्रभावी कार्यवाही में लापरवाही बरतने वाले थाना प्रभारियों पर अब होगी सख्त कार्यवाही: SSP दून..
बाइट: आयुष अग्रवाल, STF, SSP उत्तराखंड

गिरफ्तार साइबर मास्टरमाइंड

अजीत कुमार पुत्र बृजनंदन शर्मा निवासी C.N. 806 भड़ाना मोहल्ला दल्लूपुरा गांव, ईस्ट दिल्ली उम्र 40 वर्ष..

गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्यवाही कर संपत्ति जब्त की जाएंगी :STF.

STF एसएसपी आयुष कुमार ने बताया कि देशभर में एक संगठित गिरोह बनाकर साइबर अपराध करने वाले मास्टरमाइंड अजीत कुमार के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई भी जल्द कक जायेगी. ताक़ि उसके द्वारा इस धंधे में अवैध रूप से अर्जित संपत्ति को ज़ब्त करने कक कार्यवाही सुनिश्चित की जा सके. वहीं दूसरी ओर इस गिरोह के नेटवर्क से जुड़े लोगों के बारे में जानकारी जुटाकर STF की कार्रवाई जारी हैं.

150 फर्जी बैंक अकाउंट के जरिए  देशभर में धोखाधड़ी का खेल..

एसटीएफ की गिरफ्त में आया दिल्ली निवासी साइबर क्रिमिनल अजीत कुमार अब तक 150 फर्जी बैंक एकाउंट के जरिए देश भर में अनगिनत इंश्योरेंस बीमा धारकों से ठगी कर चुका है.एसटीएफ की जांच में पता चला है कि आरोपी प्रत्येक फर्जी अकाउंट खोलने के लिए खाताधारकों को 10 हजार देता था. जबकि उनके बैंक की सभी डिटेल एटीएम वगैरह से अपने पास रख लेता था.ताकि ठगी की रकम को खुद ही निकाल सके. जिन खाताधारकों के नाम से बैंक में फ़र्जी अकाउंट खुला जाते थे वह अधिकांश रिक्शा चालक,ट्रक चालक और छोटे-मोटे काम करने वाले जैसे लोग होते थे.वही अधिकांश बैंक अकाउंट दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में स्थित प्राइवेट बैंक में खुलवाए गए हैं. एसटीएफ अब  संबंधित इंश्योरेंस कंपनियों और बैंक वालों से भी जांच पड़ताल कर आगे की कार्रवाई में जुटी हैं..

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड की SDRF फ़ोर्स प्लाज्मा डोनेट कर कोरोना मरीज़ों को संजीवनी देने में जुटी

अपराधिक इतिहास

STF जांच अनुसार गिरफ्तार साइबर गैंग मास्टरमाइंड अजीत कुमार को अंबाला कैंट द्वारा पुलिस 5 करोड़ के इंश्योरेंस ठगी गिरफ्तार किया था. अगले माह अभियुक्त की अंबाला कोर्ट में पेशी भी है. STF के मुताबिक प्रारंभिक विश्लेषण में पाया गया कि इस गिरोह ने पूरे देश में विभिन्न राज्यों में साइबर इंश्योरेंस के नाम पर ठगी की है. जिसके क्रम में हैदराबाद पुलिस को भी इस गिरोह की तलाश है. इस गिरोह द्वारा तेलंगाना,उत्तर प्रदेश, बिहार ,गुजरात और उत्तराखंड आदि अन्य राज्य में ठगी के प्रारंभिक प्रमाण भी मिले हैं.ऐसे में उत्तराखंड एसटीएफ साइबर क्राइम मास्टर माइंड अजीत कुमार के खिलाफ जल्द ही अन्य राज्यों की पुलिस को भी रिपोर्ट प्रेषित करेगी. ताकि अन्य राज्यों की पुलिस भी अभियुक्त को वारंट पर अपने-अपने राज्यों की कोर्ट में पेश कर आगे की प्रभावी कार्यवाही कर सके.

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग्: कल उत्तराखंड दौरे पर होंगे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, इस जिले में तय है कार्यक्रम. *जानिए कितने बजे पहुँचेगे शाह..*

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें