किलेबंद FRI में फिर से चंदन चोरी, पुलिस जांच में जुटी..

देहरादून में विश्व विख्यात “इंडियन फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट ” 

 FRI में फिर से एक बार कोई चंदन चोर दाखिल हो गया है..  चंदन चोर की नजर FRI में खड़े बेशकीमती लाल चंदन के पेड़ों पर है. एक सप्ताह पहले FRI की मुख्य ऐतिहासिक बिल्डिंग के पास से लगभग ढाई फीट मोटे चंदन के कई पेड़ काटकर चोरी कर लिए गए.हैरानी की बात यह है कि देशभर में पेड़ों की प्रजातियों को बचाने के लिए रिसर्च करने वाला किलेबंद FRI संस्थान ही अपने चंदन वृक्षों को सुरक्षित नहीं कर पा रही हैं.  मामले की गंभीरता को देखते हुए वन विभाग की शिकायत के आधार पर कैंट थाने में मुकदमा दर्ज कर पुलिस जांच पड़ताल में जुटी है.हालांकि अभी तक के प्रारंभिक इन्वेस्टिगेशन के अनुसार वन विभाग और पुलिस को  f.r.i. कैम्पस के अंदर ही किसी कर्मचारी पर शक है, जिसकी मिलीभगत से लंबे समय से यहां चंदन के पेड़ों की चोरी होती है.

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड की वरिष्ठ PCS अधिकारी पर NRI बुजुर्ग महिला से 55 लाख हड़पने आरोप !..शिकायत के आधार पर पुलिस मुख्यालय ने एसपी ट्रेफ़िक को जांच सौंपी..

चंदन चोरी के मामलें पहले भी आये

ऐसा नहीं है कि यह FRI में चंदन के पेड़ों को काट कर तस्करी के यह मामला हो, इससे पहले यहाँ ऐसी घटनाएं सामने आ चुकी हैं. लेकिन इसके बावजूद हैरानी की बात है कि जिस f.r.i. कैंपस के अंदर उनकी इजाजत के बिना परिंदा भी पर नहीं मार सकता, वहां कौन बार बार चंदन के पेड़ों को काट तस्करी कर रहा है. यह अपने आप में हैरान करने का विषय है.

कैंपस से ही किसी की मिलीभगत की आशंका :पुलिस

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग्: यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड नागरिकों की सुरक्षा के लिए, प्रदेश सरकार ने निर्देश किये जारी..

कैंट पुलिस की प्रारंभिक जांच पड़ताल में यह बात सामने आयी हैं कि बार-बार f.r.i. में चंदन के पेड़ों को काट तस्करी करने का यह दुस्साहस बिना किसी के मिलीभगत के बिना नहीं हो सकता.पुलिस अनुसार अभी तक की इन्वेस्टिगेशन में यही प्रतीत हो रहा है कि f.r.i. के अंदर का ही कोई चंदन के पेड़ों को तस्करी करने वालों से साठगांठ कर चंदन चोरी की घटना को अंजाम दे रहा है..

सीसीटीवी से लैस किलेबंदी वाले कैम्पस में घुसपैठ करना आसान नहीं 

देहरादून एसएसपी दलीप सिंह कुँवर का साफ तौर पर मानना है कि  सीसीटीवी से लैस कैंपस के चारों तरफ किलेबंदी वाली दीवारें और सभी प्रवेश द्वारों पर  24 घँटे हाई सिक्योरिटी लगी है. वहां कैसे कोई बाहर का आदमी  घुसकर चंदन के पेड़ों को काट तस्करी कर सकता हैं. देश का महत्वपूर्ण संस्थान होने के कारण यहाँ चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरा लगा है. लेकिन  घटना स्थल पर सीसीटीवी कैमरा नजर नहीं आ रहा है. जबकि इससे पूर्व में भी कैंपस के अंदर से चंदन के बेशकीमती  पेड़ों को काटकर चोरी के मामले आ चुके हैं.एसएसपी का भी साफ तौर पर मानना है कि कैंपस के अंदर का ही कोई ऐसा आदमी है जिसकी मिलीभगत से चंदन चोरी की घटना कारित प्रतीत नजर आती हैं. हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है. कैंट पुलिस शक के आधार पर ही अंदर के कुछ लोगों से पूछताछ की हैं,जल्द ही इसका खुलासा होगा.

यह भी पढ़ें 👉  कोरोना संक्रमण को लेकर सरकार हुई सख्त , नई SOP जारी. स्कूल बंद, रैलियों पर भी रोक. *और भी बहुत कुछ पढ़िये आदेश..*

बाइट:दलीप सिंह कुँवर,एसएसपी, देहरादून

खबर सनसनी डेस्क

उत्तराखण्ड की ताज़ा खबरों के लिए जुड़े रहिए खबर सनसनी के संग। www.khabarsansani.com

सम्बंधित खबरें